गाड़ी की टेंशन को कहिए बाय-बाय, ServX के ज़रिए कार सर्विस के झंझट से पाइए छुटकारा

0

कई बार हमें कार की सर्विस कराने के लिए छुट्टी वाले दिन का इंतजार करना पड़ता है और कई बार छुट्टी के दिन कार सर्विस कराने में ही सारा समय निकल जाता है। ऐसा कई बार देखा गया है कि सर्विस कराने वाले को स्टेशन में मौजूद रहकर हर बारीक से बारीक चीज पर नजर रखनी पड़ती है। लेकिन आपसे यह कहा जाए कि यह सारा काम भी आपकी गैरमौजूदगी में हो सकता है, तो आप क्या कहेंगे। अक्सर हम सोचते हैं कि काश कोई होता और हमारी कार को अपनी कार समझकर सर्विस स्टेशन तक ले जाता और उसी केयर के साथ वहां सर्विस कराकर वापस छोड़ जाता है। अब ऐसा मुमकिन हो गया है। पेश है ServX। एक ऐसा प्लेटफॉर्म जो कार और उससे जुड़ी रोजमर्रा की छोटी छोटी जरूरतों को पूरा करती है। कटिंग चाय की चुस्की के साथ पैदा हुआ एक विचार आज की तारीख में ServX के नाम से बाजार में अपनी मजबूत पकड़ बना रहा है।

आकांक्ष सिन्हा और अनुभव दीप ने इस आइडिया पर काम किया और उसे कार्यान्वित किया। उनका लक्ष्य गाड़ियों को उतना ही डिजिटल एसेट बनाना है जितना कि वे आज की दुनिया में भौतिक संपत्ति हैं। कारें हमारी जिंदगी का अहम हिस्सा हैं फिर भी वह हमसे बहुत ही बेमेल रहती हैं। आकांक्ष और अनुभव ने इस विचार के बारे में सोचा कि कैसे कारों और उनके मालिकों को कनेक्ट किया जा सके। इससे पहले ऐसा आइडिया किसी और के पास नहीं आया था और इसी तरह से सर्व एक्स अस्तित्व में आया। संस्थापकों की टीम में बीआईटी मेसरा के छात्र, उनके बैचमेट शुभम अग्रवाल, गौरव श्रीवास्तव और गोवर्धन रेड्डी जो कि आईआईटी दिल्ली के छात्र हैं। ServX की कोर टीम में 15 लोग हैं जिनमें इंजीनियर्स से लेकर डिजाइनर्स तक शामिल हैं। टीम का लक्ष्य ग्राहक सेवा में ServX को उंचाइयों पर पहुंचाना है।

कार सर्विस कराने की प्रक्रिया बहुत ही थकाऊ होती है। कार खरीदने के साथ कुछ असहूलियतें भी अपने आप आ जाती है। और आज की भागदौड़ भरी दुनिया में किसके पास वक्त है कि वह कार सर्विस कराने में पूरा दिन लगा दे।

ServX एक मल्टी ब्रांड, मल्टी व्हीकल प्लेटफॉर्म है। ServX का लक्ष्य ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री के लिए एंड टू एंड सॉल्यूशन बनना है। कंपनी हर गाड़ी से जुड़ी सर्विस को पूरा करती है। चाहे वह आपातकालीन में गाड़ी कहीं से पिक अप करना हो या फिर दरवाजे पर आकर उसे ठीक करना हो। रेगुलर मेंटेनेंस, सर्विसिंग और इंश्योरेंस, बॉडी शॉप मॉडिफिकेशन जैसे काम शामिल हैं। कंपनी ने दिल्ली-एनसीसीआर में 100 से अधिक वेंडरों के साथ करार किया है। यही नहीं कंपनी ने अपने प्लेटफॉर्म पर सभी कार ब्रांड को शामिल करने में कामयाबी हासिल कर ली है।

फिलहाल टीम तीन अहम चीजों पर काम कर रही है। पहला-वे ऐसी तकनीक को विकसित कर रहे हैं जिसके जरिए कार अपनाना और उसे मेंटेन करना आसान हो जाएगा, ServX उद्यम संसाधन योजना को लेकर भी उत्साहित है। दूसरा-कंपनी सक्रिय रूप से सभी मैनुफैक्चरर और वेंडर ग्राहक का डाटा बेस भी बना रही है।तीसरा-जो सबसे रोचक काम कंपनी कर रही है वह है कार सर्विस की लाइव ट्रैकिंग को मुमकिन बनाना।

