ट्रंप ने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा

ट्रंप : "मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ काम करने का इंतजार कर रहा हूं। वह अर्थव्यवस्था और नौकरशाही को सुधारने में बेहद उर्जावान रहे हैं। शानदार व्यक्ति। मैं उनकी सराहना करता हूं।"

0

भारत को एक ‘‘अहम रणनीतिक सहयोगी’’ बताते हुए राष्ट्रपति पद के रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप ने वादा किया है कि यदि वह सत्ता में आते हैं तो भारत और अमेरिका ‘‘पक्के दोस्त’’ बन जाएंगे और उनका एक साथ ‘‘अभूतपूर्व भविष्य’’ होगा।

ट्रंप ने रिपब्लिकन हिंदू कोएलिशन द्वारा आयोजित एक चैरिटी समारोह में भारतीय-अमेरिकियों को अपने संबोधन में कहा, ‘‘भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है और अमेरिका का सहयोगी है। ट्रंप प्रशासन के तहत हम और भी बेहतर मित्र बनने जा रहे हैं। असल में हम रिश्ते को बेहतर बनाएंगे और हम पक्के दोस्त होंगे।’’ 

ट्रंप : "हम मुक्त व्यापार के पक्षधर हैं। दूसरे देशों के साथ हमारे अच्छे व्यापारिक सौदे होंगे। हम भारत के साथ बहुत व्यापार करेंगे। हमारा एक साथ एक अभूतपूर्व भविष्य होने वाला है।"

ट्रंप ने आर्थिक सुधारों और नौकरशाही में सुधारों के साथ भारत को तेज विकास के मार्ग पर ले जाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा की और कहा कि ऐसा अमेरिका में भी जरूरी है। ट्रंप ने कहा, ‘‘मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ काम करने का इंतजार कर रहा हूं। वह अर्थव्यवस्था और नौकरशाही को सुधारने में बेहद उर्जावान रहे हैं। शानदार व्यक्ति। मैं उनकी सराहना करता हूं।’’ यह पहली बार था जब ट्रंप ने इस चुनावी मौसम में भारतीय-अमेरिकियों के समारोह में शिरकत की।

कश्मीरी पंडितों और आतंकवाद से पीड़ित बांग्लादेशी हिंदुओं द्वारा आयोजित समारोह में ट्रंप ने कहा, ‘‘मैं हिंदू और भारत का एक बड़ा प्रशंसक हूं। यदि मैं चुना जाता हूं तो भारतीय और हिंदू समुदाय को व्हाइट हाउस में एक सच्चा दोस्त मिल जाएगा।’’ ट्रंप ने कहा कि भारत में उन्हें यकीन हैं। उन्होंने भारत और उसकी जनता को अदभुत बताते हुए कहा कि मैं 19 माह पहले भारत गया था और कई बार वहां जाना चाहता हूं। जैसे ही ट्रंप मंच पर आए पारंपरिक भारतीय लिबासों में आए लोगों ने तालियों की गड़गड़ाहट से उनकी अभिवादन किया। मंच की पृष्ठभूमि अमेरिकी झंडे की थी। ट्रंप के साथ कुमार और उनके पुत्र मंच पर आए। ट्रंप ने अपने भाषण से पहले पारंपरिक भारतीय दीप प्रज्ज्वलित किया।

मंच की तरफ बढ़ते हुए ट्रंप ने भी भीड़ का अभिवादन किया। उन्होंने हाथ हिलाए और तालियां बजाईं। मंच से जाने से पहले उन्होंने कहा, ‘‘हम हिंदुओं से प्यार करते हैं, हम भारत से प्यार करते हैं।’’ कार्यक्रम में शामिल होने आए लोग अपनी कुर्सियों से उठ खड़े हुए और मंच क्षेत्र की तरफ भीड़ लगा दी। वह ट्रंप को करीब से देखना चाहते थे और उनकी तस्वीर लेना चाहते थे।

ट्रंप ने तकरीबन 13 मिनट तक भाषण दिया। इस दौरान उन्होंने भारत और अमेरिका को ‘‘बेहतरीन दोस्त’’ बनाने की कसम खाई। जब तक ट्रंप बोलते रहे लोग लगातार तालियां बजाते रहे।

