कंटेंट की नहीं होने देंगे कमी, Ivyclique का दावा

कंटेंट जेनरेशन प्लेटफॉर्म है IvycliqueIvyclique पर तीन तरह के कंटेंट मौजूदIvyclique के पास 80 टॉपिक्स पर कंटेंट 3 महीने में एक लाख यूनिक विजिटर्सवेबसाइट पर 7 हजार से ज्यादा आर्टिकल्सफेसबुक पर 40 हजार से ज्यादा फॉलोवर्स

0

न्यूयॉर्क में इनवेस्टमेंट बैंकर अंजन पुरंदरे एक रात अपने रूटीन 17-18 घंटे के काम से वापस घर लौटे। वह इतना थके हुए थे कि अपनी ही 10 हफ्ते की बेटी को नहीं पहचान पाए। उन्होंने फैसला किया कि अब वह जिंदगी को इस तरह नहीं जीएंगे।

अंजन कहते हैं- मैंने महसूस किया कि जैसे में एक्सेल शीट में ही उलझ गया हूं और किसी मशीन के जैसे काम करते हुए मैं जिंदगी की छोटी-छोटी खुशियों का भी मौका खो रहा हूं।

और यहां उनके पास वह करने का मौका था जिसे वो प्यार करते थे। वह मूविज के लिए स्क्रिप्ट राइटिंग के काम पर अपना हाथ आजमाना चाहते थे। मगर उन्होंने महसूस किया कि फ्लिपबोर्ड के जैसा एक ऑनलाइन कंटेंट बैंक का आइडिया बिजनेस में कामयाबी के लिहाज से अच्छा रहेगा। और यहीं से Ivyclique की शुरूआत हुई।

अतीत के झरोखों से

जब उनके करियर की बात आती है तो अंजन हमेशा से फाइनेंस के कीड़े रहे हैं। उन्होंने अपने स्टार्टअप से पहले ज्यादातर समय रिलायंस, Deutsche Bank, आईसीआईसीआई बैंक जैसे फर्म्स में इनवेस्टमेंट मैनेजर के तौर पर गुजारा। 2013 में अमेरिका से वापस आने के बाद उन्होंने इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस, हैदराबाद में एमबीए में दाखिला लिया। अंजन खुद को एक राइटर औऱ मूवीमेकर समझते थे और उन्हें जब भी समय मिलता था वो डूबकर, तल्लीन होकर पढ़ा करते थे।

यूरेका मोमेंट

अंजन को ऑनलाइन कंटेट्स खंगालने के बाद महसूस हुआ कि इनका स्तर बेहद खराब है। उन्होंने एक ऐसा चैनल बनाने का फैसला किया जहां लोग प्रीमियम कंटेंट पा सकें और उन्हें तमाम सोशल प्लेटफॉर्म्स पर शेयर कर सकें।

अंजन बताते हैं- “मैंने हमेशा एक ऐसे प्लेटफॉर्म के बारे में सोचा जहां ना सिर्फ मुझे प्रीमियम कंटेट मिल सके बल्कि मुझे भी अपने कंटेंट शेयर करने का मौका मिले ताकि उनके बारे में फीडबैक के आधार पर मैं आगे का कोई फैसला ले सकूं। आजकल लोग इस काम को सिंपल ब्लॉग्स के जरिये करते हैं। मगर मैं एक ही छत के नीचे सब कुछ चाहता था।”

जैसे ही अंजन ने ISB से अपना ग्रेजुएशन पूरा किया, वह इस आइडिया पर काम करना शुरू कर दिया। Ivyclique इस साल अप्रैल में लॉन्च करने के लिए तैयार था।

Ivyclique आखिर है क्या?