नवंबर 2015 में लॉन्च होने के बाद से यह स्टार्टअप के पास अब तक 8000 पेज व्यूज मिले हैं। www।servx।in वेबसाइट आने के कुछ समय के भीतर कंपनी को औसतन 20 से 30 ऑर्डर हर रोज मिल रहे हैं।

कंपनी अब तक 2000 कारें सर्विस और मरम्मत करा चुकी है। Servx के सह संस्थापक और सीईओ आकांक्ष सिन्हा के मुताबिक,

"हमारा लक्ष्य यूजर्स के लिए संभावनाओं की एक नई दुनिया खोलना है। तेजी से घटती समय की उपलब्धता ने गाड़ी खरीदने और उसमें सफर करने को हमारे जीवन का विस्तृत हिस्सा बना दिया है। हम ऐसी तकनीक पर काम कर रहे हैं जिसका फोकस जितना हो उतना एकीकरण करना है। जिसे भी आप अपने दिल के करीब रखते हैं उससे जुड़े रहते हैं, हर समय।"

ServX को शुरुआती दिनों में ही एंजेल इनवेस्टमेंट मिल चुका है। फिलहाल कंपनी शीर्ष वेंचर कैपिटल्स से बातचीत कर रही है अपने ए राउंड के निवेश के लिए। कंपनी की सेवा केवल ग्राहकों तक ही सीमित नहीं है बल्कि गाड़ी मालिकों, निर्माताओं और वेंडर्स के लिए मदद के रास्ते निकाल रही है।

सह संस्थापक और सीओओ अनुभव दीप के मुताबिक,

"ये न केवल ग्राहकों तक सर्विस मुहैया कराना है बल्कि उसे इस बात को लेकर जागरुक करना है कि उसके पास कितने सारे विकल्प मौजूद हैं और वह चीजें जिन तक निकट भविष्य में उसकी पहुंच बनेगी।"

शुरुआती दिनों में फंडिंग को लेकर समस्या तो हुई ही साथ ही ग्राहकों को भरोसा दिलाना कि वे बेहतर हैं, उसमें बहुत मेहनत लगी। कोई भी अपनी कार बहुत ही लगन और प्यार से खरीदता है और ऐसे में एक नई कंपनी पर भरोसा कायम कराने में उन्हें काफी मशक्कत करनी पड़ी। सर्वएक्स के चीफ प्रोडक्ट अफसर गोवर्धन रेड्डी के मुताबिक, सर्वएक्स में हम सभी ग्राहकों के लिए वन स्टॉप सॉल्यूशन मुहैया करा रहे हैं, हम गाड़ी अपनाने और उसके संचालन में होने वाली परेशानियों से निपटना चाह रहे हैं। हम अपनी पारदर्शिता और विश्वसनीय सेवा सुनिश्चित करते हुए अपनी तकनीक के साथ उसे मुहैया कराना चाहते हैं। हम चाहते हैं कि लोग अपनी कार को और बेहतर तरीके से जानें और जो समस्या पैदा हो जाती हैं उनके बारे में सचेत रहे हैं हम अपने ग्राहकों की जिंदगी को और बेहतर बनाना चाहते हैं। 


स्टार्टअप से जुड़ी ऐसी ही और कहानियाँ पढ़ने के लिए हमारे Facebook पेज को लाइक करें

अब पढ़िए ये संबंधित कहानियाँ:

मनपसंद केक नहीं मिला तो पति-पत्नी ने शुरू कर दिया स्टार्टअप, अब मनचाहा बेकरी प्रोडक्ट एक क्लिक दूर

आप स्टार्टअप्स हैं और आपकी कंपनी को पीआर, मीडिया से जुड़ी मदद चाहिए? theprophets से जुड़ें.

फर्नीचर रेंट पर चाहिए? जस्ट ऑन रेंट डॉट कॉम क्लिक करें,पाएं चैन की नींद 

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...