हीरो मोटोकार्प की मेक्सिको, अर्जेंटीना, ब्राजील में कारखाना लगाने की योजना

0

पीटीआई


तस्वीर साभार-हीरो मोटोकार्प
तस्वीर साभार-हीरो मोटोकार्प

भारतीय दुपहिया वाहन विनिर्माता कंपनी हीरो मोटोकार्प वैश्विक बाजार में विस्तार के लिए मेक्सिको, अर्जेंटीना और ब्राजील में भी विनिर्माण संयंत्र स्थापित करने की योजना बना रही है। कंपनी को उम्मीद है कि लातीनी अमेरिकी देश कोलंबिया में कंपनी का नया संयंत्र, पड़ोसी देशों के लिए निर्यात का केंद्र बनेगा।

पवन मुंजाल, अध्यक्ष, प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी
पवन मुंजाल, अध्यक्ष, प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी

हीरो मोटोकार्प के अध्यक्ष, प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी पवन मुंजाल ने पीटीआई भाषा से कहा ‘‘आने वाले दिनों में मेक्सिको, अर्जेंटीना और ब्राजील जैसे देशों में हम विनिर्माण संयंत्र स्थापित करने पर विचार रहे हैं।’’ हीरो मोटोकार्प की देश से बाहर पहली विनिर्माण इकाई कोलंबिया के विला रिका में है जिसका परिचलन इस सप्ताह शुरू हुआ। इस परियोजना की कुल लागत सात करोड़ डालर है।

नयी दिल्ली मुख्यालय वाली कंपनी भारत की पहली दोपहिया वाहन विनिर्माता है जिसने लैटिन अमेरिका में विनिर्माण इकाई स्थापित की है।

यह पूछने पर कि क्या कंपनी विदेश में, विशेष तौर पर अमेरिका और यूरोप में और भी निवेश पर विचार कर रही है, तो मुंजाल ने कहा ‘‘फिलहाल यूूरोप और अमेरिका में विनिर्माण की कोई योजना नहीं है लेकिन हम अफ्रीका पर विचार कर सकते हैं जहां नाइजीरिया एक संभावना है।’’ नाइजीरिया अफ्रीकी महाद्वीप में दोपहिया वाहनों का दूसरा सबसे बड़ा बाजार है।

कोलंबिया संयंत्र में के संबंध में उन्होंने कहा ‘‘ यह संयंत्र हमारे प्रवेश-स्तरीय उत्पादों से लेकर - करिज्मा तक से शुरआत कर रहा है जो हमारा सबसे बड़ा ईंजन है। इसलिए यहां हमारे प्रवेश स्तरीय वाहन से लेकर सबसे उच्च स्तर का उत्पाद सब कुछ शामिल है।’’ कंपनी ने वैश्विक बाजार में 2020 तक 12 लाख दोपहिया वाहनों की बिक्री का लक्ष्य रखा है। साथ ही हीरो ने उस वक्त तक 50 देशों में मौजूदगी का लक्ष्य रखा है।

यह पूछने पर कि क्या एरिक ब्यूएल रेसिंग :ईबीआर: के दिवालिया होने का कोई असर होगा, मुंजाल ने कहा ‘‘हम अपने 2020 तक के लक्ष्य को नहीं बदल रहे।’’ उन्होंने कहा कि कंपनी जो उत्पाद वह ईबीआर के साथ बना रही थी उसको वह अब खुद भारत में पूरा करेगी।

हीरो मोटोकार्प श्रीलंका, नेपाल, बांग्लदेश, मिस्र, तुर्की, पेरू, इक्वेडोर और कोलंबिया समेत 24 देशों में अपने उत्पाद बेचती है।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...