मशहूर महिला उद्यमी कल्पना सरोज भी रही हैं छुआछूत, घरेलु हिंसा और शोषण का शिकार

वीडियो में जानें मशहूर महिला उद्यमी कल्पना सरोज से, कि उनकी भी ज़िंदगी में हालात इतने बुरे रहे कि कल्पना सरोज ने कर डाली ख़ुदकुशी की कोशिश...

2

'पद्मश्री' कल्पना सरोज की कहानी में कई उतार-चढ़ाव हैं, संघर्ष है, निराशा और मायूसी है, नाकामियाँ भी हैं, लेकिन इन सब के बाद नायाब कामयाबी है। कल्पना सरोज की कहानी यानी गोबर के उपले बेचने वाली एक दलित लड़की के आगे चलकर मशहूर करोड़पति कारोबारी बनने की अनोखी दास्ताँ है।

एक गरीब और कमज़ोर महिला जिसके पास मुंबई में रहने के लिए मकान नहीं था उसी महिला के बिल्डर बनने और मायानगरी मुंबई में लोगों के लिए मकान बनाकर बेचने वाली अमीर और ताकतवर महिला बनने की भी ये कहानी है। ये कहानी ग्रामीण परिवेश से आने वाली एक ऐसी दलित महिला की है जिसके खानदान में किसी ने कारोबार नहीं किया, लेकिन इस महिला ने देश के मशहूर उद्योगपति रामजी हंसराज कमानी की एक कंपनी को न सिर्फ करोड़ों रुपयों के घाटे से उबारा बल्कि उसे मुनाफनुमा बनाकर उसकी मालकिन भी बनीं।

वीडियो देखना बिल्कुल न भूलें...

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...