इस दीवाली मेवे, मिठाई के बजाय ई-कूपन देने का चलन ज़ोरों पर

0
साभार-shutterstock.com
साभार-shutterstock.com

दीवाली नजदीक आने के साथ उपहार देने के चलन में व्यापक बदलाव देखने को मिल रहा है और लोग उपहार में मिठाई और मेवे देने के बजाय आनलाइन कूपन देना पसंद कर रहे हैं ताकि उपहार प्राप्त करने वाला व्यक्ति बाजार से अपने पसंद की चीजें ले सके।

डिजिटल गिफ्टिंग साल्यूशंस केवल स्टार्टअप्स या नयी पीढ़ी की कंपनियों तक सीमित नहीं है, बल्कि बड़े उद्योग घराने भी अपने कॉरपोरेट गिफ्ट के लिए इस माध्यम को अपना रहे हैं।

इन एप्स और कूपन का इस्तेमाल किसी भी डिजिटल प्लेटफार्म जैसे कंप्यूटर या मोबाइल पर किया जा सकता है और ये सभी तरह के संगठनों में लोकप्रिय हो रहे हैं।

भुगतान समाधान उपलब्ध कराने वाली पाइन लैब्स, ई-गिफ्टिंग प्लेटफार्म क्विकक्लिवर, ऑनलाइन गिफ्टिंग प्लेटफार्म गिफ्टएक्सओएक्सओ व ऑफिस सप्लाई ई-कामर्स पोर्टल जोफियो का मानना है कि यह रख बने रहने की संभावना है और आने वाले वषरें में कई उद्योग घराने इस माध्यम को अपना सकते हैं।

पाइन लैब्स के सीईओ लोकवीर कपूर ने कहा कि डिजिटल गिफ्टिंग समाधान स्टार्ट-अप तक सीमित नहीं हैं, बल्कि सैमसंग, मैक्स बूपा, मास्टर कार्ड, ब्रिटिश एयरवेज, एयरटेल, यूनिवर्सल सोंपो आदि पाइनगिफ्ट डिजिटल गिफ्ट प्लेटफार्म की अहमियत समझ रही हैं।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...