गुजरात सरकार की बेटियों के लिए विशेष पहल, 26 जनवरी को स्कूलों में सबसे ज्यादा पढ़ी लड़कियों ने फहराया तिरंगा

0


बेटियों को सम्मान देने के लिए सरकार ने जारी किए सर्कुलर..

इस अभियान का नाम ‘बेटी को सलाम, देश के नाम’ रखा गया है...

इसके तहत सभी स्कूलों में बेटियों को राष्ट्रीय ध्वज फहराने की इजाजत दी गई है...


देश में बेटियों को पढ़ाने, बढ़ाने और सम्मान देने के लिए कई योजनाएं चल रही है। लेकिन इन सबों के बीच गुजरात सरकार ने की है एक विशेष पहल। इसके तहत 67 वें गणतंत्र दिवस, 26 जनवरी-2016 को गांव और शहरों के स्कूलों में वहां की सबसे ज्यादा पढ़ी-लिखी और काबिल बेटियों ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया। गुजरात सरकार ने एक सर्कुलर जारी कर सभी जिलाधिकारियों और जिला प्राइमरी शिक्षा पदाधिकारी को निर्देश दिए हैं। इसके मुताबिक सभी स्कूलों को निर्देश देकर कहा गया था कि वो अपने इलाके के सबसे ज्यादा पढ़ी-लिखी बेटियों को राष्ट्रीय ध्वज फहराने का अवसर दें। सरकार के सर्कुलर के मुताबिक बेटियों को समाज में सम्मानित करने के लिए और उन्हें आगे लाने के लिए सरकार ने अभियान का नाम ‘बेटी को सलाम, देश के नाम’ रखा है। इस काम में लड़कियों की सहायता जिला प्राइमरी शिक्षा अधिकारियों को करने कहा गया है ताकि इस योजना को बड़े पैमाने पर सफल बनाया जा सके। इतना ही नहीं, बेटियों के सम्मान में सरकार ने 26 जनवरी तक जन्म लेने वाली बेटियों के मां-बाप को भी सम्मानित करने का फैसला लिया है। इसके तहत 26 जनवरी तक जन्म लेने वाली बेटियों के मां-बाप को स्कूलों और ग्राम पंचायतों के द्वारा सम्मानित किया गया। इस तरह के सम्मान के आयोजन में आने वाले खर्च में सरकार भी मददगार होगी।

योर स्टोरी से बात करते हुए गुजरात सरकार के वित्त मंत्री और प्रवक्ता नितिन पटेल ने कहा, 

"सरकार की योजना हमारे बेटियों को सम्मानित करने और समाज में उन्हें उचित स्थान दिलाने का है। ऐसी योजनाओं से समाज में बेटियों को अहम स्थान मिलेगा और बेटियों की शान में भी इजाफा होगा।"

नितिन पटेल का ये भी मानना है कि समाज में कई वर्ग और संस्थाएं ऐसा काम करती रहती है जिससे कि बेटियों के सम्मान और आत्मविश्वास को बढ़ावा मिलता है। ऐसे में सरकार के द्वारा उठाए गए कदमों से बेटियों को बढ़ाना देने वाले इस तरह के कार्यक्रमों को और बल मिलता है। योर स्टोरी से बात करते हुए गुजरात सरकार के मंत्री नीतिन पटेल कहते हैं कि सरकार के इस कदम से बेटियों को और सम्मानित नजरों से देखा जाएगा और वो आत्मविश्वास से लबरेज होकर समाज और देश का नाम रोशन करेंगी।

नितिन पटेल के मुताबिक उनकी सरकार की योजनाओं में बेटियों को बढ़ावा देने वाली योजनाएं काफी अहम हैं और सरकार उन योजनाओं को गंभीरता से लागू कर बेटियों में शिक्षा के स्तर को उंचा करने के प्रयास में है।

बेटियों को सम्मान देने के गुजरात सरकार के इस प्रयास को योर स्टोरी का सलाम।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...