फ्लिपकार्ट पर शॉपिंग करने वालों को झटका, इन प्रोडक्ट्स पर नहीं मिलेगा रिफंड

रिफंड और रिटर्न ही एक ऐसी वजह थी जिससे भारतीय ग्राहकों का ऑनलाइन शॉपिंग पर भरोसा मजबूत हुआ था। अब रिफंड न मिलने से आने वाले दिनों में कंपनी पर इसका सीधा असर पड़ने की संभावना है।

0

फ्लिपकार्ट की वेबसाइट पर अपडेटेड रिटर्न पॉलिसी के मुताबिक अब मोबाइल फोन, कंप्यूटर, कैमरा एक्सेसरीज, पर्सनल केयर अप्लायंसेज, ऑफिस इक्विपमेंट, गेम प्रोडक्ट्स, स्मार्ट वियरेबल आइटम, लार्ज अप्लायंसेज और फर्नीचर जैसे आइटम पर रिफंड नहीं मिलेगा। बाकी की जानकारी के लिए पूरी खबर पढ़ें... 

एक्सपर्ट का मानना है कि फ्लिपकार्ट के इस फैसले से कम गंभीर ग्राहकों में कमी आयेगी और केवल जेन्युइन ग्राहक ही खरीददारी करेंगे।
एक्सपर्ट का मानना है कि फ्लिपकार्ट के इस फैसले से कम गंभीर ग्राहकों में कमी आयेगी और केवल जेन्युइन ग्राहक ही खरीददारी करेंगे।
अभी तक जो ग्राहक बिना कुछ ज्यादा सोचे समझे एकदम बेफिक्र होकर कोई भी सामान ऑर्डर कर देते थे, उन्हें अब काफी सोचसमझ कर ऑर्डर करना होगा। क्योंकि फ्लिपकार्ट ने अपने ग्राहकों को एक बड़ा झटका दिया है।

यदि प्रोडक्ट्स में कुछ खराबी है, तो कंपनी मदद करके उसे दूर करने की कोशिश करेगी और अगर प्रोडक्ट पूरी तरह से खराब है तो कंपनी 10 दिन में उसे वापस करेगी।

ऑनलाइन शॉपिंग करने वालों के लिए एक बुरी खबर है। देश के जाने माने शॉपिंग प्लेटफॉर्म फ्लिपकार्ट ने अपनी रिटर्न पॉलिसी में कुछ कड़े बदलाव किए हैं। जिस वजह से कई सारे प्रोडक्ट्स को आप खरीदने के बाद वापस नहीं कर पाएंगे। पहले आप फ्लिपकार्ट पर किसी सामान को पसंद न आने पर वापस या बदल सकते थे, लेकिन अब आप ऐसा नहीं कर पाएंगे।

फ्लिपकार्ट की वेबसाइट पर अपडेटेड रिटर्न पॉलिसी के मुताबिक अब मोबाइल फोन, कंप्यूटर, कैमरा एक्सेसरीज, पर्सनल केयर अप्लायंसेज, ऑफिस इक्विपमेंट, गेम प्रोडक्ट्स, स्मार्ट वियरेबल आइटम, लार्ज अप्लायंसेज और फर्नीचर जैसे आइटम पर रिफंड नहीं मिलेगा। यानी एक बार सामान खरीद लिया तो समझो डील फाइनल। हालांकि अगर प्रोडक्ट्स में कुछ खराबी है तो कंपनी मदद करके उसे दूर करने की कोशिश करेगी। और अगर प्रोडक्ट्स पूरी तरह से खराब है तो कंपनी 10 दिन में उसे वापस करेगी। सिर्फ प्रोडक्ट्स के आउट ऑफ स्टॉक हो जाने की स्थिति में ही कंपनी पैसे वापस करेगी।

अभी तक ग्राहक बिना कुछ ज्यादा सोचे समझे एकदम बेफिक्र होकर कोई भी सामान ऑर्डर कर देते थे। लेकिन अब उन्हें काफी सोचसमझ कर ऑर्डर करना होगा। इस फैसले से जहां एक ओर ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर सामान बेचने वाले वेंडर्स में खुशी है तो वहीं दूसरी ओर एक्सपर्ट का कहना है, कि रिफंड और रिटर्न ही एक ऐसी वजह थी जिससे भारतीय ग्राहक का ऑनलाइन शॉपिंग पर भरोसा मजबूत हुआ था। अब रिफंड न मिलने से आने वाले दिनों में इस पर असर पड़ सकता है।

हालांकि, फ्लिपकार्ट का कहना है कि उन्होंने सिर्फ कुछ चुनिंदा प्रोडक्ट्स पर ही ये नियम लागू किया है। वेबसाइट पर उपलब्ध लगभग 1,800 में से 1,150 कैटेगरी पर अभी भी छूट मिलनी जारी रहेगी। इस पॉलिसी से फ्लिपकार्ट के बिजनेस पर क्या असर पड़ेगा, इसके बारे में फिलहाल अभी कुछ नहीं कहा जा सकता, लेकिन रिफंड से होने वाले घाटे में काफी कमी आयेगी। अभी फ्लिपकार्ट हर रोज लगभग 25,000 रिफंड इशू करता है।

प्रोडक्ट् के रिटर्न से कंपनी और सेलर दोनों को लॉजिस्टिक पर दोगुना पैसा खर्च करना पड़ता है। जाहिर तौर पर अब ऑपरेशन कॉस्ट में काफी कमी आएगी। हालांकि फ्लिपकार्ट की प्रतिद्विंदी कंपनी अमेजन ने अपनी रिफंड पॉलिसी में कोई बदलाव नहीं किया है। उसके लगभग सभी प्रोडक्ट्स पर अभी भी रिटर्न और रिफंड की पुरानी पॉलिसी लागू है। एक्सपर्ट का मानना है कि फ्लिपकार्ट के इस फैसले से कम गंभीर ग्राहकों में कमी आयेगी और केवल जेन्युइन ग्राहक ही खरीददारी करेंगे।


यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...