ऐग्रीटेकः इस साल इन स्टार्टअप्स पर रहेगी सबकी नज़र

2018 के बड़े एग्रीस्टार्टअप्स...

2

भारत में किसानों के ख़स्ता हालात और गांव के वजूद के लिए ख़तरा बनता विस्तारीकरण, इन दोनों ही कारकों पर विचार की आवश्यकता है। हमें शुक्रिया करना चाहिए उन ऑन्त्रप्रन्योर्स का (ख़ासतौर पर युवा), जो ऐग्रीटेक के क्षेत्र में नए आयाम जोड़ते हुए, भारत में कृषि की संपन्न संभावनाओं के डूबते जहाज़ को बचाने के लिए उम्दा काम कर रहे हैं।

जनगणना के आंकड़ों के मुताबिक़, 2001 से 2013 के बीच किसानों की संख्या में 90 लाख की कमी आई। ग्रामीण भारत की जीडीपी में कृषि क्षेत्र का योगदान अब सिर्फ़ एक चौथाई बचा है, जो आंकड़ा एक दशक पहले तक 50 प्रतिशत तक हुआ करता था।

भारत में किसानों के ख़स्ता हालात और गांव के वजूद के लिए ख़तरा बनता विस्तारीकरण, इन दोनों ही कारकों पर विचार की आवश्यकता है। हमें शुक्रिया करना चाहिए उन ऑन्त्रप्रन्योर्स का (ख़ासतौर पर युवा), जो ऐग्रीटेक के क्षेत्र में नए आयाम जोड़ते हुए, भारत में कृषि की संपन्न संभावनाओं के डूबते जहाज़ को बचाने के लिए उम्दा काम कर रहे हैं। पिछले एक दशक में इस सेक्टर में लगातार नए स्टार्टअप्स प्रभावी काम कर रहे हैं और गिनती अभी भी जारी है।

जनगणना के आंकड़ों के मुताबिक़, 2001 से 2013 के बीच किसानों की संख्या में 90 लाख की कमी आई। ग्रामीण भारत की जीडीपी में कृषि क्षेत्र का योगदान अब सिर्फ़ एक चौथाई बचा है, जो आंकड़ा एक दशक पहले तक 50 प्रतिशत तक हुआ करता था।

नए प्रयोग और तकनीक की ज़रूरत

जहां तक ऐग्रीटेक सेक्टर की बात है, तो स्टार्टअप कम्युनिटी का रुझान लगातार इस ओर बढ़ रहा है। लोग बड़ी-बड़ी कंपनियों की नौकरी छोड़कर नए तरीक़ों और सोच के साथ खेती से जुड़ रहे हैं और अच्छी आमदनी के साथ-साथ ईकोसिस्टम को भी बेहतर बना रहे हैं। 2017 में ऐग्रीटेक स्टार्टअप्स के 17 प्रोजेक्ट्स में 53 मिलियन डॉलर खर्च हुए। इस साल आंकड़ा इससे भी अधिक होने की संभावना है।

इनोवेशन को प्राथमिकता देते हुए, हम आपके सामने कुछ स्टार्टअप्स की लिस्ट रखने जा रहे हैं, जो इस साल बड़ी उपलब्धियों को अंजाम दे सकते हैं:

स्टार्टअप : ऐग्रिक्स लैब
शुरूआत : 2016
फ़ंडिंग मिली : फरवरी-2018
फ़ंडिंग राशि : 5 लाख डॉलर
राउंड : प्री-सीरीज़ ए
निवेशक : अंकुर कैपिटल, सेंटर फ़ॉर इनोवेशन. इनक्यूबेशन ऐंड ऑन्त्रप्रन्योरशिप (CIIE)
फ़ाउंडर्स : रितेश धूत, सौरभ कुमार
काम : ऐग्रीटेक स्टार्टअप
आधारित : मुंबई

स्टार्टअप : ऐग्रोस्टार
शुरूआत : 2008
फ़ंडिंग मिली : अगस्त-2016
फ़ंडिंग राशि : 40 लाख डॉलर
राउंड : सीरीज़ ए
निवेशक : आईडीजी वेंचर्स
फ़ंडिंग मिली : मार्च-2017
फ़ंडिंग राशि : 1 करोड़ डॉलर
राउंड : सीरीज़ बी
निवेशक : आविष्कार वेंचर मैनेजमेंट सर्विस, आईडीजी वेंचर्स, एसीसीईएल
फ़ाउंडर्स : सितांशु सेठ, खलिल शेख
काम : फ़ार्मर डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म
आधारित : Pune

