जो महिलाएं आंत्रप्रेन्योर बनना चाहती हैं, उन्हें ये बातें जल्द से जल्द सीख लेनी चाहिए

0

तकनीक पर निर्भर होती दुनिया में महिलाएं समाज को एक नई दिशा देने में लगी हैं। पुरुषों के उद्यम माने जाने वाले कामों को महिला उद्यमी बड़ी आसानी से साध रही हैं। सामाजिक ताने-बाने और पितृसत्तात्मक समाज को ये महिला उद्यमी आज कड़ी टक्कर भी दे रही हैं।सामाजिक बेड़ियों को तोड़कर बाहर निकली इन महिलाओं ने घर-परिवार, गांव-गिरांव और शहर ही नहीं, यहां तक कि देश-विदेश को भी गर्व की अनुभूति करा रही रही हैं। 

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर
ये महिलाएं आज स्वावलंबी और स्वर्णिम भारत की नई इबारतें लिख रही हैं। समाज को दिशा देने की कोशिश कर रहीं महिलाओं के लिए उद्यम के गुर जानना बहुत जरूरी है। हम आपको बताएंगे कि नए स्टार्टअप के लिए आपको किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

हर महिला उद्यमी के लिए अपने पर यकीन होना, अपनी सोच को मजबूती से सबके सामने बयान कर पाना बहुत महत्वपूर्ण है। महिलाओं को मजबूत इरादे का होना चाहिए। आप जिस बारे में व्यवसाय खड़ा करने को सोच रही हैं वो समाज की हालिया जरूरतों को ध्यान में रखे। लोगों की आवश्यकताओं की नब्ज पकड़ना बहुत जरूरी है।

तकनीक पर निर्भर होती दुनिया में महिलाएं समाज को एक नई दिशा देने में लगी हैं। पुरुषों के उद्यम माने जाने वाले कामों को महिला उद्यमी बड़ी आसानी से साध रही हैं। सामाजिक ताने-बाने और पितृसत्तात्मक समाज को ये महिला उद्यमी आज कड़ी टक्कर भी दे रही हैं।सामाजिक बेड़ियों को तोड़कर बाहर निकली इन महिलाओं ने घर-परिवार, गांव-गिरांव और शहर ही नहीं, यहां तक कि देश-विदेश को भी गर्व की अनुभूति करा रही रही हैं। कल तक इन महिलाओं को अबला कहने वाले मुंह आज इन्हीं महिलाओं की तरक्की पर रश्क कर रहे हैं। अपनी बन्दिशों और दर्द से बाहर आकर सामाजिक रुढ़ियो को आइना दिखाती ये महिलाएं आज स्वावलंबी और स्वर्णिम भारत की नई इबारतें लिख रही हैं। समाज को दिशा देने की कोशिश कर रहीं महिलाओं के लिए उद्यम के गुर जानना बहुत जरूरी है। हम आपको बताएंगे कि नए स्टार्टअप के लिए आपको किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

स्त्री उद्यम को चाहिए एक नया नजरिया

देश में रोजाना 100 से अधिक उद्यम जब दम तोड़ रहे है तो ऐसे में कोई नया काम कैसे चल सकता है? यह एक सामान्य सा पहला सवाल है जो आपके और हमारे दिमाग कुछ करने से पहले आता है; पर यह सवाल ही अपने आप में जवाब है आपको केवल थोड़ा सा सोचने की जरूरत है। अगर रोज कोई न कोई फैक्ट्री या कम्पनी बंद हो रही है तो इसके पीछे की मुख्य वजह क्या है। इसलिए आप जिस बारे में व्यवसाय खड़ा करने को सोच रही हैं वो समाज की हालिया जरूरतों को ध्यान में रखे। लोगों की आवश्यकताओं की नब्ज पकड़ना बहुत जरूरी है।

