साहसी तथा महत्वाकांक्षी बनने उद्यमियों को नडेला की सलाह

हजारों ख्वाहिशें ऐसी की हर ख्वाहिश पर दम निकले, बहुत निकले मेरे अरमान, लेकिन फिर भी कम निकले।’’

0

माइक्रोसाफ्ट के मुख्य कार्यपालक अधिकारी सत्या नाडेला ने भारतीय उद्यमियों को साहसी बनने को कहा तथा उनके उद्यमों के लिये अमेरिका की प्रौद्योगिकी कंपनी के प्लेटफार्म की पेशकश की। उन्होंने इस मौके पर मिर्जा गालिब की चर्चित पंक्ति का भी जिक्र किया।

माइक्रोसाफ्ट का कार्यभार संभालने के बाद तीसरी बार भारत आए नाडेला ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद से मुलाकात की।

गालिब की चर्चित पंक्तियों को जिक्र करते हुए नडेला ने कहा,

 ‘‘हजारों ख्वाहिशें ऐसी की हर ख्वाहिश पर दम निकले, बहुत निकले मेरे अरमान, लेकिन फिर भी कम निकले।’’

 कार्यक्रम में मौजूद युवाओं को प्रोत्सोहित करते हुए उन्होंने उन्हें साहसी तथा महत्वाकांक्षी बनने को कहा।

नाडेला ने कहा कि माइक्रोसाफ्ट का मिशन इस दुनिया में हर व्यक्ति एवं संगठन को सशक्त बनाना है ताकि वह और अधिक हासिल कर सके।

मोदी के साथ बैठक में नाडेला ने आईटी क्षेत्र से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। इससे पहले, दिन में उन्होंने मंत्री प्रसाद से मुलाकात की और इस बात पर चर्चा की कि सरकार के डिजिटल इंडिया अभियान में माइक्रोसाफ्ट किस प्रकार योगदान कर सकती है।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...