आईबीएम ने भारत में लॉन्च कीं आर्टिफ़िशियल इंटेलिजेंस आधारित एंटरप्राइज़ मार्केटिंग क्लाउड सर्विसेज़

0

प्रौद्योगिकी क्षेत्र में विश्व की प्रमुख कम्पनी आईबीएम ने बुधवार को भारत में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस संचालित मार्केटिंग एंटरप्राइज़ क्लाउड सेवाओं की शुरुआत की। चेन्नई स्थित आईबीएम के डाटा सेंटर से इन्हें होस्ट किया जाएगा।

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर
 इस भारत-केंद्रित समाधान से, जो कि आईबीएम के वाटसन कस्टमर इंगेजमेंट प्रोग्राम का हिस्सा है, आईबीएम के लिए बैंकिंग और वित्त क्षेत्र से जुड़े अधिक ग्राहकों को हासिल करने और उनकी मदद करने कीं संभावनाएं नज़र आती हैं।

भारत में आईबीएम की आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) द्वारा संचालित एंटरप्राइज़ मार्केटिंग क्लाउड सेवाएं लॉन्च की गई हैं। इन सेवाओं के माध्यम से ग्राहकों को अपना मार्केटिंग डाटा, स्थानीय क्लाउड डाटा सेन्टर पर होस्ट करने का मौका मिलेगा। यह सेवा ग्राहकों को निकटता, मापनीयता, और नियामक आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद करेगी। प्रौद्योगिकी क्षेत्र में विश्व की प्रमुख कम्पनी आईबीएम ने बुधवार को भारत में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस संचालित मार्केटिंग एंटरप्राइज़ क्लाउड सेवाओं की शुरुआत की। चेन्नई स्थित आईबीएम के डाटा सेंटर से इन्हें होस्ट किया जाएगा।

कंपनी का दावा है कि यह मूल्यवर्धन सेवा भारतीय कम्पनियों को देश में ही अपने उपभोक्ता डाटा को होस्ट करने में सक्षम बनाएगी। इस सेवा के माध्यम से भारतीय कम्पनियां स्थानीय नियमों का अनुपालन और बेहतर ढंग से कर पाएंगी। वर्तमान समय में टाइटन, इंडसइंड बैंक और पेबैक जैसी कंपनियां ग्राहकों के डाटा विश्लेषण के लिए आईबीएम के वॉटसन कस्टमर इंगेजमेंट प्रोग्राम का लाभ उठा रही हैं।

आईबीएम इंडिया के प्रबंध निदेशक करण बाजवा ने कहा "भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती डिजिटल अर्थव्यवस्थाओं में से एक है और आने वाले वर्षों में ट्रिलियन डॉलर की डिजिटल अर्थव्यवस्था बनने के लिए तैयार है। 2022 तक हमारे पास 90 प्रतिशत मोबाइल निवेश और अनुमानित 850 मिलियन इंटरनेट उपयोगकर्ता होने का अनुमान है। कंपनियां तेजी से डाटा आधारित अंतर्दृष्टि को अपने ग्राहकों के साथ जुड़ने और व्यक्तिगत अनुभव बनाने की कोशिश कर रही हैं और इस दिशा में आगे बढ़ रही हैं। इस घोषणा के साथ, हम अपने ग्राहकों को डिजिटल मार्केटिंग स्पेस में डाटा का लाभ उठाने के लिए क्लाउड और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की शक्ति प्रदान करने में सक्षम होंगे।"

आईबीएम एशिया-पैसेफिक के चेयरमैन और सीईओ हैरियट ग्रीन ने कहा, "1 अरब से अधिक लोगों द्वारा उत्पन्न होने वाला डाटा भारी मात्रा में है और इसी कारण भारत, डाटा क्रांति का नेतृत्व करने के लिए तैयार है। कई कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारी इस बात में रुचि रखते हैं कि सुरक्षा, डाटा गोपनीयता, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और क्लाउड के जरिए वह कैसे अपने व्यापार को बदल सकते हैं।

इस सेवा के लॉन्च के साथ, अब हम भारत में हमारे क्लाउड डाटा सेंटर से दुनिया का सबसे अच्छा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस संचालित मार्केटिंग क्लाउड समाधान प्रदान करते हैं। यह हमें देश के डाटा सुरक्षा और गोपनीयता नियमों को अनुपालन करते हुए, हमारे ग्राहकों को क्लाउड और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के इस्तेमाल का अद्वितीय अनुभव प्रदान करता है और उन्हें इसका लाभ उठाने में सक्षम बनाता है।"

कंपनी के अधिकारियों ने कहा कि इस भारत-केंद्रित समाधान से, जो कि आईबीएम के वाटसन कस्टमर इंगेजमेंट प्रोग्राम का हिस्सा है, आईबीएम के लिए बैंकिंग और वित्त क्षेत्र से जुड़े अधिक ग्राहकों को हासिल करने और उनकी मदद करने कीं संभावनाएं नज़र आती हैं।

यह भी पढ़ें: अमेरिकी ऑटो इंडस्ट्री में पहली सीएफओ बनीं चेन्नई की दिव्या

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...