‘स्टार्टअप के साथ जुड़ने से कामकाज के नये तरीके आएंगे’

0


आधे से अधिक भारतीय कार्यकारी स्टार्टअप के साथ काम करने को तैयार हैं क्योंकि उनका मानना है कि नये युग की कंपनियों के साथ जुड़ने से उनकी कुशलता निखरेगी और नये तरीकों से सामना होगा। एक सर्वे में यह कहा गया है।


ईवरई:सीआई क्लब्स इंटरप्राइज आईटी ट्रेंड्स एंड इनवेस्टमेंट के एक सर्वे के अनुसार हालांकि अन्य आधे में अभी भी स्टार्ट-अप को लेकर कुछ संदेह है। ‘द स्टार्टअप जीन: ए वे फारवार्ड’ शीषर्क से जारी सर्वे में कहा गया है कि देश के कार्यकारी स्टार्ट-अप के साथ जुड़ने और स्टार्ट-अप उद्यमियों के रूख को अपनाकर उससे लाभान्वित हो सकते हैं।

सर्वे में शामिल 244 मुख्य सूचना अधिकारी :सीआईओ: में से करीब आधे ने अपना काम पूरा करने को लेकर स्टार्ट-अप गतिविधियों को क्रियान्वित करने में विश्वास दिखाया है। इसमें कहा गया है, ‘‘50 प्रतिशत सीआईओ स्टार्ट-अप के साथ काम करने को तैयार हैं जबकि अन्य आधे में इसको लेकर थोड़ा संदेह है।’’ सर्वे में कहा गया है कि स्टार्ट-अप के साथ गठजोड़ से काम कुशल और नये तरीके से पूरा होना सुनिश्चित होगा। इससे लागत की बचत हो सकती है और नई प्रौद्योगिकी अपनाने में मदद मिल सकती है।


पीटीआई