सौर ऊर्जा परियोजनाओं के लिए सरकार ने मंजूर किए 5,050 करोड़ रुपये

0

सरकार ने जवाहर लाल नेहरू राष्ट्रीय सौर मिशन के तहत 5,000 मेगावाट की ग्रिड से जुड़ी सौर बिजली परियोजनाओं की स्थापना के लिए उन्हें व्यावहारिक बनाये रखने के वास्ते वित्तीय सहायता के रूप में 5,050 करोड़ रुपये की राशि मंजूर की है।

एक आधिकारिक बयान के अनुसार मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति :सीसीईए: ने 5,000 मेगावाट की ग्रिड से जुड़ी सौर पी वी बिजली परियोजनाओं को मंजूरी दी है। इन परियोजनाओं को बनाओ, अपनाओ और चलाओ :बीओटी: आधार पर मंजूरी दी गई है।

बैठक के बाद बिजली मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि सौर उर्जा कार्यक्रम को आगे बढ़ाने के लिए 5,000 मेगावाट क्षमता की स्थापना के लिए 5,050 करोड़ रुपये की सहायता प्रदान करने की योजना को मंजूरी दी गई है।

उन्होंने आगे बताया कि यह वित्तीय समर्थन परियोजनाओं पर उलट बोली के जरिये प्रदान किया जाएगा। जो भी इस तरह की सबसे कम वित्तपोषण की बोली लगायेगा वही जीतेगा। इस कोष का एक हिस्सा घरेलू मॉड्यूल्स के लिए होगा। इन कंपनियों को प्रति मेगावाट 1.25 करोड़ रुपये दिए जाएंगे। वहीं अंतररराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धी बोली के जरिये आने वालों को एक करोड़ रपये प्रति मेगावाट प्राप्त होंगे।

गोयल ने उम्मीद जताई कि वित्तीय सहायता की उलट बोली नीलामी से भविष्य में बिजली की दरों में कमी लाने में मदद मिलेगी। बयान के अनुसार इसे सोलर पावर डेवलपर्स द्वारा ‘वायबिलिटी गैप फंडिंग- वीजीएफ’ के साथ जेएनएनएसएम के चरण दो के बैच चार के तहत क्रियान्वित किया जाएगा। इस योजना के तहत कुल निवेश 30,000 करोड़ रुपये रहने की उम्मीद है।


पीटीआई

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...