दस महीनों में सोना पहुंचा सबसे निचले स्तर पर

सोना के विपरीत औद्योगिक इकाइयों तथा सिक्का विनिर्माताओं का उठाव बढ़ने से चांदी 250 रुपये बढ़कर 41,850 रुपये प्रति किलोग्राम हुई।

0

कमजोर वैश्विक रख तथा घरेलू हाजिर बाजार में सर्राफा कारोबारियों की मांग में उल्लेखनीय गिरावट से सोना 130 रुपये टूटकर 10 महीने के सबसे निचले स्तर 28,580 रुपये प्रति दस ग्राम रह गया और औद्योगिक इकाइयों तथा सिक्का विनिर्माताओं का उठाव बढ़ने से चांदी 250 रुपये बढ़कर 41,850 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई।

कारोबारियों ने कहा कि कमजोर वैश्विक रख के बीच डॉलर में मजबूती से सुरक्षित विकल्प के रूप में इस पीली धातु की चमक घटी है।

साथ ही नकदी संकट की वजह से आभूषण कारोबारियों की मांग घटने से भी सोने का भाव नीचे आया है। वैश्विक स्तर पर सोना 0.15 प्रतिशत टूटकर 1,168.60 डॉलर प्रति औंस रह गया है। सरकार ने गत आठ नवंबर को 500 और 1,000 रुपये के पुराने नोटों को बंद करने की घोषणा की थी जिसके बाद बाजार में नकदी का संकट बना हुआ है। राष्ट्रीय राजधानी में 99.9 और 99.5 प्रतिशत शुद्धता के सोने का दाम 130-130 रुपये की गिरावट के साथ क्रमश: 28,580 रुपये तथा 28,430 रुपये प्रति दस ग्राम रह गया। इससे पहले 9 फरवरी को सोना 28,585 रुपये प्रति दस ग्राम के भाव पर बिका था।

हालांकि, गिन्नी का भाव पिछले बंद स्तर 24,200 रुपये प्रति आठ ग्राम पर टिका रहा। वहीं दूसरी ओर चांदी हाजिर 250 रुपये चढ़कर 41,850 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई है। हालांकि, साप्ताहिक डिलिवरी भाव 320 रुपये टूटकर 41,460 रुपये प्रति किलोग्राम रह गया है। साथ ही चांदी सिक्का लिवाल 73,000 रुपये प्रति सैंकड़ा तथा बिकवाल 74,000 प्रति सैंकड़ा पर कायम रहा।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...