कलाकार, अभिनेता, मॉडल, संगीतकार और फिल्म निर्माता के लिए एक मंच 'Greenroom'

पूर्व स्टार प्लस कर्मचारी और सीरियल उद्यमी ने कलाकारों, कर्मीदल और सामग्री उत्पादकों के लिए एक ऑनलाइन मंच 'Greenroom' स्थापित किया

0

टेलीविजन उद्योग में दस से अधिक वर्षों के अनुभव, स्टार प्लस और एनडीटीवी में काम करने के बाद, लक्ष्मी बालसुब्रमण्यन ने 'Greenroom' की स्थापना की. उनके सह-संस्थापक प्रवीण कोका, एक तकनीक उद्यमी, अन्वेषक, और उत्पाद विशेषज्ञ हैं. प्रवीण ने भारत और अमेरिका दोनों में ही एक जीपीएस और आरएफ प्रौद्योगिकी आधारित उद्यम की की शुरुआत की और सफलतापूर्वक उसे आगे बढ़ाया.' Greenroom' को आगे बढ़ाने के लिए इस साल की शुरुआत में उन्होंने वह उद्यम छोड़ दिया.

'Greenroom' एक प्रतिभा बाजार है जहां कलाकार, कर्मीदल और सामग्री निर्माता एक दूसरे से जुड़ कर काम के लिए सहयोग कर सकते हैं. लक्ष्मी के मन में 'Greenroom' का विचार पिछले साल मुंबई से बेंगलुरु स्थान्तरित होते समय आया. वह कॉर्पोरेट फिल्मों के लिए एक स्वतंत्र निर्माता के रूप में काम करने के लिए इस शहर में आई थीं. "मुझे एहसास हुआ कि यद्यपि मैं 10 साल के करीब से इस उद्योग में काम कर रही हूँ, लेकिन इसके बावजूद मुझे इस नए शहर में शून्य से शुरुआत करनी थी. मुझे अपनी फिल्मों के लिए अभिनेता और कर्मी दल ढूँढना अविश्वसनीय रूप से मुश्किल था, और मैं सही लोगों तक पहुँचने के लिए अपने दोस्तों और पुराने सहयोगियों से कह रही थी.' लक्ष्मी कहती हैं.

इस बात ने लक्ष्मी और प्रवीण को सोचने पर मजबूर कर दिया. इस समस्या का समाधान खोजने से न केवल लक्ष्मी को चीजो को क्रमबद्ध करने में मदद मिलने वाली थी बल्कि, यह पूरी तरह से कास्टिंग और कर्मी दल के भर्ती की पूरी पद्धति को बदल देने वाला था.

लक्ष्मी कहती हैं, "एक तरफ, प्रदर्शन कला या तकनीकी की अपार रचनात्मक प्रतिभा होती है, जबकि उन्हें 'ब्रेक' पाने के लिए चर्चा या संपर्कों पर निर्भर रहना पड़ता है. दूसरी ओर, कास्टिंग और कर्मी दल की प्रक्रिया हमेशा बहुत थकाऊ और अफरा तफरी वाली होती है." यही वो समस्या थी जिसका हम समाधान चाहते थे. हम पहले से ही सफलतापूर्वक कुछ सामग्री निर्माताओं की कलाकारों और कर्मी दल की जरूरतों को पूरा कर चुके हैं." लक्ष्मी कहती हैं.

यह मंच एक आसान तरीके से काम करता है. यहाँ इस साइट पर, कलाकार, अभिनेता, मॉडल, संगीतकार और फिल्म निर्माता अपना प्रोफाइल बना सकते हैं जिसे निर्माता टीमों द्वारा देखा जा सकता है. इसी तरह सामग्री निर्माता साइट पर अपनी आवश्यकताओं को पोस्ट कर सकते हैं.

हमने वास्तव में कुछ अच्छी प्रतिभाओं को हमारे साथ पंजीकृत किया है, और हमारी शुरुआत के कुछ ही महीनों में हमने कुछ अच्छे संबंध बना लिए है." लक्ष्मी कहती हैं.

पोर्टल की स्थापना के बाद इस जोड़ी ने फेसबुक पर अपने उद्यम की घोषणा की. उन्होंने कुछ इंटर्न के साथ विपणन और कॉस्टिंग के लिए काम करते हुए, कुछ तकनीकी लोगों को भर्ती किया. "हम ने वर्तमान में कुछ स्वतंत्र मीडिया पेशेवरोंको भर्ती किया है जो विभिन्न धाराओं (संगीत, फिल्मों) में विशेषज्ञों के रूप में हमारे साथ काम करने वाले है." लक्ष्मी कहती हैं.

ज्यादातर स्टार्टअप की तरह इन्हे भी अपनी मूल टीम के सदस्यों की भर्ती करना सबसे मुश्किल काम था. वो उच्च वेतन का भुगतान करने स्थिति में नहीं थे. तो फिर उन दोनों ने लोगों की भर्ती के लिए ऐसे पूर्णकालिक कर्मचारियों की खोज शुरू कर दी जो चुनौतीपूर्ण स्टार्टअप के वातावरण में काम करने के लिए तैयार हों और वास्तव में कंपनी के दर्शन के बारे में समझते हों.

मार्च में शुरू किये गए 'Greenroom' में 30 फीसदी प्रति माह की दर से वृद्धि हुई है. अभी लगभग 4000 उपयोगकर्ता और लगभग 150 नौकरियां सूचीबद्ध है.

लक्ष्मी कहती हैं कि आज कि तारीख में ‘Greenroom’ की तरह ऑफ़/ऑनलाइन कास्टिंग और कर्मी दल का ख्याल रखने वाला कोई अन्य ऑनलाइन पोर्टल नहीं है. 'Greenroom' मुख्यधारा के अवसरों के साथ ही स्वतंत्र अवसरों की सूचना भी लोगों को प्रदान करता है.

वैश्विक रिपोर्टों के अनुसार, कास्टिंग और प्रतिभा के अधिग्रहण का ऑनलाइन व्यापार लगभग 591 मिलियन डालर के करीब है. और ऑनलाइन प्रतिभा अधिग्रहण का बाजार अमेरिका, यूरोप और सिंगापुर में आम है.

"हम 'Greenroom' को वो जगह बना देना चाहते हैं जहाँ से रचनात्मक प्रतिभा की खोज प्रारम्भ हो. हम 'Greenroom' को कास्टिंग मंच के रूप में उपयोग करने के लिए सभी मीडिया कंपनियों- विज्ञापन फिल्म प्रोडक्शन हाउस, टीवी और फिल्म प्रोडक्शन हाउस की पहली पसंद बना देना चाहते हैं. 'Greenroom’ के माध्यम से कास्टिंग और कर्मी दल की भर्ती एक आदर्श बन जाना चाहिए." लक्ष्मी कहते हुए अपनी बात समाप्त करती हैं.

Website: https://greenroomnow.com/about


यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...