स्टार्टअप : ऐग्रोवेव
शुरूआत : 2017
फ़ंडिंग मिली : अक्टूबर-2017
फ़ंडिंग राशि : अघोषित
राउंड : प्री-सीरीज़ ए
निवेशक : डैफ़ोडिल सॉफ़्टवेयर
फ़ाउंडर्स : अनु मीणा
काम : ताज़ा फ़सल के वितरण से जुड़ा स्टार्टअप
आधारित : गुड़गांव

स्टार्टअप : एयरवुड
शुरूआत : 2014
फ़ंडिंग मिली : मई-2016
फ़ंडिंग राशि : अघोषित
राउंड : प्री-सीरीज़ ए
निवेशक : स्टार्टअप एक्सीड वेंचर्स
फ़ाउंडर्स : विवेक राजकुमार
काम : ऐग्री डाटा ऐंड ऐनालिटिक्स प्लेटफ़ॉर्म
आधारित : चेन्नई

स्टार्टअप : आर्य कोलेट्रल
शुरूआत : 1982
फ़ंडिंग मिली : दिसंबर-2016
फ़ंडिंग राशि : अघोषित
राउंड : अन्य
निवेशक : ऐसपाडा
फ़ाउंडर्स : कृष्णा बी. कोटक
काम : कोलेट्रल वेयरहाउसिंग सर्विसेज़
आधारित : नोएडा

स्टार्टअप : बोहेको
शुरूआत : 2013
फ़ंडिंग मिली : दिसंबर-2017
फ़ंडिंग राशि : 10 लाख डॉलर
राउंड : प्री-सीरीज़ ए
निवेशक : रतन टाटा, राजन आनंदन, श्रीनिवास श्रीगेरी, एमए तेजानी, यश केला, निखिल वेलपनूर
फ़ाउंडर्स : संवर ओबेरॉय, यश कोटक, डेलज़ाद देओलालीवाला, अवनीश पांड्या, चिराग टेकचंदाने, जहान जेम्स, सुमित शाह
काम : कैनाबिस रिसर्च स्टार्टअप
आधारित : Mumbai

स्टार्टअप : क्रोफ़ॉर्म
शुरूआत : 2016
फ़ंडिंग मिली : अगस्त-2016
फ़ंडिंग राशि : 15 लाख डॉलर
राउंड : प्री-सीरीज़ ए
निवेशक : मुकुल सिंघल, रोहित जैन, हिमांशु अग्रवाल, आशीष गुप्ता, सुनील गोयल
फ़ंडिंग मिली : अगस्त-2017
फ़ंडिंग राशि : 7 लाख 83 हज़ार डॉलर
राउंड : प्री-सीरीज़ ए
निवेशक : लेट्स वेंचर, फ़ैक्टरन [ई] वेंचर्स, जितेन्द्र गुप्ता, राजन आनंदन
फ़ाउंडर्स : प्रशांत जैन, वरुण खुराना
काम : ऐग्रीकल्चरल सप्लाई चेन
आधारित : गुड़गांव

स्टार्टअप : डे बॉक्स
शुरूआत : 2016
फ़ंडिंग मिली : अगस्त-2016
फ़ंडिंग राशि : 1 लाख 4 हज़ार डॉलर
राउंड : प्री-सीरीज़ ए
निवेशक : आशुतोष लवानिया, राजुल जैन, बादल मलिक, ऋषि गुप्ता
फ़ाउंडर्स : अंकुश गोयल, रमन कुमार, आशीष बिबायन, प्रभात कुमार
काम : रोज़मर्रा में ताज़ा फलों और सब्जियों की आपूर्ति, तकनीक आधारित बी-टू-बी स्टार्टअप
आधारित : नई दिल्ली

स्टार्टअप : ईएम 3 ऐग्रीसर्विसेज़
शुरूआत : 2013
फ़ंडिंग मिली : अगस्त-2017
फ़ंडिंग राशि : 1 करोड़ डॉलर
राउंड : सीरीज़ बी
निवेशक : ग्लोबल इनोवेशन फ़ंड, सोरोस इकनॉमिक डिवेलपमेंट फ़ंड, ऐसपाडा
फ़ाउंडर्स : रोहताश मल, अद्वितीय मल
काम : ऐग्रीटेक स्टार्टअप
आधारित : नोएडा

