डॉक्टर और लॉयर ने मिलकर शुरू किया एक ऐसा App जो पेशेंट्स और डॉक्टर्स को एक साथ जोड़ता है

'कंसल्ट' दिल्ली स्थित एक ऐसा हेल्थटेक प्लेटफॉर्म है, जो रोगियों को वास्तविक समय में डॉक्टर्स से जुड़ने में सहायता करता है।

2

मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के 45 वर्षीय न्यूरोलॉजी के यूनिट हेड और प्रमुख सलाहकार डॉ पुनीत अग्रवाल को अपनी प्रैक्टिस के दौरान डॉक्टर और मरीज़ के संवाद में बाधा का अनुभव हुआ। वे रोगिय जो तुरंत उन तक पहुंचने में असमर्थ थे, उन्हें अगले उपलब्ध अपॉइंटमेंट के लिए इंतजार करना पड़ता था। उन्होंने महसूस किया, कि ये मरीज़ों के लिए अनुचित था, विशेष रूप से उनके इंटरनेशनल और आउट साइडर्स के लिए और फिर उन्होंने जाना कि उचित संचार चैनल की कमी के कारण ऐसी स्थिति उत्पन्न हुई है। संचार के इस फासले को कम करने के लिए उन्होंने विभिन्न पृष्ठभूमि के उनके अन्य सह-संस्थापकों के साथ मिल कर 'कंसल्ट' की शुआत की।

भारत में प्रति डॉक्टर रोगियों की संख्या वैश्विक औसत से ऊपर है, ऐसे में इस काम को कुशलता से चलाने के लिए मौजूदा सिस्टम को बढ़ाने की सख्त आवश्यकता है। इन्हीं सब बातों को ध्यान में रखते हुए 'कंसल्ट' की शुरुआत हुई। 'कंसल्ट' एक ऑनलाइन डॉक्टर परामर्श मंच है, जो मरीजों के लिए पोस्ट-परामर्श, फॉलो-अप और दूसरी राय पर केंद्रित है।

डॉ पुनीत अग्रवाल ने डॉक्टर्स और मरीज़ के बीच संचार के फासले को कम करने के लिए 28 साल के अंशुल मित्तल के साथ अपने आइडिया पर चर्चा की। अंशुल मित्तल बौद्धिक संपदा कानून में विशेषज्ञता के साथ सार्वजनिक स्वास्थ्य के एक वकील हैं। अंशुल ने चिकित्सा और सार्वजनिक स्वास्थ्य तक लोगों की पहुंच से संबंधित कानूनों पर बड़े पैमाने पर काम किया है। उन्हें डॉ. पुनीत का आइडिया पसंद आया और वे इसमें को-फाउंडर के रूप में शामिल हो गए। बाद में कैलाश सती संचालन की जिम्मेदारी संभालने के लिए इसमें शामिल हुए और इतिरंजन मिश्रा और हैरी नाइक (क्रमशः) प्रमुख प्रौद्योगिकी और प्रमुख विपणन के रूप में पुनीत से जुड़ गये। कैलाश सती ने कंसंल्ट टीम में शामिल होने से पहले बीआईएलटी (BILT) और कोओव्स (Koovs) जैसे संगठनों के साथ काम किया है।

पांच लोगों की इस टीम ने महसूस किया कि गुणवत्ता वाली स्वास्थ्य सेवाओं तक पहुंच भारत में लोगों की सबसे बड़ी समस्या है। अंशुल कहते हैं कि जहाँ भारत की बहुसंख्यक आबादी टियर- 2 और टीयर- 3 के शहरों और ग्रामीण इलाकों में रहती है, वहीं अधिकांश योग्य डॉक्टर मेट्रो और टीयर-1 के शहरों तक ही सीमित हैं और इस वजह से लोगों को विशेषज्ञ स्वास्थ्य सेवाओं तक पहुंचने के लिए बहुत सारी यात्राएं करनी पड़ती हैं और दूसरी तरफ, इस प्रकार की क्षमता का आभाव भी है। भारत में प्रति डॉक्टर रोगियों की संख्या वैश्विक औसत से ऊपर है और इसीलिए कार्य कुशलता से चलाने के लिए मौजूदा सिस्टम को बढ़ाने की सख्त आवश्यकता है।

स्वास्थ्य देखभाल की पहुंच का विस्तार करना, एक प्रकार से, दक्षता बढ़ाने और समय और पैसा बचाने का एक तरीका है. अध्ययन से पता चलता है कि आधे से अधिक परामर्श दूरस्थ रूप से भी हो सकते हैं और इस तरह के परामर्श के अनुमानित बाजार की क्षमता लगभग 350-400 मिलियन प्रति वर्ष है.

