चंद्रबाबू नायडू ने आंध्र प्रदेश में निवेश के लिए दवा कंपनियों को दिया न्यौता

नायडू ने कहा कि कई कंपनियां पहले ही यहां अपने कारखाने लगा चुकी हैं और कुछ और हैं जिन्होंने काफी रुचि दिखाई है। निवेशकों को राज्य सरकार और उसकी नीतियों में पूरा विश्वास है। 

0

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू ने विभिन्न फार्मास्युटिकल कंपनियों के प्रमुखों को आंध्र प्रदेश में अपनी इकाईयों लगाने का आह्वान करते हुये कहा है कि ऐसा करके वह राज्य की उद्योग अनुकूल नीतियों का लाभ उठा सकेंगे, जिसके अंतर्गत  उन्होंने दवा कंपनियों को राज्य में निवेश करने को कहा है। उन्होंने कहा कि राज्य में औषधि कंपनियों के उपयुक्त नीति तैयार की गई है।

नायडू ने आंध्रा यूनिवर्सिटी ग्राउंड में भारतीय औषधि कंपनियों के 68वें इंडियन फार्मास्युटिकल कांग्रेस (आईपीसी) के दूसरे दिन के सत्र को संबोधित करते हुए यह सब बातें कही हैं। इस कार्यक्रम में फार्मेसी क्षेत्र के पेशेवर, उद्योग प्रतिनिधि, अकादमिक, दवा प्रशासन से जुड़े लोग, नियामकीय संस्थायें, अस्पताल और सामुदायिक फार्मेसिस्ट सहित समूचे दवा उद्योग के प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं। यह सम्मेलन कल समाप्त होगा।

आंध्र प्रदेश विशेषतौर से विशाखपत्तनम स्वास्थ्य देखभाल उद्योग के लिये सबसे बेहतर स्थान है। राज्य सरकार ने इस उद्योग की कंपनियों के लिये उपयुक्त सुविधायें स्थापित कीं हैं : नायडू

उन्होंने कहा कि राज्य में अच्छी सड़कें, बंदरगाह, रेल और हवाई संपर्क का जाल बिछाया गया है। इसके साथ ही 24घंटे बिना कटौती की बिजली उपलब्ध कराई जा रही है। पानी और जमीन भी निवेशकों को उपलब्ध है।

चंद्रबाबू नायडु ने कहा है, कि कई कंपनियां पहले ही यहां अपने कारखाने लगा चुकी हैं और कुछ और हैं जिन्होंने काफी रुचि दिखाई है। निवेशकों को राज्य सरकार और उसकी नीतियों में पूरा विश्वास है। उन्होंने कहा, ‘मुझे आपका सहयोग और मदद चाहिये, कृपया राज्य में निवेश करें। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि सरकार आपकी सभी जरूरतें पूरी करेगी। आप अपना काम बिना किसी परेशानी के कर सकें इसके लिये राज्य सरकार आपको जमीन, पानी, बिजली और अन्य सभी सुविधायें उपलब्ध करायेगी।’

आंध्र प्रदेश का 900 किलोमीटर से अधिक लंबा समुद्री तट है जिसमें छह बंदरगाह चल रहे हैं। कुछ और बंदरगाह जल्द विकसित किये जायेंगे। विजीयनगरम जिले के भोगपुरम में ऐ अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा भी तैयार किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने इस दौरान फार्मा उद्योग के शीर्ष कार्यकारियों के साथ राजय में नई इकाइयां लगाने की संभावनाओं पर विचार विमर्श भी किया। नायडू ने कहा, कि कई कंपनियां पहले ही यहां अपने कारखाने लगा चुकी हैं और कुछ और हैं जिन्होंने काफी रुचि दिखाई है। निवेशकों को राज्य सरकार और उसकी नीतियों में पूरा विश्वास है।