ये एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां तीन तरह के कंटेंट हैं- इन-हाउस राइटर्स या Ivyclique डेस्क के लिखे हुए आर्टिकल्स, सोशल मीडिया की ट्रेंडिंग स्टोरीज और यूजर्स के लिखे कंटेंट।

Ivyclique के पास 80 टॉपिक्स पर कंटेंट हैं जबकि Ivyclique डेस्क पर 20 राइटर हैं जो विभिन्न टॉपिक्स पर प्रति दिन 25 से ज्यादा कंटेंट तैयार करते हैं।

तमाम कंटेंट्स के अलावा इस प्लेटफॉर्म पर कुछ फन एलिमेंट्स भी हैं। Ivyclique पर एक ‘Create Playlist’ बटन भी है। जब इसके बारे में हमने अंजन से पूछा तो उन्होंने बताया कि ये यूजर्स के लिए बहुत ही उपयोगी है। प्लेलिस्ट एक दूसरे से जुड़े कंटेट का कलेक्शन है जो यूजर्स को अपनी रूचि और पसंद के कंटेंट को पढ़ने में मदद करता है। यूजर्स चाहे तो कंटेंट को कस्टमाइज कर सकता है। वह डॉक्यूमेंट्स, PPTs, वीडियो, इमेजेज आदि को अपने प्लेलिस्ट में कस्टमाइज कर सकता है। इन कंटेंट्स और Ivyclique के दूसरे कंटेंट्स को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर शेयर किया जा सकता है।

अंजन आगे बताते हैं- “मान लीजिए कि आप एक एक्टर हैं। आप अपने पोर्टफोलियो इमेजेज, खुद पर लिखे गए न्यूज़/आर्टिकल्स/फीचर्स और अपने यू-ट्यूब वीडियो को मिलाकर अपना प्लेलिस्ट क्रिएट कर सकते हैं। इसके बाद ये शेयर भी किया जा सकता है। आप इसे एक सिंपल ब्लॉगर्स पेज की तरह भी इस्तेमाल कर सकते हैं और इसमें अपनी राय लिख सकते हैं, इसे शेयर कर सकते हैं।”

प्लेटफॉर्म पर चैट के लिए रियल टाइम सिस्टम #clique है। इसके जरिये कंपनियां अपने प्रोडक्ट्स के बारे में फीड बैक के लिए Ivyclique यूजर्स से लाइव चैट कर सकती हैं।

Ivyclique एक फ्री एंड्रायड ऐप के रूप में भी उपलब्ध है और इसमें वो सारे फंक्शंस हैं जो कि वेबसाइट पर मौजूद हैं।

बेहतरीन

अंजन के मुताबिक वेबसाइट पर 7 हजार के करीब आर्टिकल्स हैं। पिछले 3 महीनों में इसे एक लाख यूनिक विजिटर्स ने देखा है। बहुत सारे विजिटर्स अमेरिका, ब्रिटेन और कनाडा के हैं। सोशल मीडिया पर भी ये काफी लोकप्रिय हो चुकी है। फेसबुक पर इसके 40 हजार से ज्यादा फॉलोवर्स हैं।

अंजन बताते हैं- “फिलहाल हमारी कई सारे बड़े कॉर्पोरेशन के साथ उनकी वेबसाइट्स के लिए प्रीमियम कंटेट उपलब्ध कराने के लिए बातचीत चल रही है।”

अंजन पुरंदरे
अंजन पुरंदरे

कॉम्पटिशन

इस क्षेत्र में कॉम्पटिशन के बारे में अंजन कहते हैं- “हमारा मुख्य प्रतिद्वंद्वी संभवतः फ्लिपबोर्ड है। मगर हमारे मेन यूएसपी में बहुत बड़ा फर्क है, और ये है यूजर जनरेटेड कंटेंट। फ्लिपबोर्ड और उसके जैसे दूसरे प्लेटफॉर्म्स पर मैं अपने खुद के कंटेंट को अपलोड नहीं कर सकता और उन्हें शेयर नहीं कर सकता।”

भविष्य की योजना

अंजन बताते हैं- “हम कॉर्पोरेट्स को पेड कंटेंट सर्विसेज के जरिए टार्गेट करने जा रहे हैं। हम Ivyclique को ग्रुप वर्क के लिए एक एजुकेशन टूल के रूप में इस्तेमाल करने के लिए स्कूलों और कॉलेजों में आक्रामक मार्केटिंग कैंपेन चलाने की भी योजना बना रहे हैं।”

अंजन आगे जोड़ते हैं कि जहां तक इंडिविजुअल यूजर्स की बात है, Ivyclique हमेशा एक फ्री टू यूज प्लेटफॉर्म बना रहेगा।