मुकेश अंबानी ने कहा, 'भारत बन सकता है लाखों स्टार्टअप का देश'

0

अपनी नई दूरसंचार कंपनी रिलायंस जियो के फ्री डेटा व वायस कॉलिंग प्लान के जरिये घरेलू बाजार को हिला देने वाले अंबानी ने कहा कि आने वाले दस साल में भारत दुनिया की तीन शीर्ष अर्थव्यवस्थाओं में से एक होगा और यह उपलब्धि हासिल करने के लिए भारतीय दूरसंचार व आईटी उद्योग को बड़ी भूमिका निभानी होगी।

उन्होंने कहा कि इंडियन मोबाइल मार्केट डेटा के सात ओवरफ्लो कर रहा हैऔर हमें डिजिटल मार्केटप्लेस को बढ़ाने के लिए 130 करोड़ भारतीयों को सशक्त करने की जरूरत है।

अंबानी ने कहा कि डिजिटल क्रांति के बूते पर भारत अगले दस साल में 7,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था होगा और दुनिया की शीर्ष तीन अर्थव्यवस्थाओं में से एक।

दिल्ली में आयोजित हुए इंडियन मोबाइल कांग्रेस के दौरान रिलायंस इंडस्ट्री के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा कि जिस तरह से भारत में डेटा का इस्तेमाल हो रहा है उस लिहाज से भारत में डिजिटल बिजनेस में काफी संभावनाएं हैं। उन्होंने कहा कि अगर सही टूल और माहौलल मिल जाए तो भारत लाखों स्टार्टअप वाला देश बन सकता है। अंबानी ने अपने पुराने उद्धरण को दोहराते हुए कहा कि इंटरनेट डेटा एक तरह से ऑयल की तरह है और डेटा डिजिटल इकनॉमी का ऑक्सीजन है। उन्होंने कहा कि इंडियन मोबाइल मार्केट डेटा के सात ओवरफ्लो कर रहा हैऔर हमें डिजिटल मार्केटप्लेस को बढ़ाने के लिए 130 करोड़ भारतीयों को सशक्त करने की जरूरत है।

अपनी नई दूरसंचार कंपनी रिलायंस जियो के फ्री डेटा व वायस कॉलिंग प्लान के जरिये घरेलू बाजार को हिला देने वाले अंबानी ने कहा कि आने वाले दस साल में भारत दुनिया की तीन शीर्ष अर्थव्यवस्थाओं में से एक होगा और यह उपलब्धि हासिल करने के लिए भारतीय दूरसंचार व आईटी उद्योग को बड़ी भूमिका निभानी होगी। इंटरनेट के बढ़ते प्रचलन और बढ़ती डेटा खपत को रेखांकित करते हुए उन्होंने कहा कि डेटा ही डिजिटल अर्थव्यवस्था की ऑक्सीजन है।

उन्होंने कहा, 'हम भारतीयों को इस महत्त्वपूर्ण संसाधन से वंचित नहीं कर सकते। हमें किफायती कीमतों पर सबको समान हाईस्पीड डेटा उपलब्ध करवाना होगा। उन्होंने हर भारतीय के लिए किफायती स्मार्टफोन की उपलब्धता सुनिश्चित करने पर भी जोर दिया ताकि वह असीमित ज्ञान व इंटरनेट की ताकत से जुड़ सके।' देश में 4जी प्रौद्योगिकी को तेजी से अंगीकार किए जाने का जिक्र करते हुए अंबानी ने कहा कि भारत में 4जी दूरसंचार कवरेज एक साल में 2जी नेटवर्क से आगे निकल जाएगा। अंबानी ने कहा कि डिजिटल क्रांति के बूते पर भारत अगले दस साल में 7,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था होगा और दुनिया की शीर्ष तीन अर्थव्यवस्थाओं में से एक।