'कंसल्ट' उपयोगकर्ताओं को अपने पसंदीदा डॉक्टर को ढूंढने और चुनने का विकल्प देता है और वास्तविक समय में कॉल/चैट द्वारा तुरन्त उनसे संपर्क स्थापित कर देता है, साथ ही परामर्श की अवधि के साथ स्वत: भुगतान भी कर देता है। कंसल्ट टीम एक ऐसे व्यवसाय का निर्माण कर रही है, जिसमें उच्च प्रवेश बाधा है, क्योंकि ऑनलाइन परामर्श भारतीयों के लिए पूरी तरह से एक नई अवधारणा है।

कंसल्ट के को-फाउंडर 28 वर्षीय अंशुल मित्तल कहते हैं, 'हमें इस अभेद्य बाजार में जगह बनानी है। विश्वास बनाने और लोगों को शिक्षित करने में बहुत समय लगता है। उपयोगकर्ताओं की मानसिकता को धीरे-धीरे बदलना पड़ता है। हमने इस मंच का निर्माण करने के लिए प्रौद्योगिकी की सहायता ली है जो जटिल है, लेकिन उपयोग करने में बहुत आसान है। को-फाउंडर्स में से एक स्वयं चिकित्सक हैं। पायलट स्टेज में इस उत्पाद को बनाने और परिष्कृत करने के लिए हमने लगभग 50 डॉक्टरों से बातचीत की और बिना किसी अतिरिक्त बोझ के वास्तविक समस्या का समाधान किया।' अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए वे कहते हैं, 'डॉक्टर्स को 'कंसल्ट' ऐप से जोड़ना भी काफी चुनौतीपूर्ण था। फिर भी, हमारी टीम छह महीने के भीतर 1,000 से ज्यादा डॉक्टरों को इस से जोड़ने में सफल रही थी। हमने सबसे पहले विश्वसनीय चिकित्सकों का एक पूल बनाने पर ध्यान केंद्रित किया और अब हमारे डॉक्टर्स अपने मरीज़ों को फॉलो-अप परामर्श के लिए ऐप का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं, जिससे कि स्वाभाविक रूप से हमारे उत्पाद के विस्तार में मदद मिलती है।'

कंसल्ट डॉक्टर्स और उनके रोगियों के बीच एक इंटरफ़ेस के रूप में कार्य करता है। आमतौर पर पहले ओपीडी परामर्श के बाद, मरीजों के पास उनके डॉक्टर से दूर से संपर्क करने के लिए कोई भी माध्यम नहीं होता। आकंड़े बताते हैं, कि आधे से अधिक फॉलो-अप परामर्श मरीज़ को व्यक्तिगत रूप से मौजूद हुए बिना दूर से किये जा सकते हैं। ऐसे में कंसल्ट के लिए बाजार एक बहुत बड़ा अवसर और फोकस क्षेत्र है। इस अंतर्निहित चैट इंटरफ़ेस के माध्यम से मरीज और डॉक्टर समीक्षा और राय के लिए सम्बंधित चिकित्सा दस्तावेज़ भी साझा कर सकते हैं। ये प्लेटफार्म पहली बार कॉल के जरिये उपलब्ध सबसे अच्छे डॉक्टर से परामर्श करने और विशेष रूप से पुरानी और गंभीर बीमारियों के मामले में दूसरी राय लेने में रोगियों की मदद करता है। जिनके पास स्मार्टफ़ोन या अच्छे इंटरनेट कनेक्शन नहीं हैं, ऐसे उपभोक्ताओं के लिए इस एेप में एक ऑफ़लाइन मॉडल भी है और ये प्लेटफॉर्म ऑफ़लाइन चैनल ऐप आधारित समाधान के रूप में सभी सेवाएं प्रदान करता है, सिवाय इसके कि इसमें ऐप या इंटरनेट की ज़रूरत नहीं होती है। चयनित चिकित्सकों को वर्चुअल एक्सटेंशन कोड दिया गया है, जो वे अपने उन मरीजों के साथ साझा करते हैं, जिनके पास स्मार्टफोन/इंटरनेट नहीं है। ये उपयोगकर्ता रिचार्ज कूपन खरीदते हैं और कंसल्ट के आईवीआर-आधारित सिस्टम के माध्यम से चिकित्सक से परामर्श करते हैं। अंशुल कहते हैं, 'ये ग्रामीण क्षेत्र के रोगियों के लिए वास्तव में अच्छी तरह से काम करता है। हमने लगभग 50 डॉक्टरों के साथ एक पायलट फ़ील्ड पर अध्ययन किया और इसके आधार पर बनाया गया समाधान अब उपयोग के लिए तैयार है।'