स्टार्टअप : फ़ार्म ताज़ा
शुरूआत : 2015
फ़ंडिंग मिली : Oct-2017
फ़ंडिंग राशि : 80 लाख डॉलर
राउंड : सीरीज़ ए
निवेशक : एप्सिलॉन वेंचर पार्टनर्स, आईएल ऐंड एफ़एस इनवेस्टमेंट मैनेजर्स
फ़ाउंडर्स : कुमार रामचंद्रन
काम : बी-टू-बी ऐग्रीटेक स्टार्टअप
आधारित : बेंगलुरु

स्टार्टअप : फ़ारमार्ट
शुरूआत : 2015
फ़ंडिंग मिली : मार्च-2017
फ़ंडिंग राशि : अघोषित
राउंड : प्री-सीरीज़ ए
निवेशक : अंबरीश रघुवंशी
फ़ाउंडर्स : आलेख संघेरा, महताब सिंह हंस, लोकेश सिंह
काम : ऐग्रीटेक स्टार्टअप
आधारित : गुड़गांव

स्टार्टअप : फ़ार्मीज़ेन
शुरूआत : 2017
फ़ंडिंग मिली : सितंबर-2017
फ़ंडिंग राशि : पता नहीं
राउंड : प्री-सीरीज़ ए
निवेशक : वेंचर हाईवे, मोहित अग्रवाल, अनुज गुप्ता, आलोक मित्तल
फ़ाउंडर्स : शॉमिक चक्रवती, सुधाकरन बालसुब्रमण्यन, गीतांजली राजामनी
काम : ऑर्गेनिक फ़ार्मिंग प्लेटफ़ॉर्म

आधारित : बेंगलुरु

स्टार्टअप : फ़ार्म लिंक
शुरूआत : 2014
फ़ंडिंग मिली : नवंबर-2017
फ़ंडिंग राशि : 30 लाख डॉलर
राउंड : अन्य
निवेशक : पायनियरिंग वेंचर्स, सिनगेंटा
फ़ाउंडर्स : श्रीराम चेलप्पा
काम : ऐग्रीटेक स्टार्टअप
आधारित : मुंबई

स्टार्टअप : गोबास्को
शुरूआत : 2017
फ़ंडिंग मिली : नवंबर-2017
फ़ंडिंग राशि : अघोषित
राउंड : प्री-सीरीज़ ए
निवेशक : मैट्रिक्स पार्टनर्स इंडिया
फ़ाउंडर्स : अभिषेक शर्मा, वेदांत कटियार
काम : ऐग्रीटेक स्टार्टअप
आधारित : नई दिल्ली

स्टार्टअप : गोल्ड फ़ार्म
शुरूआत : 2013
फ़ंडिंग मिली : अक्टूबर-2017
फ़ंडिंग राशि : 20 लाख डॉलर
राउंड : प्री-सीरीज़ ए
निवेशक : महिंद्रा ऐंड महिंद्रा, इनफ़्यूज़ वेंचर्स
फ़ाउंडर्स : कार्तिक रवींद्रनाथ, अभिलाष तिरुपति
काम : फ़ार्म इक्विपमेंट ऐग्रीगेटर
आधारित : बेंगलुरु

स्टार्टअप : ग्रामोफोन
शुरूआत : 2016
फ़ंडिंग मिली : मार्च-2018
फ़ंडिंग राशि : 10 लाख डॉलर
राउंड : प्री-सीरीज़ ए
निवेशक : इन्फ़ो एज
फ़ाउंडर्स : निशांत वत्स, तौसीफ़ ख़ान, हर्षित गुप्ता
काम : ऐग्रीकल्चरल इनपुट्स स्टार्टअप
आधारित : इंदौर

स्टार्टअप : खेत इन नेक्स्ट
शुरूआत : 2015
फ़ंडिंग मिली : फरवरी-2018
फ़ंडिंग राशि : 50 लाख डॉलर
राउंड : अन्य
निवेशक : पता नहीं
फ़ाउंडर्स : पानीधर पलाकोटी
काम : ऐग्री टेक्नॉलजी प्लेटफ़ॉर्म
आधारित : हैदराबाद

स्टार्टअप : किसान हब
शुरूआत : 2012
फ़ंडिंग मिली : जनवरी-2018
फ़ंडिंग राशि : 24 लाख 30 हज़ार डॉलर
राउंड : प्री-सीरीज़ ए
निवेशक : नोशन कैपिटल, आईक्यू कैपिटल, कैबिब्रेट मैनेजमेंट
फ़ाउंडर्स : सचिन शिंदे, गाइल्स बार्कर
काम : ऐग्रीकल्चरल टेक्नॉलजी स्टार्टअप
आधारित : पुणे

