हम मारुति जितने ही भारतीय हैं : विजय शेखर

हालिया रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन की निवेशक पेटीएम में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाकर 70 प्रतिशत करने पर विचार कर रही है।

0

चीन के उल्लेखनीय स्वामित्व को लेकर ओलाचना झेल रहे पेटीएम के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी विजय शेखर शर्मा ने जोर देकर कहा कि ई-कामर्स तथा भुगतान प्लेटफार्म उतनी ही भारतीय है, जितनी मारुति है। हमें भारत की कहानी का प्रतिनिधित्व करने को लेकर गर्व है।

विजय शेखर शर्मा, पेटीएम संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी
विजय शेखर शर्मा, पेटीएम संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी
हम मारुति जितने ही भारतीय हैं। हम प्रत्येक रूप में भारतीय हैं : विजय शेखर शर्मा

कभी सरकार के नियंत्रण वाली मारुति की बहुलांश हिस्सेदारी इस जापानी कार कंपनी सुजुकी मोटर कॉर्प के पास है। सुजुकी के पास मारुति की 56.21 प्रतिशत हिस्सेदारी है और यह इसकी एकमात्र प्रवर्तक है। पेटीएम ने हाल में सरकार के नोटबंदी के कदम की सराहना की है। कंपनी ने इस बारे में अखबारों में बड़े-बड़े विज्ञापन छापे हैं जिन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर है।

शर्मा ने कहा कि पेटीएम दुनिया के सामने भारतीय कंपनी के रूप में जानी जाती है और जो भारत का ‘गौरव’ है। 

उन्होंने कहा कि हमारे लिए हमारे ग्राहक, देश का कानून और नियामक महत्वपूर्ण हैं। अलीबाबा समूह और उसकी सहयोगी एंट फाइनेंशियल ने पेटीएम की मूल कंपनी वन97 कम्युनिकेशंस में पिछले साल 68 करोड़ डालर का निवेश किया था। 

इस तरह देश की सबसे बड़ी मोबाइल वॉलेट आपरेटर में उसकी हिस्सेदारी 40 प्रतिशत से अधिक हो गई है। 

हालिया रपट में कहा गया है कि चीन की निवेशक पेटीएम में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाकर 70 प्रतिशत करने पर विचार कर रही है।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...