जज्बे ने उम्र को दी मात, 60 साल में शुरू किया ‘Mulberry Lifestyle’

रांची से चल रहा है ‘Mulberry Lifestyle’नेहरू जैकेट बनाता है ‘Mulberry Lifestyle’‘Mulberry Lifestyle’ फिलहाल ऑनलाइन मौजूद

0

भारतीय क्रिकेट टीम के सदस्य कैप्टन कूल एमएस धोनी की गृहनगर रांची मेक इंडिया कार्यक्रम में शामिल होने वाला नवीनत शहर में एक है। इसकी वजह है कि यहां पर आकर्षक और उत्तम दर्जे की नेहरू जैकेट बनाये जाते हैं और उनको देश के कोने कोने में बेचा जाता है। इस उन्नतशील कारोबार के पीछ जिसका हाथ है वो है आरती पोद्दार। जिन्होने उद्यमी बनने का फैसला 60 साल की उम्र में किया।

आरती पोद्दार
आरती पोद्दार

आरती को इस उद्यम को शुरू करने का साहस अपने पिता से विरासत में मिला। उनका कहना है कि उनके पिता ने 72 साल की उम्र में स्टार्टअप शुरू किया था और वो उनसे काफी प्रभावित थी। यही वजह है कि वो भी उनकी तरह कुछ नया करना चाहती थी। आरती ‘Mulberry Lifestyle’ की मालिकन हैं। ये कंपनी रांची से काम रही है जो ना सिर्फ नेहरू जैकेट बनाने का काम करती है बल्कि अपने ब्रांड के तहत उसको बेचती भी है।

आरती को नेहरू जैकेट बनाने का ख्याल विभिन्न टीवी सीरियलों को देखकर आया। उनके कहना है कि जब भी हम टीवी के आगे बैठते हैं जो ज्यादातर कलाकार नेहरू जैकेट में ही दिखाई देते हैं। टीवी के इन्ही सीरियलों के देखकर आरती को ये काम बहुत ही आकर्षक लगा। ये एक पूर्णत: स्वदेशी उत्पाद है। उनका कहना है कि उनकी सोच सही थी तभी तो आज उनको देश भर से जैकेट बनाने के ऑर्डर मिल रहे हैं।

उद्यमी के तौर पर अपनी यात्रा के बारे में आरती का कहना है कि वो अलग हट कर कुछ काम करना चाहती थी जिसे कारोबार की शक्ल भी दी जा सके। आरती ने पटना महिला कॉलेज से इतिहास की पढ़ाई की थी जिसके बाद उनकी शादी रांची के एक कारोबारी के साथ हो गई। आरती की शादी संयुक्त परिवार में हुई थी, धीरे धीरे उन्होने अपने पति के स्टील फर्नीचर के कारोबार में मदद करना शुरू कर दिया। इस बीच उनका बेटा भी बड़ा हो गया था जिसने खाद्य प्रसंस्करण की यूनिट लगाने का फैसला लिया। बेटे के इस फैसले से आरती में भी कुछ करने की इच्छा एक बार फिर हिलोरे मारने लगी। आरती के मुताबिक दरअसर उनके बेटे ने ही उनको कुछ काम करने के लिए प्रेरित किया था और एक दिन रात के खाने के वक्त उन्होने परिवार वालों के सामने स्टार्ट अप शुरू करने की इच्छा जाहिर की। जिसको परिवार वालों ने खुशी खुशी मंजूर कर लिया। वास्तव में आज उनका छोटा बेटा ही उनकी मार्केटिंग का काम संभालता है।

आरती का कहना है कि उन्होने रांची में अपना कारोबार स्थापित करने के लिए बहुत ही कम समय लिया क्योंकि यहां पर इस तरह का पहले से कोई उद्यम भी नहीं था। उन्होने अपने इस उद्यम की शुरूआत पिछले साल सितंबर में की थी और ऑनलाइन बिक्री का काम उन्होने दिसबंर से शुरू किया। जिसके बाद उनको काफी अच्छी प्रतिक्रियाएं मिल रही हैं। आरती के उत्पादों की साख इतनी बढ़ चुकी है कि लोग एक दूसरे से जानकारी लेकर नेहरू जैकेट को खरीद रहे हैं।

आरती अपने उत्पाद के लिए ज्यादातर समान दिल्ली से लेती हैं। इसके अलावा वो उन बड़ी कंपनियों से सीधे कच्चा माल खरीदती हैं जो लेनिन और कपास के काम से जुड़ी हैं। जबकि सिल्क वो भागलपुर से मंगवाती हैं जो सिल्क के उत्पादन के लिए काफी प्रसिद्ध है। ‘Mulberry Lifestyle’ में कई सारे कारीगर काम करते हैं और फिलहाल उनका ये उत्पाद ऑनलाइन ही ब्रिकी के लिए उपलब्ध है। आरती अब अपने काम के विस्तार के लिए कुछ रिटेल स्टोर को ढूंढ रही हैं। इसके अलावा वो महिलाओं और बच्चों के लिए नेहरू जैकेट लाने के रास्ते तलाश रही हैं। फिलहाल उनका ध्यान आदमियों के लिए नेहरू जैकेट बनाने पर ही है।

आरती के लिये गर्व का समय तब आया जब मुख्यमंत्री कार्यालय से उनको फोन आया कि पांच घंटे बाद होने वाले शपथ ग्रहण समारोह के लिए उनको नेहरू जैकेट की जरूरत है। हालांकि ये काफी चुनौतीपूर्ण काम था लेकिन जब उन्होने मुख्यमंत्री को उनकी बनाई जैकेट पहने हुए शपथ लेते हुए देखा तो वो दिन उनके लिए काफी गर्व वाला का दिन था। इतना ही नहीं आरती का कहना है कि उनके परिवार वालों को भी इस शपथ ग्रहण को देखने के लिए बुलाया गया था। आरती ने मुख्यमंत्री के लिए लाल रंग की जैकेट को पसंद किया जो ना सिर्फ आकर्षक है बल्कि सकारात्मक भी है। आरती को अपने इस काम में परिवार का पूरा साथ मिला है। उनके पति जो खुद एक कारोबारी हैं जरूरत पड़ने पर वो उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहते हैं। पति के अलावा उनके दोनों बेटे भी उनके इस काम में काफी मदद करते हैं। उनका बड़ा बेटा दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट में वकिल है जबकि उनके छोटे बेटे ने रांची में ही खाद्य प्रसंस्करण यूनिट को स्थापित किया है। आरती का कहना है कि अपने उत्पाद में डिजाइन का खास ख्याल रखती हैं और जब भी वो बड़े मैट्रो शहरों में जाती हैं तो कपड़ों के विभिन्न शोरूम में जरूर जाती है ताकि लोगों की पसंद और नापसंद का पता चल सके। आरती का बस अब एक ही सपना है कि ‘Mulberry Lifestyle’ का नाम पूरे देश में छा जाए। उनका कहना है कि जब भी कोई नेहरू जैकेट के बारे में सोचे तो उसके दिमाग में सबसे पहले ‘Mulberry Lifestyle’ का ही विचार आये।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...