रिलायंस जियो ने अपनी सेवाओं के पहले ही साल में 12.8 करोड़ ग्राहक हासिल कर रिकॉर्ड कायम किया है। कंपनी 1,500 रुपये की जमानती राशि में 4जी फीचर फोन पेश करने जा रही है। डिजिटल इंडिया के सपने का जिक्र करते हुए उन्होंने सहयोग व भागीदारी पर जोर दिया। उन्होंने कहा, कोई भी कंपनी या सरकार यह काम अकेले नहीं कर सकती। मिलकर ही हम इस बड़े लक्ष्य को हासिल कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि अगर हम भारतीय को सही औजार उपलब्ध कराएं तो यहां 10 लाख स्टार्टअप खोले जा सकते हैं। मुकेश अंबानी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के डिजिटल इकनॉमी को पूरा करने के लिए नेक्स्ट जेनरेशन के लिए टेक्नोलॉजी बनानी जरूरी है। कोई अकेला कॉरपोरेट या अकेले सरकार यह लक्ष्य हासिल नहीं कर सकती है। अंबानी के मुताबिक हर एक भारतीय के पास एक अफोर्डेबल स्मार्टफोन हो।

अंबानी ने कहा कि डिजिटल क्रांति के बूते पर भारत अगले दस साल में 7,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था होगा और दुनिया की शीर्ष तीन अर्थव्यवस्थाओं में से एक। उल्लेखनीय है कि रिलायंस जियो ने अपनी सेवाओं के पहले ही साल में 12.8 करोड़ ग्राहक हासिल कर रिकॉर्ड कायम किया है। कंपनी 1,500 रुपये की जमानती राशि में 4जी फीचर फोन पेश करने जा रही है। डिजिटल इंडिया के सपने का जिक्र करते हुए उन्होंने सहयोग व भागीदारी पर जोर दिया। उन्होंने कहा, कोई भी कंपनी या सरकार यह काम अकेले नहीं कर सकती। मिलकर ही हम इस बड़े लक्ष्य को हासिल कर सकते हैं।

इंडिया मोबाइल कांग्रेस के पहले सम्मेलन के उद्घाटन के मौके पर दूरसंचार उद्योग के अग्रणी प्रतिस्पर्धी एक मंच पर इकट्ठा हुए, जिन्होंने भारत को डिजिटल सोसायटी बनाने के लिए हाथ मिलाने और देश के हर नागरिक को कनेक्टिविटी मुहैया कराकर डिजिटल इंडिया के सपने को हासिल करने पर बात की। एयरटेल और रिलायंस जियो हालांकि दूरसंचार के क्षेत्र में प्रतिस्पर्धी हैं लेकिन भारती एंटरप्राइजेज के चेयरमैन सुनील भारती मित्तल और रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने जोर दिया कि डिजिटल मीडिया तक देश के 1.3 अरब लोगों की पहुंच के लिए सभी को साथ मिलकर काम करना होगा।

इस मौके पर सीओएआई के महानिदेशक राजन मैथ्यू ने कहा कि जब तक सुनील मित्तल और मुकेश अंबानी एक दूसरे को मित्र के तौर पर बताएंगे, उद्योग सही स्थिति में रहेगा। हालांकि आइडिया सेल्युलर ने दूरसंचार क्षेत्र की दिक्कतों मसलन वित्तीय दबाव और इंटरकनेक्ट चार्जेज में हुई हालिया कटौती का मसला उठाया। कंपनी के प्रबंध निदेशक हिमांशु कपानिया ने कहा, विजन 2020 पर बात करना महत्वपूर्ण है, लेकिन इस पर भी बात करना महत्वपूर्ण है कि एक बड़ा हाथी मौजूद है और कोई उसकी बात नहीं कर रहा। बाजार की हालिया प्रगति से उद्योग का आयाम प्रभावित हुआ है और यह क्षेत्र कई गंभीर वित्तीय और मानसिक दबाव का सामना कर रहा है।

यह भी पढ़ें: ब्लड डोनेशन के लिए फेसबुक की नई पहल, आसानी से मिलेगा खून

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...