‘MavenChic', ऑनलाइन मेकओवर कर महिलाओं में बढ़ा रहा है आत्मविश्वास...

‘MavenChic’ की सह-संस्थापक हैं प्रिया वाघदेश में पहला डिजिटल इमेज मेकओवर स्टार्टअपदेश भर में ‘MavenChic’ के 30 सलाहकार

0

प्रिया वाघ, निदेशक और सह-संस्थापक हैं ‘MavenChic’ की। क्या आप विश्वास करेंगे कि उनकी पृष्ठभूमि इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग और प्रबंधन की है लेकिन वो फैशन की ना सिर्फ बारीकी से जानकारी रखती हैं बल्कि वो देश में पहला डिजिटल इमेज मेकओवर स्टार्टअप लाने वाली महिला भी हैं। ‘MavenChic’ एक ऐसी जगह है जहां पर कोई भी महिला, भले ही वो किसी भी क्षेत्र से क्यों ना हो, यहां आकर अपनी इमेज का मेकओवर कर अच्छा महसूस करती है। प्रिया का कहना है कि हर किसी के साथ एक एक करके मिलना और फिर उनको सलाह देने में काफी समय लगता है और सभी महिलाओं के पास इतना वक्त भी नहीं होता। जिसको देखते हुए उन्होने फैसला लिया कि क्यों ना इस काम को ऑनलाइन ही शुरू किया जाये। आज ‘MavenChic’ ई-कॉमर्स के जरिये फैशन पर सलाह देने वाली वेबसाइट है।

अब तक चाहे वो कॉरपोरेट से जुड़ी महिला हो, या कोई छात्रा, या फिर घरेलू महिला या बैंकर। हर कोई ‘MavenChic’ के विशेषज्ञों के साधारण नुस्खे अजमाकर अपना मेकओवर करवा चुका है। प्रिया को जिंदगी भर फैशन से प्यार रहा है और उनका मानना है कि हर महिला चाहे वो दिखने में छोटी हो या लंबी, पतली हो या मोटी, जवान हो या बूढ़ी उनका स्टाइल ही उनका व्यक्तिव होता है। उनका मानना कि हर महिला ग्लैमरस नहीं दिख सकती। लेकिन मेकओवर से उनके अंदर विश्वास आता है और वो अच्छा महसूस करती हैं।

प्रिया का जन्म फैशन की राजधानी कहे जाने वाले मुंबई शहर में हुआ। उन्होने करीब छह साल मार्केटिंग और सेल्स के क्षेत्र में गुजारे लेकिन उनमें अपने काम को लेकर जुनून नहीं था। साल 2009 में उनकी शादी हो गई। प्रिया का कहना है कि उनके पति अच्छी तरह जानते थे कि वो अपने काम को लेकर खुश नहीं हैं। कई बार दोनों लोग विभिन्न विकल्प को लेकर लंबी बातचीत भी करते लेकिन कभी भी कोई ठोस चीज निकल कर सामने नहीं आई। एक दिन उनके पति ने अखबार में छपे एक आर्टिकल पर उनका ध्यान दिलाया। जिसमें आईसीबीआई के एक कोर्स के बारे में जानकारी दी गई थी। ये प्रिया के ही पति थे जिन्होने उनको इस क्षेत्र में कारोबार करने की सलाह दी। जिसके बाद प्रिया ने अपना नाम वहां पर रजिस्टर्ड करा लिया। इसके बाद प्रिया भी उद्यमियता के बारे में सोचने लगी और ‘MavenChic’ के जरिये उन्होने मेकओवर पर ऑनलाइन सलाह देने का काम शुरू कर दिया।

घर की जिम्मेदारियों से अलग प्रिया ने आईसीबीआई का फुल टाइम कोर्स किया। इस दौरान प्रिया यहां मौजूद ट्रेनरों से इस क्षेत्र में संभावित करियर के बारे में लगातार बातें करती। कोर्स के दौरान प्रिया को एक बात अच्छी तरह समझ में आ गई थी कि इस कोर्स को पूरा करने के बाद इमेज मैनेजमेंट से जुड़े उनके पास सीमित विकल्प हैं। वो किसी की उपस्थिति, व्यवहार और बोलचाल पर या तो ट्रेनिंग और सलाह दे सकती थीं या फिर कॉरपोरेट के लिए या व्यक्तिगत तौर पर इस काम को कर सकती थीं। तब तक प्रिया को इस बात को लेकर अच्छी तरह विश्वास हो गया था कि इस क्षेत्र में काफी संभावनाएं हैं और इमेज सलाहकार इस चीज के लिए काफी ज्यादा पैसे वसूलते हैं।

प्रिया का कहना है कि जब उन्होने इस पर विचार किया था तो उस वक्त समाज का एक खास वर्ग ही इसका फायदा उठा रहा था। तब उन्होने सोचा की इसे आम लोगों तक ले जाया जाए जो ना सिर्फ किफायती और सुविधाजनक हो बल्कि आज की आधुनिक महिला जो घर और परिवार संभालने के अलावा काम भी करती है उसके लिए हो। प्रिया को ये आइडिया तब आया जब वो ट्रेनिंग का पांचवा सत्र कर रही थीं। उन्होने ऑनलाइन तरीके से अपने इस काम को बढ़ाने के बारे में सोचना शुरू कर दिया था। प्रिया ने अपने भाई से प्रेरणा ली। उनका भाई सिंगापुर में अच्छी नौकरी तो कर ही रहा था साथ ही साथ यात्रा से संबंधित अपना ई-कॉमर्स से जुड़ा उद्यम भी चला रहा था।

तो वही दूसरी ओर प्रिया के इस काम के लिए उनके पति भालचंद्र के वाघ ने अपनी नौकरी छोड़ ‘MavenChic’ के सीईओ बन गये। आज प्रिया का मानना है कि उद्यमियता के दौरान उनको काफी अच्छे अनुभव हुए हैं हालांकि शुरूआत में उनको कुछ दिक्कतों का सामना भी करना पड़ा था लेकिन उनका मानना है कि किसी भी काम को करने के लिए शॉर्ट कट की गुंजाइश नहीं होती बल्कि कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। 33 साल की प्रिया पिछले 8 महिनों से अपने इस कान्सेप्ट पर काम कर रही हैं। आज उनके साथ देश भर से 30 सलाहकार जुड़ चुके हैं जो महिलाओं को ऑनलाइन सलाह देने का काम करते हैं। फिलहाल ये सेवा महिलाओं के लिए है लेकिन जल्द ही पुरूषों के लिए भी ये लोग ऐसी ही योजना लाने वाले हैं। प्रिया का कहना है कि फैशन वो नहीं होता जो आप पहनते हैं बल्कि किसी चीज को आप कैसे पहनते हैं वो होता है।