ऑटोरिक्शा ड्राइवर की IIT करने वाली बेटी पर बनी फ्रेंच फिल्म ‘द बिग डे’ का प्रदर्शन

0

पीटीआई


सुपर 30 के संस्थापक और गणितज्ञ आनंद कुमार की देखरेख में आईआईटी करने वाली निधि झा पर बनी फिल्म LE GRAND JOUR यानी 'द बिग डे' का पेरिस में प्रदर्शन किया गया। निधि की कहानी एक ऑटोरिक्शा चलाने वाले की बेटी की अदभुत और खुद को दुनिया के सामने नए रूप में पेश करने की कहानी है। इसमें बड़ा श्रेय सुपर 30 के संस्थापक और गणितज्ञ आनंद कुमार को जाता है, जिन्होंने अपने घर में रखकर निधि को पढाया और इस लायक बनाया। फिल्म प्रदर्शन के बाद आनंद कुमार ने कहा कि शिक्षा में वंचित बच्चों के जीवन को बदलने की ताकत है और ये बच्चे मौके के अभाव की मार खा जाते हैं।

कुमार ने यहां शीर्ष फ्रांसीसी बिजनस स्कूल ‘ईएसएसईसी’ में फ्रांसीसी फिल्म ‘द बिग डे’ के प्रदर्शन के बाद अपने संबोधन में कई वंचित विद्यार्थियों की कहानी बयां की।

कुमार ने कहा, ‘‘यह सारा कुछ मौकों का अभाव ही है जिसकी वंचित वर्ग के बच्चे मार खा जाते हैं। जहां तक मेधा की बात है तो वे उतने ही योग्य हैं जितने कि दूसरे और मैंने सुपर 30 में 14 साल की यात्रा के दौरान यह देख चुका है कि छोटा सा अवसर भी उन्हें बदल सकता है। ’’ मशहूर फिल्मकार पास्कल पिलसन की यह फिल्म डेढ़ घंटे की है।

निधि ने पिछले ही साल आईआईटी जी की परीक्षा पास की और वह फिलहाल भारतीय खान विद्यालय धनबाद में पढ़ रही है।

आनंद कुमार ने कहा, ‘‘आज, वे सभी अच्छे स्थानों पर काम कर रहे हैं और अच्छी शिक्षा की योजना बना रहे हैं और इस सबकी एकमात्र वजह यह है कि उन्होंने अनुभव के माध्यम से शिक्षा का महत्व समझ लिया है।’’ वर्ष 2002 में सुपर 30 की स्थापना के बाद से उसके 200 से अधिक विद्यार्थियों ने आईआईटी की प्रवेश परीक्षाएं पास की है।