प्रधानमंत्री मोदी 16 जनवरी को करेंगे स्टार्टअप इंडिया अभियान का आगाज

1
योरस्टोरी 16 जनवरी 2016 को नई दिल्ली में भारत सरकार की तरफ से प्रारंभ किए जाने वाले ‘स्टार्ट-अप इंडिया’ अभियान का भागीदार होने पर गर्व का अनुभव कर रहा है। 


इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य देश के युवाओं की उद्यमशीलता की भावना का जश्न मनाना है। इस गौरवशाली पल का साक्षी पूरा देश और देशभर के 1500 से भी अधिक शीर्ष स्टार्टअप्स के सीईओ और संस्थापक बनेंगे। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसके समापन सत्र को संबोधित करने के साथ ही औपचारिक रूप से इस अभियान का प्रारंभ करेंगे और स्टार्टअप कार्य योजना (एक्शन प्लाॅन) का अनावरण करेंगे।

वित्त और काॅरपोरेट मामलों के केंद्रीय मंत्री श्री अरुण जेटली 16 जनवरी 2016 को विज्ञान भवन में प्रातः 9.30 बजे इस कार्यक्रम का उद्घाटन करेंगे, जहां वाणिज्य और उद्योग राज्यमंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण विशिष्ट अतिथि के रूप में मौजूद रहेंगी।

यह कार्यक्रम स्टार्टअप उद्यमिता पर दिन भर चलने वाली वैश्विक कार्यशालाओं को आयोजित करेगा और निम्नलिखित विषयों पर पैनल चर्चा भी इसका एक भाग होंगी

  • उद्यमिता और इनोवेशन को सामने लानाः भारतीय स्टार्टअप्स को बढ़ने और समृद्ध होने के लिये किन चीजों की आवश्यकता है
  • महिलाओं को सम्मान देनाः अभिनव महिला उद्यमियों की कहानियां
  • कैसे डिजिटलीकरण भारत का भविष्य बदल सकता है
  • भारतीय हेल्थकेयर के क्षेत्र को गति देना
  • पहुंच के भीतर है वित्तीय सम्मिलन

वित्त राज्य मंत्री श्री जयंत सिन्हा की अध्यक्षता में ‘‘शो मी द मनीः हाउ डू वी कैपिटलाइज एंटरप्रेन्योरशिप?’’ को लेकर पैनल चर्चा आयोजित की जाएगी। इसके अलावा ‘‘फेस टू फेस विद पाॅलिसी मेकर्स’’ के शीर्षक से एक बिलकुल अलग प्रश्न-उत्तर सत्र का आयोजन भी किया जाएगा, जिसमें सभी प्रमुख सरकारी मंत्रालयों और विभागों के सचिव इस बात का जवाब देंगे कि सरकार स्टार्टअप्स के लिये एक अनुकूल पारिस्थितिकितंत्र का निर्माण किस प्रकार करेगी।

इसका प्रमुख उद्देश्य एक ऐसे पारिस्थितिकि तंत्र को तैयार करने में सरकार की प्रतिबद्धता दर्शाने का है, जो स्टार्टअप्स के सुदृढ़ विकास के लिये अनुकूल हो। इस पैनल में राजस्व, मानव संसाधन और विकास, काॅरपोरेट मामलों, वित्तीय सेवा, आर्थिक मामलों, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, जैवप्रौद्योगिकी, इलेक्ट्राॅनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी, सूक्ष्म-लघु और मध्यम उद्योग और कौशल विकास विभाग सहित विभिन्न विभागों के सचिव शामिल होंगे। इसके अतिरिक्त भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड ( SEBI) और भारतीय लघु उद्याोग विकास बैंक (SIDBI) की ओर से भी इस पैनल में प्रतिनिधित्व किया जाएगा।

यह कार्यक्रम श्री मसायोशी सन (साॅफ्टबैंक के संस्थापक और सीईओ), श्री ट्रेविस कलानिक (उबर के संस्थापक), श्री एडम न्यूमेन्न (वीवर्क के संस्थापक) जैसे वैश्विक वैश्कि स्तर पर जाने-माने उद्यमी पूंजीपतियों के साथ परस्पर वार्ता का भी साक्षी बनेगा। इसके अलावा 40 से भी अधिक स्टार्टअप्स के सीईओ और संस्थापकों, वेंचरर कैपिकटलिस्ट, सिलिकाॅन वैली के एंजल निवेशकों का एक प्रतिनिधिमंडल विशेष अतिथियों के रूप में सम्मिलित होगा और परस्पर प्रश्नोत्तर सत्र का हिस्सा बनेगा।

इसके अलावा इस कार्यक्रम में गूगल भी ‘‘लाँचपैड एक्सीलरेटर’’ के शीर्षक से एक अनोखे सत्र का आयोजन करेगा जिसमें प्रारंभिक चरण के स्टार्टअप्स द्वारा संभावित निवेशकों को पाने का सीधा प्रसारण किया जाएगा। साॅफ्टबैंक के अध्यक्ष और सीओओ निकेश अरोड़ा प्रतिभागियों के साथ स्टार्टअप फंडिग से संबंधित विभिन्न पहलुओं पर चर्चा करेंगे। साथ ही देश में स्टार्टअप्स द्वारा किये गए अभिनव और अनूठे कामों को प्रदर्शित करने के उद्देश्य से इस कार्यक्रम में एक आभासी (वर्चुअल) प्रदर्शनी का भी आयोजन किया जा रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने रेडियो कार्यक्रम ‘‘मन की बात’’ के पिछले संस्करण में इस बात का पूरा संकेत दे दिया था कि स्टार्टअप इंडिया से संबंधित एक संपूर्ण कार्य योजना इस कार्यक्रम का एक हिस्सा के रूप में शुरू की जाएगी। यह योजना मुख्यतः देश में स्टार्टअप पारिस्थितिकि तंत्र को विकसित करने की दिशा में सरकार द्वारा अपनाई जा रही विभिन्न पहलों और योजनाओं से संबंधित विभिन्न पहलुओं को संबोधित भी करेगी।

देश में स्टार्टअप संस्कृति को बढ़ावा देने की दिशा में इस कार्यक्रम की महत्ता को ध्यान में रखते हुए देश के समस्त आईआईटी, आईआईएम, एनआईटी, आईआईआईटी सहित केंद्रीय विश्वविद्यालयों और भारत के 350 से भी अधिक जिलों में स्थित युवा समूहों के लिये इसका सीधा प्रसारण किया जाएगा।

औद्योगिक नीति एवं संवर्धन विभाग (डीआईपीपी) इस कार्यक्रम का आयोजन इन्वेस्ट इंडिया और आईस्पिरिट, योरस्टोरी, नैसकाॅम, शीदपीपलडाॅटटीवी और काईराॅस सोसाइटी जैसे स्टटार्टअप पारिस्थितिकितंत्र खिलाडि़यों और फिक्की और सीआईआई कीे युवा शाखाओं के साथ कर रहा है।


यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...