'स्टार्ट अप्स ने 2015 की पहली तिमाही 1.7 अरब डालर जुटाए'

0

पीटीआई


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की योजना स्टार्टअप और स्टैंडअप इंडिया का रंग अब दिखने लगा है। स्टार्टअप्स के लिए लगातार बनाई जा रही नई नीतियों का असर भी साफ-साफ दिख रहा है। यही वजह है कि 2015 की पहली तिमाही में स्टार्टअप्स ने 1.7 अरब डालर जुटाने में सफलता हासिल की है। इस बात की जानकारी दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने दी। उन्होंने कहा कि नवोन्मेषण को समर्थन देने के लिए नीतिगत ढांचे की वजह से देश के स्टार्ट अप्स ने इस साल की पहली तिमाही में 1.7 अरब डालर जुटाए हैं।

प्रसाद ने डिजिटल इंडिया कॉनक्लेव के दौरान कहा, ‘‘इस साल की पहली तिमाही में भारतीय स्टार्ट अप्स ने 1.7 अरब डालर जुटाए हैं जो 2014 की पहली तिमाही में स्टार्ट अप्स द्वारा जुटाई गई 45 करोड़ डालर की राशि से 300 प्रतिशत अधिक है।’’ इस मौके पर औद्योगिक नीति एवं संवर्धन विभाग :डीआईपीपी: के सचिव अमिताभ कान्त ने कहा कि भारत को ज्ञान अर्थव्यवस्था की मूल्य श्रृंखला में आगे बढ़ने के लिए जरूरी है कि उसके नवोन्मेषक न सिर्फ मेक इन इंडिया पर ध्यान दें, बल्कि डिजाइन और ‘क्रिएट इन इंडिया’ पर भी जोर दें।