शादी को कामयाब और यादगार बनाने इवेंट मैनेजमेंट उद्यमी आशु गर्ग के 10 आज़माए हुए नुस्क़े

आशु गर्ग ने व्यापार, वाणिज्य और उद्योग विरासत में पाया है। आम तौर पर इस तरह के परिवारों में सबकुछ पाकर संतुष्ट होने की भावना नयी पीढ़ी में बनी रहती है, लेकिन आशु गर्ग ने कुछ लेने के बजाय उद्योग जगत को कुछ देने की सोच से काम किया और ब्राडफोर्ट यूनिवर्सिटी यूके से एमबीए की डिग्री प्राप्त करने के बाद वे कुछ दिन तक तो परिवार के व्यापार के साथ जुड़े रहे, लेकिन फिर उन्हें नयी दुनिया की तलाश नये नये क्षेत्रों तक ले गयी। रियल एस्टेट, व्यापार, ट्रावेल, टुरिज्म, शिक्षा तथा मॉल एवं आतिथ्य उद्योग में उन्होंने अपने पदचिन्ह छोड़े हैं। जीटीए गुड टाइम् कांसेप्ट्स(जीटीएस) ने इवेंटस मैंनेजमेंट में अपनी खास पहचान बनाई है। आइए जानते हैं कि शादी को यादगार बनाने के लिए क्या कहते हैं आशु गर्ग...

0

वो दिन गए जब शादियों की तैयारियों का ध्यान आपके नाते-रिश्तेदार महीनों पहले से ही रखना शुरु कर देते थे...। तब लोगों के पास इन सब चीजों के लिए वक्त रहता था लेकिन आज आप और हम सभी के पास जिसकी सबसे ज्यादा कमी है वो है वक्त। ऐसे में शादियों की तैयारियों का जिम्मा कौन ले ? कौन ये देखे कि सब कुछ ठीक से हो रहा है? इन्हीं सब सवालों का जबाव है वेडिंग प्लानर और इसके आगे आजकल न्यू एज बज वर्ड है वेडिंग आर्किटेक्ट। जी हां, ये वेडिंग आर्किटेक्ट ही हैं जो बड़ी-बड़ी शादियों का जिम्मा ना सिर्फ उठा रहे हैं बल्कि उसे पूरी जिम्मेदारी से पूरा भी करते हैं। अब आप पूछेंगे कि आखिर ये वेडिंग आर्किटेक्ट कौन हैं? तो जान लीजिए, ये वेडिंग आर्किटेक्ट शादियों के कार्यक्रमों को सही तरीके से पूरा करवाने वाले प्रोफेशनल्स की एक ऐसी टीम है जो आपकी शादी के दौरान निभाए जाने वाले सभी रिचुअल्स का खास ध्यान रखती है। इतना ही नहीं ये लोग आपके मेहमानों के खान-पान का भी विशेष ध्यान रखते हैं। अपने काम करने के अंदाज की वजह से वेडिंग आर्किटेक्ट आजकल डिमांड में बने हुए हैं। ये वेडिंग आर्किटेक्ट, डेस्टिनेशन वेडिंग और थीम वेडिंग के लिए अपने क्लाइंट्स से  जानकारी मिलने के बाद उसकी तैयारी में जुट जाते हैं ताकि आपकी शादी को यादगार बनाया जा सके।

चलिए आज हम एक ऐसी वेडिंग आर्किटेक्ट के बारे में आपको बताते हैं जो आपकी शादी को यादगार बनाने के लिए सालों से इस काम में जुटे हैं। जी हां गुड टाइम्स कॉन्सेप्ट्स ऐसी ही एक वेडिंग आर्किटेक्ट कंपनी है। इसके संस्थापक आशु गर्ग ने अपने इस सफर में कई शादियों को यादगार बनाया है वो भी कम खर्चों में। योर स्टोरी से बात करते हुए संस्थापक आशु गर्ग बताते हैं कि अगर हम कुछ बातों का ध्यान रखें तो शादियों में होने वाले अनावश्यक खर्चे में कटौती की जा सकती है।

शादियों में जिन बातों का खासा ध्यान रखा जाए तो हम अपने बजट को कम रख सकते हैं। वैवाहिक समारोह उल्लास से भरा और रोमांचकारी, मनोरंजक एंव साथ ही खर्चीले होते हैं। एक प्रचलित कहावत के मुताबिक जिंदगी की सबसे अच्छी चीजें या तो मुफ्त मिलती है या वो वाकई बहुत ही महंगी होती है। गुड टाइम्स कॉन्सेप्ट्स के संस्थापक आशु गर्ग ने योर स्टोरी से बात करते हुए बताया कि आजकल डेस्टिनेशन वेडिंग का क्रेज काफी बढ़ रहा है। तो यदी आप डेस्टिनेशन वेडिंग की योजना बनाते हैं तो आशु गर्ग के मुताबिक आपको इन दस बातों का ख्याल रखना चाहिए:

1-शादी के लिए होटल-रिजॉर्ट की एडवांस बुकिंग करें

अगर शादी पहले से तय है तो समय से वेडिंग के लिए तय स्थान की बुकिंग कर लें। अगर इसे एक साल पहले बुक करते हैं तो ये काफी कम खर्च में ही आपको मिल जाएगा। इसके अलावे एडवांस बुकिंग से आपको लास्ट मिनट वाली दिक्कतों से निजात मिलेगी और पैसे भी कम खर्च होंगे।