एक वीडियो संदेश में सीनेटर न्यूट गिंगरिच ने कुमार को एक ‘‘अच्छा दोस्त’’ बताया जिन्होंने भारत और अमेरिका के ‘‘बेहतरीन हितों’’ के लिए काम किया है। उन्होंने ‘रिपब्लिकन हिंदू कोअलिशन’ को अमेरिका के भविष्य के लिए अहम बताया।

ट्रंप ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत की भूमिका की सराहना की।

ट्रंप ने ‘इस्लामी आतंकवाद’ शब्द का इस्तेमाल न करने को लेकर अपनी प्रतिद्वंद्वी हिलेरी क्लिंटन की आलोचना की। 

ट्रंप : ‘‘हम इस बात की सराहना करते हैं कि हमारा अच्छा दोस्त भारत चरमपंथी इस्लामी आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अमेरिका के साथ रहा है। भारत ने आतंकवाद की निर्ममता को प्रत्यक्ष रूप से झेला है। इसमें मुंबई में मचा उत्पात भी शामिल है। वह एक ऐसी जगह है, जिसे मैं प्यार करता हूं और मैं समझता हूं।"

क्या सोचती हैं मिशेल : अपमानजनक हैं ट्रंप की टिप्पणियां

‘रिपब्लिकन हिंदू कोअलिशन’ के कार्यक्रम में पांच हजार लोगों ने ट्रंप की वाहवाही की।

आतंकवाद से लड़ने और अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के राष्ट्रपति पद के रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप के संकल्प की हिमायत करने यहां एक धर्मार्थ कार्यक्रम में ट्रंप और बालीवुड की हस्तियों के साथ पांच हजार से ज्यादा भारतीय मूल के अमेरिकी शामिल हुए। न्यू जर्सी कन्वेंशन ऐंड एक्सपो सेंटर में ‘रिपब्लिकन हिंदू कोअलिशन’ के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में ट्रंप 13 मिनट रहे। उनके आगमन से लोगों ने पहले बालीवुड संगीत का लुत्फ लिया और कलाकारों ने अपने जलवे दिखाए।

‘एवीजी ग्रुप ऑफ कंपनीज’ के अध्यक्ष एवं सीईओ शलभ कुमार की ओर से स्थापित ‘रिपब्लिकन हिंदू कोअलिशन’ की अध्यक्षता में आयोजित करीब पांच घंटे के इस कार्यक्रम में वृद्ध और बच्चे समेत पांच हजार से ज्यादा लोग शामिल हुए।

‘आतंकवाद के खिलाफ मानवता’ पर आधारित इस कार्यक्रम में प्रभु देवा, श्रेया शरण और सोफी चौधरी ने अपने जलवे दिखाए। कार्यक्रम का आरंभ अभिनेता अनुपम खेर के एक वीडियो से हुआ जिसमें उन्होंने अपनी जन्मभूति से भागने के लिए बाध्य कश्मीरी पंडितों की दुर्दशा बयान की है। कार्यक्रम का आयोजन आतंकवाद का निशाना बने कश्मीरी पंडितों और बांग्लादेशी हिंदुओं पर विशेष फोकस के साथ किया गया था। कार्यक्रम की शुरूआत में कुछ ट्रंप विरोधी कार्यक्रम स्थल के बाहर जमा हुए थे। उन्होंने 70 वर्षीय अरबपति ट्रंप के खिलाफ बैनर ले रखा था।

भारतीय और भारतीय मूल के अमेरिकी ट्रंप के प्रति समर्पण जताने बड़ी संख्या में लोग आए थे। उनके पास तख्तियां थीं जिनपर ‘ट्रंप अमेरिका को फिर महान बनाएंगे’, ‘हिंदू अमेरिकियों के लिए ट्रंप’, ‘भारत के लिए ट्रंप महान’ और ‘‘ज्यादा द्रूत ग्रीन कार्ड के लिए ट्रंप’ के नारे लिखे थे।

यह भी पढ़ें : राष्ट्रपति उम्मीदवार की बहस में टूटे टीवी के सारे रिकॉर्ड