अब ग़रीबी कंप्युटर से नहीं मुर्ग़ियों से दूर की जाएगी, संसार के सबसे अमीर बिल गेट्स बांट रहे हैं चूज़े

0

अति ग़रीबी को मिटाना चाहते हैं? अरबपति उद्योगपति बिल गेट्स का कहना है कि दुनिया में अति गरीबी का जवाब कंप्यूटर नहीं मुर्गे हैं। यानी उनके अनुसार अगर दुनिया के ग़रीब लोगों के जीवन स्तर को सुधारना है तो सबसे बढ़िया चीज़ है कि उन्हें कुछ मुर्गे मुर्गियाँ पालन के लिए दी जाएँ न कि इंटरनेट या कंप्यूटर।

माइ्रकोसाफ्ट के संस्थापक गेट्स ने अपनी वेबसाइट गेट्सनोट्स डाट काम पर कहा है,‘मेरे लिए यह बिलकुल स्पष्ट है कि अगर कोई व्यक्ति अति निर्धनता में जी रहा है तो उसके लिए सबसे अच्छा यही होगा कि उसके पास कुछ मुर्गे मुर्गियाँ हों।’

दुनिया के सबसे धनी व्यक्ति गेट्स ने कहा कि उनके बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन ने हाल ही में वैश्विक विकास समूह हेइफर इंटरनेशनल से गठजोड़ किया है, जिसके तहत उप सहारा अ्रफीकी क्षेत्र में उन परिवारों को 1,00,000 चूजे बांटे जाएंगे जो कि दो डालर प्रति दिन से भी कम आजीविका पर जीवन यापन कर रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि गेट्स हर घर तक कंप्यूटर पहुंचाने के अभियान में भी जोर शोर से लगे हुए हैं।

उन्होंने कहा है कि मुर्गीपालन से जहाँ परिवारों को बेहतर रिटर्न मिलता है, उनका देखभाल खर्च कम है और अंडों व मांस से सम्बद्ध परिवार के पोषण में भी सुधार हो सकता है। (पीटीआई)

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...