विचारों की स्पष्टता और दृढ़ निश्चय

हर महिला उद्यमी के लिए अपने पर यकीन होना, अपनी सोच को मजबूती से सबके सामने बयान कर पाना बहुत महत्वपूर्ण है। महिलाओं को मजबूत इरादे का होना चाहिए और प्रारंभिक उद्देश्य से, निष्पादन लेआउट तक, अंत लक्ष्य तक अपने व्यवसाय को स्थापित करने के उद्देश्य से निर्णायक होना चाहिए। यह एक निश्चित रूपरेखा तैयार करना महत्वपूर्ण है- चाहे वह विशुद्ध रूप से जुनूनी डॉमेस्टिक परियोजना हो या इसके लिए एक वाणिज्यिक परिप्रेक्ष्य के साथ वो उतर रही हों।

सीखने में लगातार निवेश करना

ज्ञान प्राप्त करना एक अंतहीन प्रक्रिया है और यह महत्वपूर्ण है कि महिलाओं को अपने व्यापार में नई प्रथाओं को लागू करने के लिए मौजूदा रुझान और सर्वेक्षणों से अवगत हैं। जागरूकता के रूप में घटनाओं, सेमिनारों, कार्यशालाओं में भाग लेने से विचार और समाधान मिलते हैं। उद्यमियों को एक साथ आने और उनके ज्ञान, संघर्ष, समस्याएं और समाधान साझा करने के लाभ के लिए सहकर्मी-सहकर्मी प्लेटफार्म तैयार किए जाते हैं। समय के संदर्भ में थोड़ा सा निवेश करना सफलता को और पास ला देता है।

ज्ञान/ शिक्षण-आधारित नेटवर्किंग की कला सीखना

महिलाओं के अंदर स्वाभाविक रूप से अभिव्यंजक, महान संवादवादी और आनंद लेने के लिए एक नेटवर्कर की खासियत होती है। महिलाओं के लिए व्यावसायिक नेटवर्किंग की परिभाषा को केवल व्यापार-उन्मुख लाभों तक सीमित नहीं होना चाहिए, बल्कि निजी ज्ञान और विकास के क्षितिज का विस्तार करना चाहिए। दिन के अंत में, आपकी कंपनी आपके कंधे पर टिकी हुई है और आप इसे एक नेविगेट कर रहे हैं। नेटवर्किंग आपके काम के साथ-साथ चलनी चाहिए।

समय प्रबंधन

प्रत्येक दिन के लिए एक समर्पित समयरेखा के साथ काम करने की आदत डालनी चाहिए। दिन की सभी गतिविधियों के लिए महिलाओं को समय की सही राशि आवंटित करना उन्हें नियमित दिनचर्या की आदती बनाना शुरू कर सकता है। यह चेकलिस्ट न केवल दैनिक कार्यकलापों को एक कुशल तरीके से मैनेज करने की नजर रखता है बल्कि लक्ष्य पूरा करने के लिए एक प्रेरक बेंचमार्क के रूप में भी कार्य करता है और आपकी मानसिक स्थिति को बहुत प्रभावित कर सकता है।

काम और घर की प्राथमिकताएं

महिलाओं के लिए प्राथमिकता एक प्रमुख कारक है। यह महत्वपूर्ण है कि महिलाओं के लिए प्रत्येक गतिविधि का आंकलन करने और प्राथमिकता के अनुसार अपनी गतिविधियों को रैंक करने की कुशलता जरूरी है। काम पर और घर पर भी उनकी अपनी चुनौतियां हैं। अपने आप से सवाल पूछिए कि गतिविधियों की योजना में, कौन सा कार्य अत्यंत महत्वपूर्ण है? एक बार जब आप अपनी गतिविधियां तैयार कर लेंगी तो प्रतिनिधिमंडल और निष्पादन के काम बहुत तेजी से हो सकते हैं। अंत में, यह आपके सभी प्राथमिकताओं को एक सहकर्मी तक पहुंचने के लिए संरेखित करता है।

ये भी पढ़ें- छुपा कर अंडरगारमेंट्स सुखाने वाले देश में कैसे सफल हुआ एक ऑनलाइन लॉन्जरी पोर्टल

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...

Related Stories

Stories by yourstory हिन्दी