2-मौसम के मुताबिक करें स्थान का चयन

अगर आपको भारत में वेडिंग डेस्टिनेशन सिलेक्ट करने हैं तो मौसम का ध्यान जरुर रखें। क्योंकि हमारे देश के अलग-अलग हिस्सों में मौसम अलगर-अलग होते हैं सो स्थान का चुनाव पहले से हो जाने से शादी में आने वाले रिश्तेदारों और दोस्तों को वहां पहुंचने और तैयारी के लिए वक्त मिल जाएगा।

3-किसी वेडिंग प्लानर को नियुक्त करें

डेस्टिनेशन वेडिंग के लिए बहुत ही योजनावद्ध तरीके से काम करना होता है ऐसे में ये आपके लिए तनावपूर्ण साबित हो सकता है। अत अच्छा ये होगा कि किसी वेडिंग आर्किटेक्ट या वेडिंग प्लानर को इसके लिए नियुक्त करें।

4-परोसे जाने वाले भोजन के बारे में जान लें

डेस्टिनेशन वेडिंग जिस स्थान पर किया जाना है उस जगह के खान-पान और व्यंजनों की जानकारी हासिल कर लें। क्योंकि हमारे देश में अलग-अलग हिस्सों में अलग-अलग डिश पसंद किए जाते हैं। हर राज्य का कुछ ना कुछ खास डिश है सो आने वाले मेहमानों और स्थान का ध्यान रख कर ही मेन्यू फिक्स करें। भोजन अगर अच्छा नहीं मिला तो आपके मेहमान शादी को इंज्वाय नहीं कर पाएंगे।

5-वेडिंग के लिए ले जाने वाले सामानों की लिस्ट

सबसे पहले शादी में ले जाए जाने वाले सामानों की एक लिस्ट बनाएं और उसे एक स्थान पर जुटा कर रखें। कहीं जाने की जल्दबाजी में आप कोई ऐसी चीज भूल ना जाएं जो मुश्किल पैदा करे। क्योंकि शादी के लिए आप दूसरे शहर जाएंगे तो वहां से छूटे हुए सामान के लिए वापस लौटना संभव नहीं हो पाएगा सो पहले से ही लिस्ट बनाकर उसकी तैयारी करना ठीक रहेगा।

6-दुल्हन के लिए जरूरी चीजों की सूची

अगर आप वेडिंग प्लानर की मदद नहीं ले रहे हैं तो दुल्हन के लिए जरूरी चीजों की लिस्ट पहले से ही बना लें। इससे आप लास्ट मिनट की भागमभाग से बच सकते हैं। मेहंदी वाला फोटोग्राफर और ब्राइडलमेकअप आदी जरूरी चीजें लास्ट मिनट में तय करना ठीक होता।

7-कुछ जरूरी दवाई साथ लेना ना भूलें-शादी के लिए जाने वक्त सिरदर्द-पेट दर्द और बुखार जैसी समस्याओं के लिए कुछ जरूरी दवाएं लेना ना भूलें। दूर-दराज में डेस्टिनेशन वेडिंग के लिए जाने पर ये बहुत ही सहयोगी साबित होता है।

8-मेहमानों की सूची पहले से ही बना लें

शादी में जाने वाले मेहमानों की सूची चार से पांच महीने पहले ही बना लें जिससे कि किसी का नाम छूट न जाए। वक्त रहते ही निमंत्रण भेजने से आने वाले मेहमानों को अपनी तैयारी करने और टिकट बुक करने के लिए वक्त मिलेगा और ज्यादा दोस्त-रिश्तेदार आपकी शादी में शामिल हो पाएंगे।

9-रूट मैप की जानकारी देना जरूरी

शादी में आने वाले मेहमानों से बात कर उन्हें रूट मैप की जानकारी दें। इसके अलावे इनविटेशन कार्ड और वर्चुअल कार्ड पर भी रूट मैप जरूर दें ताकि आने वाले महमानों को पहुंचने में दिक्कत ना हो।

10-सेलिब्रिटी मैनेजमेंट

भारत की भव्य शादियों में इन दिनों सेलिब्रिटी कलाकारों के परफॉरमेंस का रिवाज बढ़ गया है। सिंगर या अभिनेता-अभिनेत्रियों को बुलाये जाने की स्थिति में उन्हें पहले से ही बुक कर लें। लास्ट मिनट में या तो आपको पसंदीदा सेलिब्रिटी नहीं मिल सकेगा या आपको इसके लिए काफी ज्यादा कीमत चुकानी होगी। शादी की तारीख नजदीक होने पर भी आपको ज्यादा पैसे खर्च कर इन्हें बुक करना पड़ेगा सो कुछ महीने पहले ही इसका प्रबंधन करना उचित होगा।

इन सब बातों के अलावे जो सबसे जरूरी बात है वो है बजट पर चर्चा करना। किसी भी शादी के लिए ये जरूरी है लेकिन खासकर डेस्टिनेशन वेडिंग के लिए तो औरर भी जरूरी है। अति उत्साह में शादी करने वाले जोड़े या घर वाले इस पहलु की चर्चा पहले नहीं करते और बाद में फंडिंग की मुश्किल आ जाती है। ऐसे में स्थान और बजट की चर्चा सबसे पहले कर लेने से आपकी राह आसान हो जाएगी।

और अगर इन सब चक्करों से आप खुद को फ्री रखना चाहते हैं और चाहते हैं शादी का लुत्फ पूरी तरह से उठाया जाए वो भी इन सब झंझटों से दूर रहते हुए तो गुड टाइम्स कॉन्सेप्ट्स की बेवसाइट पर जाईए और पूरी जानकारी हासिल करने के बाद अपनी शादी के लिए एक वेडिंग आर्किटेक्ट को चुनिए जिससे कि जन्नत में बने जोड़े की शादी के रस्मों रिवाज का लुत्फ आप उठा सकें।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...