“Focuz Studios”, शादी के खूबसूरत पल को बनाये यादगार

चेन्नई में है “Focuz Studios”शहर के तीन नामचीन फोटो स्टूडियो में शामिल “Focuz Studios”1.25 लाख से लेकर 15 लाख रुपये तक करते हैं चार्ज “Focuz Studios” की टीम में 10 सदस्य150 से ज्यादा शादियों की फोटग्राफी का है अनुभव

0

अपने रंगीन सपनों को पूरा करने के लिए हकीकत का सामना करना ही पड़ता है। तभी तो चंद्रू भर्ते बचपन में अपने खिलौनों को तोड़ कर ये जानने की कोशिश करते थे कि उनको बनाया कैसे गया है। कुछ नया जानने की इसी चाहत के कारण वो आज चेन्नई में Focuz Studios के सह-संस्थापक है। जो एक वेडिंग फोटोग्राफी स्टूडियो है। इस स्टूडियो को वो सरनराज अन्नामलई के साथ मिलकर चलाते हैं।

“Focuz Studios” की टीम
“Focuz Studios” की टीम

फोटग्राफी ने सरनराज और चंद्रू एक साथ मिलाया। जब उन्होने देखा कि दोनों में वेडिंग फोटोग्राफी को लेकर सोच और जुनून एक समान है। कभी वो एक शादी की फोटग्राफी के लिए 15 हजार रुपये लेते थे आज वो इसी काम के लिए 1.25 लाख से लेकर 15 लाख रुपये तक चार्ज करते हैं। चेन्नई में Focuz Studios की खासी पहचान है।

चंद्रू एक मध्यमवर्गीय परिवार से ताल्लुक रखते हैं। उनके पिता एक कार मैकेनिक हैं और मां गृहणी हैं। चंद्रू को दसवीं की पढ़ाई के दौरान एडोब फोटोशॉप में काम करने का मौका मिला। इसको करने में उनको खूब मजा आया और ज्यादा जानकारी के लिए उन्होने अलग से एक किताब भी खरीदी। जिसके बाद उन्होने डिजाइनिंग और एडिटिंग तकनीक से जुड़ी जानकारी जुटाई। इस दौरान वो अपने एक दोस्त की मदद से घंटों कम्प्यूटर में इस काम की प्रैक्टिस करते। पढ़ाई के साथ साथ वो कंप्यूटर का ज्ञान भी बढ़ाते जा रहे थे और सलेम के एक इंजीनियरिंग कॉलेज से उन्होने मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की। जिसके बाद उनको कई एमएनसी कंपनियों में काम करने का मौका मिला। लेकिन चंद्रू रचनात्मक क्षेत्र में कुछ काम करना चाहते थे। इसलिए उन्होने डिजिटल कंप्यूटर एनीमेशन के क्षेत्र में उतरने का फैसला लिया। इस तरह उन्होने फोटोशॉप डिजाइनर के तौर पर पारंपरिक फोटोग्राफी स्टूडियो में नौकरी शुरू की। साथ ही साथ वो एनीमेशन से जुड़ी पढ़ाई भी करने लगे।

पढ़ाई पूरी करने के बाद चंद्रू को मुंबई में रिलायंस मीडिया वर्क्स में सीजी आर्टिस्ट के तौर पर नौकरी करने का मौका मिला। यहां पर उनको कई नये तुजर्बे हासिल हुए। साथ ही साथ उनको अच्छी आमदनी भी होने लगी। जिसका इस्तेमाल उन्होने परिवार को आर्थिक मुश्किलों से बाहर निकालने में किया। इस दौरान चंद्रू का रूझान फोटोग्राफी की ओर होने लगा। फोटोग्राफी करते हुए चंद्रू की समझ में आ गया कि वो जिस काम में अपना जुनून खोज रहे हैं वो यही है। बस फिर क्या था सबसे पहले उन्होने अपनी अच्छी खासी नौकरी छोड़ फोटो स्टूडियो की शुरूआत की। जो कलात्मक तरीके से शादी की फोटोग्राफी करने का काम करता था। चंद्रू का फैसला गलत नहीं था उनको जल्द ही पहला असाइनमेंट अपने दोस्त की शादी का मिला। इसको उन्होने मौके के तौर पर लिया और फोटोग्राफी में लाइट, रंग और दूसरी चीजों के साथ प्रयोग किये।

“Focuz Studios” के लिए खींची गई एक तस्वीर
“Focuz Studios” के लिए खींची गई एक तस्वीर

चंद्रू के साथी सरनराज की यात्रा थोड़ी अलग रही। इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियर सरनराज को फोटोग्राफी का शौक तब पैदा हुआ जब उनके एक दोस्त ने डीएसएलआर कैमरा खरीदा। धीरे धीरे उनका ये अस्थायी शौक कब जुनून में बदल गया उनको भी पता नहीं चला। इसके बाद उन्होने धीरे धीरे दूसरे कई तरीके के कैमरों में अपना हाथ अजमाना शुरू किया। साथ साथ उन्होने फोटो एडिटिंग सॉफ्टवेयर की ट्रैनिंग भी लेनी शुरू की। धीरे धीरे एक चीज दूसरी से जुड़ती चले गई और जल्द ही वो Focuz Studios के सहसंस्थापक बन गये। अब तक ये दोनों विभिन्न संस्कृतियों से जुड़े कई लोगों की शादी की फोटोग्राफी कर चुके हैं। ये उनका काम ही है जिसने उनको विदेश में भी पहचान दिलाई। तभी तो वो देश में ही नहीं पेरिस, लंदन, बैंकॉक और सिंगापुर जैसे देशों में जाकर शादी की फोटोग्राफी कर चुके हैं।

चंद्रू का कहना है कि उनकी कोशिश अपने ग्राहक को संतुष्ट करने की होती है और इसके लिए वो गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं करते। उनके मुताबिक फोटोग्राफी एक कला है और वो अपने तजुर्बे को सम्मान की नजर से देखते हैं। तभी तो ये लोग अपनी उम्मीदों से बढ़कर अपने काम को अंजाम तक पहुंचा रहे हैं। ये लोग इस बात का ख्याल रहते हैं कि बाजार में इनका काम हर मामले में सर्वश्रेष्ठ हो। ये लोग निरंतर अपने उपकरणों को बाजार की जरूरतों के मुताबिक अपडेट करते रहते हैं। इन लोगों के मुताबिक जब इन्होने अपने काम की शुरूआत की थी तो इनकी अपनी कोई वेबसाइट भी नहीं थी लोग सिर्फ एक दूसरे से मिली जानकारी के आधार पर इनसे सम्पर्क करते, लेकिन तब से अब तक इन लोगों ने एक लंबा रास्ता तय कर लिया है। तभी तो इनकी गणना चेन्नई के टॉप तीन वेडिंग फोटोग्राफर के तौर पर होती है। और ये सब हुआ है आम लोगों की प्रतिक्रिया और उनकी प्रशंसा से। जिसने इन लोगों को आगे बढ़ने में मदद की और ये लोग अपना कारोबार खड़ा करने में कामयाब हो सके। इन लोगों के मुताबिक शुरूआत में लोगों को अपना काम समझाने में काफी दिक्कत होती थी लेकिन अब हालात पूरी तरह बदल गए हैं। तभी तो ये लोग 150 से ज्यादा शादियों की फोटोग्राफी कर चुके हैं। ये लोग एक छोटी सी टीम के साथ काम करते हैं जिसमें कुल 10 सदस्य हैं। चंद्रू के मुताबिक बावजूद इसके इनका काम वर्ल्ड क्लास का है।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...