तुर्की ग्रां प्री में भेजने के लिए अवतार के माता पिता को अपनी सावधि जमा तोड़नी पड़ी थी

भारतीय जूडो खिलाड़ी अवतार सिंह ने वादा किया है कि वह अगले महीने शुरू हो रहे रियो ओलंपिक में निराश नहीं करेंगे 

0

कोलकाता के  छह फुट साढे चार इंच लंबे भारतीय जूडो खिलाड़ी अवतार सिंह ने वादा किया है कि वह अगले महीने शुरू हो रहे रियो ओलंपिक में निराश नहीं करेंगे । यूनान, जार्जिया और स्लोवेनिया के अनुभवी जूडो खिलाड़ियों से खेल चुके सिंह ने कहा कि उन्हें चुनौतियों का सामना करने का यकीन है।

पंजाब के गुरदासपुर जिले के इस खिलाड़ी ने कहा ,‘‘ बड़े स्तर पर अनुभव मायने रखता है और मुझे चुनौतियों का सामना करने का यकीन है। मैं कोई कयास नहीं लगा सकता, लेकिन वादा करता हूं कि निराश नहीं करूंगा।’’ पंजाब पुलिस के इस जूडो खिलाड़ी का रियो के लिये क्वालीफाई करने तक का सफर भी काफी चुनौतीपूर्ण रहा । उसके माता पिता को अप्रैल में तुर्की ग्रां प्री में उसे भेजने के लिए अपनी सावधि जमा तोड़नी पड़ी।

सिंह 2015 से अब तक सिर्फ छह अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों में खेल सके ताकि रैंकिंग बेहतर करके दो एशियाई कोटा में से एक हासिल कर सके।

उन्होंने अभ्यास से इतर कहा ,‘‘ अब हालात बदल गए हैं और मुझे वित्तीय सहायता की जरूरत नहीं क्योंकि मुझे टीओपी योजना में शामिल कर लिया गया है ।’’ सिंह 2004 में अकरम शाह के बाद ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाले पहले भारतीय जूडो खिलाड़ी हैं।

उनके कोच यशपाल सोलंकी ने रियो रवानगी से पहले कहा ,‘‘ वह निर्भीक और जुझारू है । अपने वर्ग में वह सबसे लंबा खिलाड़ी है जिससे उसे फायदा मिलेगा । हमें उम्मीद है कि ड्रा अच्छा मिले ।’’ (पीटीआई)