पार्टनर की कमी को पूरा करने के लिए आ रहे हैं रोबोट

सेक्स के लिए पार्टनर की कमी को पूरा कर देंगे ये रोबोट!

0

एक रिपोर्ट के मुताबिक 2025 तक इंसानों की तरह दिखने वाले रोबोट्स के साथ सेक्स करना एक नई चीज होगी और यह नॉर्मल सेक्स से ज्यादा पॉप्युलर भी हो सकता है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक 'सेक्स टेक' का कारोबार 300 अरब डॉलर के करीब पहुंच चुका है। आने वाले समय में यह और बढ़ता चला जाएगा। इसी बिजनेस ऐंगल को देखते हुए कई वैज्ञानिक सेक्स करने वाले रोबोट बनाने में लगे हैं।

यह सच है, कि सेक्स हमेशा से सबसे ज्यादा आकर्षित करने वाला विषय रहा है। समाज में इसका आकर्षण हमेशा बना रहा है। आज से कई साल पहले पोर्नोग्राफिक साहित्य और पत्रिकाएं खूब प्रचलन में थीं। उसके बाद वीसीआर, सीडी और डीवीडी प्लेयर का जमाना आया, लेकिन इंटरनेट आने के बाद लोगों का चस्का एदकम से बदला और उन्हें पोर्न विडियो देखने की आदत हो गई। उसके बाद वीआर यानी वर्चुआल रियलिटी का जमाना आया, हालांकि इससे भी लोगों को तृप्ति महसूस नहीं होती और कई लोग यह सोचते हैं कि अगर सेक्स करने वाली कोई मशीन होती तो कुछ और ही बात होती। लोगों की इसी क्षुधा को शांत करने के लिए वैज्ञानिक अब ऐसे रोबोट विकसित करने में जुटे हुए हैं, जो इंसानों की तरह ही सेक्स कर सकें।

अभी थ्री डी प्रिंटिंग के सहारे सेक्स टॉय बन रहे हैं, लेकिन वह उतने कारगर नहीं होते और लोगों को नॉर्मल सेक्स जैसी फीलिंग नहीं मिल पाती। पोर्न का बिजनेस दिन-ब-दिन बढ़ता ही चला जा रहा है। एक रिपोर्ट के मुताबिक आज सेक्स टेक का कारोबार 300 अरब डॉलर के करीब पहुंच चुका है। आने वाले समय में यह और बढ़ता चला जाएगा। इसी बिजनेस ऐंगल को देखते हुए कई वैज्ञानिक सेक्स करने वाले रोबोट बनाने में लगे हैं।

हालांकि अभी कई सारे ऐसे रोबोट बन चुके हैं। हारमनी रोबोट ऐसा ही एक रोबोट है। जो अपनी गर्दन हिला सकता है, मुस्कुरा सकता है और अपने होंठ भी हिला सकता है। इस रोबोट की स्किन इंसानों की त्वचा जैसा फील देती है। इसे 14 अलग अलग पोजिशनों में कस्टमाइज भी किया जा सकता है। इसके जननांगों को भी अपने हिसाब से परिवर्तित किया जा सकता है। इसके साथ ही रोबोट के निप्पल भी अपने मन मुताबिक फिट किए जा सकते हैं। रोबोट रिसर्च कंपनी रियलबोटिक्स के प्रोजेक्ट क्रिएशन में ऐसे रोबोट विकसित किए जा रहे हैं, जो इंसानों जैसा हाव भाव दे सकें।

ये भी पढ़ें,
खूबसूरती दोबारा लौटा देती हैं डॉ.रुचिका मिश्रा

एक रिपोर्ट के मुताबिक 2025 तक इंसानों की तरह दिखने वाले रोबोट्स के साथ सेक्स करना एक नई चीज होगी और यह नॉर्मल सेक्स से ज्यादा पॉप्युलर भी हो सकता है। रिपोर्ट्स में यह भी कहा गया है कि कुछ वक्त पहले जब इंटरनेट नहीं था तो तमाम लोग पोर्न के बारे में जानते तक नहीं थे, लेकिन इंटरनेट की पहुंच होने के बाद वे इसका हिस्सा बन चुके हैं और अब वे नियमित रूप से इंटरनेट पर पोर्न देखते हैं। वैज्ञानिकों का अंदाजा है कि इसी तरह रोबोट के साथ सेक्स भी लोगों की दिनचर्या में शामिल हो जाएगा क्योंकि तकनीक रोबोट को मानव की तरह दिखने और अनुभव करने जैसा बना देगी।

रियलबोटिक्स प्रोजेक्ट के तहत कंपनी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस तकनीक के जरिए एक स्मार्ट सेक्स डॉल रोबोट विकसित कर रही है। हालांकि ये रोबोट काफी महंगे होंगे। एक सेक्स डॉल की कीमत 10 हजार डॉलर (6.5 लाख रुपए करीब) होगी। .यह कंपनी 1996 से अब तक वह 5,000 से ज्यादा रोबोट यानी सेक्स डॉल बेच चुकी है। इनकी कीमत 3 लाख से 6 लाख रुपये तक है। नए प्रोजेक्ट की बात करें, तो कंपनी अभी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) के जरिए रोबोट के सिर को ऐसा विकसित करने में लगी है है, जिससे वह पलकें झपका सके और मुंह से बोल भी सके।

लेकिन इस सबके विपरीत एक वैज्ञानिक का मानना है, कि हम चाहे जितनी कोशिश कर लें रोबोट कभी भी भावनाओं को महसूस नहीं कर सकते। क्योंकि इंसानों के मस्तिष्क के भीतर इतनी क्रियाएं होती हैं कि कोई भी कंप्यूटर उसे संभाल नहीं सकता। अगर वैज्ञानिक ऐसे रोबोट बनाने में सक्षम हुए तो यह उन लोगों के लिए एक वरदान साबित होगा, जो सेक्स के लिए पार्टनर की कमी महसूस करते रहते हैं। यह एक नामुमकिन-सा ख्वाब अगर सच हुआ, तो साइंस की दुनिया में मील का पत्थर साबित होगा।

ये भी पढ़ें,
लाखों की नौकरी और अपना देश छोड़ भारत में छोटे बच्चों को मुफ्त शिक्षा देने वाली जुलेहा

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...