स्टार्टअप : कृषि हब
शुरूआत : 2016
फ़ंडिंग मिली : नवंबर-2017
फ़ंडिंग राशि : अघोषित
राउंड : प्री-सीरीज़ ए
निवेशक : इनवेंट ऐक्सीलरेटर, विलग्रो इनोवेशन फ़ंड
फ़ाउंडर्स : भूपेंद्र कुमार, ज्योतिष्का ख़ासनबीश
काम : ऐग्रीटेक स्टार्टअप
आधारित : बेंगलुरु

स्टार्टअप : माइकलेन्स बायो
शुरूआत : 2016
फ़ंडिंग मिली : अक्टूबर-2017
फ़ंडिंग राशि : 50 लाख डॉलर
राउंड : अन्य
निवेशक : एएसएलई (ASLE) टेक्नॉलजी
फ़ाउंडर्स : संतोष नायर
काम : ऐग्री बायोटेक्नॉलजी स्टार्टअप
आधारित : मुंबई

स्टार्टअप : निंजाकार्ट
शुरूआत : 2015
फ़ंडिंग मिली : अप्रैल-2017
फ़ंडिंग राशि : 55 लाख डॉलर
राउंड : सीरीज़ बी
निवेशक : ऐसल पार्टनर्स, एनआरजेएन ट्रस्ट, एम ऐंड एस पार्टनर्स, क्वालकॉम वेंचर्स, मिसलटो
फ़ंडिंग मिली : फरवरी-2018
फ़ंडिंग राशि : 11 लाख डॉलर
राउंड : डेट फ़ाइनैंसिंग
निवेशक : ट्राईफ़ेक्टा वेंचर्स
फ़ाउंडर्स : आशुतोष विक्रम, कार्तीश्वरन केके, शरत लोगंथन, तिरुकुमारन नागराजन, वसुदेवन चिन्नाथाम्बी, सचिन जोज़
काम : बी-टू-बी ऐग्रीमार्केटिंग प्लेटफ़ॉर्म
आधारित : बेंगलुरु

स्टार्टअप : पालक डॉट इन
शुरूआत : 2016
फ़ंडिंग मिली : फरवरी-2017
फ़ंडिंग राशि : पता नहीं
राउंड : प्री-सीरीज़ ए
निवेशक : विश्वदीप बजाज, हर्ष कुंद्रा, नंदकुमार राणे, एलएन बुद्धाराजु, अनुपम त्यागी
फ़ाउंडर्स : स्वप्निल त्रिपाठी, विशाल सलगोत्र
काम : ऐग्रीटेक स्टार्टअप
आधारित : नोएडा

स्टार्टअप : आरएमएल ऐग टेक
शुरूआत : 2007
फ़ंडिंग मिली : जनवरी-2017
फ़ंडिंग राशि : 40 लाख डॉलर
राउंड : सीरीज़ बी
निवेशक : आईवी कैप वेंचर्स
फ़ाउंडर्स : राजीव तेवतिया
काम : ऐग्री-सपोर्ट सॉल्यूशन्स
आधारित : मुंबई

स्टार्टअप : उत्कल ट्यूबर्स
शुरूआत : 2016
फ़ंडिंग मिली : मई-2017
फ़ंडिंग राशि : 46 लाख डॉलर
राउंड : प्री-सीरीज़ ए
निवेशक : कैप ऐलेफ इंडियन मिलेनियम एसएमई फ़ंड, जेफायर पीकॉक इंडिया
फ़ाउंडर्स : मुकुल गुलाटी, जॉर्ज थॉमस
काम : ऐग्री स्टार्टअप
आधारित : बेंगलुरु

स्टार्टअप : विलफ़ार्म
शुरूआत : 2009
फ़ंडिंग मिली : सितंबर-2015
फ़ंडिंग राशि : पता नहीं
राउंड : प्री-सीरीज़ ए
निवेशक : यूनाइटस सीड फ़ंड, रियांटा कैपिटल, आर रामराज, सुनील एडवर्ड्स
फ़ाउंडर्स : मोहन वेंकटेश्वरन, सुंदराज महादेवन, जगदीश सुंकाड
आधारित : बेंगलुरु

ये भी पढ़ें: ट्रांसजेन्डर्स को प्रशिक्षित कर उन्हें रोजगार दे रहा है मुंबई का ये कैफे

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...

Related Stories

Stories by yourstory हिन्दी