एक क्लिक में लीजिए डॉक्टर से कंसल्टेशन

Medical Second Opinion की क्रांतिकारी पहल

0

भारत में हेल्थकेयर की स्थिति बेहद खराब है खासकर तब जब हम पश्चिम और कुछ दूसरे विकासशील देशों से तुलना करते हैं। हालांकि, पिछले कुछ सालों से नई तकनीक और इनोवेशन की वजह से हेल्थकेयर की हालत में सुधार आया है। मेट्रो और टियर-1 शहरों में जहां अच्छे डॉक्टर उपलब्ध हैं, वहीं टियर-2 और टियर-3 शहरों में कंसल्टेशन के लिए एक्सपर्ट डॉक्टरों की अब भी कमी है।

इसी खाई को पाटने के लिए Medical second Opinion (MSO) जाने-माने डॉक्टरों से कंसल्टेशन का एक प्लेटफॉर्म मुहैया कराता है। अपने नाम की तरह ही ये प्लेटफॉर्म भी सेकेंड ओपिनियन की प्रकृति का है। ये स्टार्टअप देश के कोने-कोने में मरीजों को उनके मेडिकल कंडीशन के हिसाब से बगैर कोई यात्रा किये ही सर्वश्रेष्ठ कंसल्टेशन की सुविधा देता है।

गुड़गांव स्थित इस कंपनी के पास सेकेंड ओपिनियन कंसल्टेशन के लिए एक उच्च स्तरीय विश्वसनीय पैनल है। शुरुआत में कंपनी को कुछ व्यवहारिक दिक्कतों का सामना करना पड़ा। MSO के को-फाउंडर और सीईओ सचिन चौधरी बताते हैं, “शुरुआत में हमें टॉप डॉक्टरों को इस बिल्कुल ही नए कॉन्सेप्ट से जोड़ने के लिए राजी करने में कुछ दिक्कतों का सामना करना पड़ा। मगर जब कुछ बड़े नामों के साथ समझौते हो गए तो दूसरे विशेषज्ञों को बोर्ड में जोड़ने में आसानी हो गई।”

पिछले साल जुलाई में 20 डॉक्टरों के बोर्ड के साथ आगाज करने वाले MSO के पास 80 से ज्यादा जाने-माने डॉक्टरों का पैनल है। पैनल में मेदांता मिडिसिटी गुड़गांव के नरेश त्रेहन, एशियन हार्ट इंस्टीट्यूट मुंबई के डॉक्टर रमाकांत पांडा, नोवा स्पाइन एंड आर्थोपेडिक्स इंस्टीट्यूट दिल्ली के डॉक्टर हर्षवर्धन हेगड़े, अपोलो चेन्नई के डॉक्टर आनंद खाखर, शैलबी हॉस्पिटल अहमदाबाद के डॉक्टर विक्रम शाह जैसे 70 दूसरे डॉक्टर शामिल हैं।

सचिन आगे कहते हैं, “शुरू-शुरू में क्लाइंट ऑनलाइन मेडिकल सलाह लेने में हिचक रहे थे। मगर हमारे रेगुलर हेल्थ कैंप और माउथ टू माउथ रेफरेंस से लोगों में विश्वास बढ़ा जिसने और लोगों को हमारे प्लेटफॉर्म की तरफ आकर्षित किया।”

MSO हॉस्पिटल नेटवर्क के मॉडल की तरह ही एक वर्चुअल हॉस्पिटल है। सबसे बड़ी बात ये है कि हमारे पास जो डॉक्टर हैं उनसे आप 50 रुपये से लेकर 1000 रुपये में कंसल्टेशन ले सकते हैं। आम तौर पर इनसे इस रेंज में आप कंसल्टेशन नहीं ले सकते। सचिन कहते हैं, “हमारी कोशिश है कि हर स्पेशलिटी में कम से कम 5 से 7 डॉक्टरों की सुविधा उपलब्ध रहे।”

MSO की सेवाओं में My Health Record, Freedom Health Card और Connected OPD शामिल है। My Health Record में मरीज के हेल्थ रिकॉर्ड का ऑनलाइन विवरण, Freedom Health Card के जरिये देश भर में चुनिंदा अस्पतालों में डिस्काउंट की सुविधा और Connected OPD के जरिये देश भर में एमएसओ OPD सेंटर पर मरीजों को अपने ही होम टाउन में कंसल्टेशन सुविधा मुहैया कराया जाता है, जो देश के विभिन्न शहरों में यात्रा करने वाले डॉक्टरों के पैनल के जरिये होता है।

MSO को फिलहाल किसी प्रतिस्पर्धा का सामना नहीं करना पड़ रहा है, क्योंकि ये हमारी एक्सक्लूसिव सर्विस है और इस क्षेत्र में MSO के अलावा अभी कोई और नहीं है। सचिन बताते हैं, “हमें खुशी होती है कि हमारे ज्यादातर यूजर्स टियर 2 और टियर 3 शहरों के रहने वाले हैं।” MSO के रजिस्टर्ड यूजर्स में करीब 60 फीसदी जयपुर, अजमेर, चंडीगढ़, पटना, हरिद्वार जैसे शहरों के लोग हैं। इनमें नौकरीपेशा वाले लोगों की अच्छी-खासी तादाद है।

कंपनी अब वीडियो और मोबाइल कंसल्टेशन की सुविधा की योजना बना रही है। इस बारे में सचिन बताते हैं, “हम अगले 6 महीनों में अपना विस्तार करने जा रहे हैं। सिंगापुर, अमेरिका और ब्रिटेन में भी डॉक्टरों को जोड़ने के लिए विभिन्न चरणों में बातचीत चल रही है।”

MSO ने हाल ही में नेपाल, श्रीलंका और अफ्रीका में ज्वॉइंट वेंचर के लिए डील साइन की है और वहां इसके सब्सिडियरी को स्थापित करने का काम चल रहा है। इसके अलावा एप्पल, एंड्रायड और ब्लैकबेरी पर काम करने वाले एक मोबाइल ऐप का काम भी आखिरी चरण में है।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...