उसेन बोल्ट ने 200 मीटर में स्वर्ण पदकों की हैट्रिक बनाई

बोल्ट ने कहा ,‘‘ मैं दुनिया को बता चुका हूं कि मैं महानतम हूं । मैं इसीलिये यहां आया था । यही वजह है कि यह मेरा आखिरी ओलंपिक है । अब मेरे पास साबित करने के लिये कुछ नहीं है ।’’ 

0

उसेन बोल्ट ने ओलंपिक के इतिहास में एक और नया अध्याय जोड़ते हुए 200 मीटर में लगातार तीसरा स्वर्ण पदक जीत लिया जबकि डेकाथलन में अमेरिका ने बाजी मारी । सौ मीटर में लगातार तीन खिताब जीतने वाले पहले एथलीट बनने के कुछ दिन बाद ही बोल्ट ने 200 मीटर में 19 . 78 सेकंड का समय निकालकर बाजी मारी ।

कनाडा के आंद्रे ग्रासे ने 20 . 02 सेकंड के साथ रजत और फ्रांस के क्रिस्टोफ लेमेत्रे ने कांस्य पदक जीता। अब बोल्ट तीन खिताबों की तिकड़ी से सिर्फ एक जीत दूर हैं । उन्होंने बीजिंग और लंदन में 100 मीटर, 200 मीटर और चार गुणा 100 मीटर का भी स्वर्ण पदक जीता था।

बोल्ट ने कहा ,‘‘ मैं दुनिया को बता चुका हूं कि मैं महानतम हूं । मैं इसीलिये यहां आया था । यही वजह है कि यह मेरा आखिरी ओलंपिक है । अब मेरे पास साबित करने के लिये कुछ नहीं है ।’’ अब वह चार गुणा 100 मीटर रिले में भाग लेंगे । इससे पहले अमेरिका ने डेकाथलन , पुरूषों और महिलाओं की 400 मीटर बाधा दौड़ और शाटपुट में स्वर्ण पदक जीते ।

एश्टोन ईटोन ने फ्रांस के केविन मायेर को हराकर 10 स्पर्धाओं का खेल जीता । मायेर दूसरे और कनाडा के डेमियन वार्नेर तीसरे स्थान पर रहे । महिलाओं की 400 मीटर बाधा दौड़ में अमेरिका की डालिला मोहम्मद ने खिताब जीता जबकि डेनमार्क की सारा स्लाट दूसरे और अमेरिका की एशले स्पेंसर तीसरे स्थान पर रही ।- एएफपी

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...