पायलट चरण के दौरान, एक मजबूत तकनीकी मंच के निर्माण के लिए केंद्रित टीम ने परिशोधन पर अपना ध्यान केंद्रित किया और उत्पाद को बेहतर बनाने के लिए डाक्टरों के फीडबैक को इसमें शामिल किया। ऐप का नया संस्करण मई 2016 में लॉन्च किया गया और तब से टीम ने दिल्ली एनसीआर के 1200 प्रमुख विशेषज्ञ डॉक्टर्स को इसमें शामिल किया है और 25,000 से अधिक मरीजों को अपनी सेवाएं दी हैं।अंशुल के अनुसार, 'जनवरी में 12000 से अधिक कार्य और 20000 से अधिक व्यापार हुए। 2017 में हमने एक यूजर फ्रेंडली और डॉक्टर की सिफारिश सेवा संस्करण भी लॉन्च की है, जो सर्वोत्तम डॉक्टरों के द्वारा उपचार और लागतों पर स्थानीय सलाह प्रदान करता है।'

'कंसल्ट' की प्रतिस्पर्धा सीधे Sequoia और Tencent द्वारा समर्थित Practo से है, जिसमें कि एक ऐसा प्लेटफार्म Practo Consult है जो मरीज को डॉक्टर्स के साथ संवाद करने में सक्षम बनाता है और डॉक्टर के पास जाने से पहले भी परामर्श प्रदान करता है। इसी प्रकार का एक अन्य ऐप Lybrate भी है, जो डॉक्टर खोजने में मदद करता है।

स्वास्थ्य सेवा के प्रति कंसल्ट टीम का दृष्टिकोण इस क्षेत्र के अन्य प्रतिस्पर्धियों से काफी भिन्न हैं। ये टीम विश्वास और पारदर्शिता पर जोर देती है, जिसकी मदद से ये अपने उपयोगकर्ताओं को योग्यता, स्थान और अनुभव आदि के आधार पर सैकड़ों योग्य डॉक्टरों में से चयन का अवसर देते हैं। ये पुराने मॉडल से भिन्न है जो कॉल सेंटर में उपलब्ध कुछ डॉक्टरों के साथ, पैनल-आधारित पद्धति पर काम करता था। अंशुल के अनुसार, 'हम अपने आप से जुड़े डॉक्टर्स के लिए कोई शुल्क नहीं लेते हैं, बजाय इसके उन डॉक्टर्स के साथ हमने एक राजस्व साझीकरण की व्यवस्था कर रखी है। ये व्यवस्था स्वास्थ्य सेवा उद्योग में मानकों के अनुरूप है। 'कंसल्ट' पर होने वाले लेनदेन से अर्जित होने वाला राजस्व डॉक्टर और हमारे बीच साझा किया जाता है।' 

साथ ही अंशुल ये भी कहते हैं, 'आउटस्टेशन और अंतरराष्ट्रीय मरीजों पर अधिक ध्यान देने के साथ ही, हम जनसांख्यिकीय विस्तार की ओर भी बढ़ रहे हैं'कंसल्ट' ने एंजेल इन्वेस्टर्स से फंडिंग अर्जित की है। कंपनी वर्तमान में ए राउंड की एक प्री-सीरीज़ के माध्यम से भी निवेश जुटाने का प्रयास कर रही हैं। इनकी योजना अगले एक साल में 10,000 डॉक्टर्स को जोड़ने की है और साथ ही ग्राहकों को जोड़ने के लिए बड़े पैमाने पर अपनी विपणन गतिविधियों को विस्तार देना हैं।

-प्रकाश भूषण सिंह


इस स्टोरी को इंग्लिश में पढ़ने के लिए इस लिंक पर जायें,

A doctor and a lawyer join hands to start a consulting app for patients and doctors 

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...

Related Stories

Stories by yourstory हिन्दी