डोनाल्ड ट्रंप ने की सिलिकन वैली के कार्यकारियों के साथ बैठक

बैठक का मकसद नवप्रवर्तन को और अधिक गति देना तथा अधिक-से-अधिक रोजगार सृजित करने के लिये बातचीत और भागीदारी शुरू करना है।

0

अमेरिका के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने माइक्रोसाफ्ट के भारतीय-अमेरिकी सीईओ सत्य नाडेला समेत सिलिकन वैली के ताकतवर कार्यकारियों के साथ आज बैठक की। प्रौद्योगिकी क्षेत्र के दिग्गजों के साथ उनकी यह पहली बैठक है। ट्रंप टावर में हुई बैठक के दौरान ट्रंप ने कार्यकारियों से कहा, ‘मैं यहां आपकी मदद के लिये हूं ताकि आप लोग और अच्छा करें।’ उनके प्रवक्ता ने कहा है, कि इस प्रकार की होने वाली कई बैठकों में यह एक है।

बैठक का मकसद नवप्रवर्तन को और गति देना तथा अधिक-से-अधिक रोजगार सृजित करने के लिये बातचीत और भागीदारी शुरू करना है।

नव-निर्वाचित राष्ट्रपति ने कहा, ‘आपके जैसा दुनिया में कोई नहीं है, हम यहां आपके लिये होंगे और आप मेरे लोगों से बात करेंगे। आप मुझे कॉल करेंगे। इसमें कोई अंतर नहीं है। हमारे बीच कोई औपचारिक श्रृंखला नहीं होगी।’ उन्होंने उपस्थित मुख्य कार्यपालक अधिकारियों (सीईओ) से कहा कि वे किसी भी समय उनसे मिल सकते हैं।

बैठक के दौरान ट्रंप ने खुले मन से अपनी बातें रखी और कार्यकारियों की बातों को सुना। बैठक में भारी संख्या में उद्योग दिग्गज मौजूद थे।

ट्रंप ने कहा, ‘हम आपके लिये सीमा पार व्यापार को आसान बनाने के लिये निष्पक्ष व्यापार सौदे करेंगे, क्योंकि कई बाधाएं हैं, कई समस्याएं हैं और आपके पास कोई विचार है, वह बढ़िया रहेगा। संभवत: आपके समक्ष कुछ कंपनियों के मुकाबले कम समस्याएं हों, लेकिन कुछ कंपनियों के समक्ष काफी समस्याएं हैं और हम उसका समाधान करने जा रहे हैं।’

नाडेला के अलावा बैठक में आमेजन के जेफ बेजोस, एपल के टिम कूक, इंटेल के ब्रियान क्राजानिक आदि मौजूद थे।

उधर दूसरी तरफ ट्रंप के भावी व्हाइट हाउस चीफ ऑफ स्टाफ रीन्स प्रीबस ने व्हाइट हाउस के प्रेस ब्रीफिंग कक्ष में भारी उलट-फेर के संकेत दिए हैं और अमेरिकी राष्ट्रपति से जुड़ी खबरों को हर समय कवर करने वाले मीडिया से जुड़ी परंपराओं में भी बदलाव के संकेत दिए हैं। प्रीबस ने रेडियो प्रस्तोता ह्यूग हेवित को बताया, ‘‘यह अहम है कि हम उन सभी परंपराओं पर गौर करें, जो अच्छी हैं लेकिन स्पष्ट तौर पर कहूं तो वे वास्तव में खबरें नहीं बनातीं। ये एक तरह से उबाऊ, नीरस कड़ियों की तरह हैं।’ उन्होंने कहा, कि मुझे लगता है कि यह समय व्हाइट हाउस में होती रहीं बहुत सी चीजों पर एक बार फिर गौर करने का है। मैं आपको आश्वस्त कर सकता हूं कि बदलाव होने वाला है। यह बदलाव उन चीजों में भी होगा, जो इस मुद्दे की तरह उबाऊ प्रतीत हो सकते हैं। बदलाव इस बात में भी होगा कि हम कर सुधार के प्रति किस तरह का रूख रखने वाले हैं, अमेरिकी कर्मचारी और कारोबार को किस तरह सुरक्षा देने वाले हैं। राष्ट्रपति पद के सत्तांतरण से जुड़ा दल इस समय चीजों में बदलाव लाने के लिए व्हाइट हाउस से बात कर रहा है। इनमें व्हाइट हाउस के ब्रीफिंग कक्ष में प्रेस सीटें बदलना भी शामिल है।

व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जोश अर्नेस्ट ने अपने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सीटों की व्यवस्था पर व्हाइट हाउस का कोई नियंत्रण नहीं है। उन्होंने कहा, ‘व्हाइट हाउस प्रेस कॉर्प्स इस कक्ष में बैठने की व्यवस्था पर काम करता रहा है और मैं आगामी प्रशासन से सिफारिश करना चाहूंगा कि आगे बढ़ने के लिए नीतियों पर गौर करते समय वह कुछ मूल तथ्यों की जानकारी जुटाए और खुद को अवगत कराए।’ व्हाइट हाउस कॉरेसपॉण्डेंट्स असोसिएशन के अध्यक्ष जेफ मैसन ने ऐसे किसी भी संभावित राजनीतिक कदम पर चिंता जाहिर की है।

साथ ही ट्रंप ने रिक पैरी को अपना ऊर्जा मंत्री नामित किया है। टेक्सस के पूर्व गवर्नर पैरी कभी इस विभाग को समाप्त करना चाहते थे। पैरी (66) 2008 और 2012 में रिपब्लिकन के पूर्व राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के दावेदारों में थे। प्राइमरीज के दौरान उन्होंने ट्रंप की काफी आलोचना की थी। ट्रंप ने कहा कि टेक्सस के गवर्नर के रूप में पैरी ने ऐसा कारोबारी माहौल बनाया जिससे लाखों रोजगार के अवसरों का सृजन हुआ और साथ ही उनके राज्य में बिजली की दरें कम हुईं। ऊर्जा सचिव के रूप में वह पूरे देश के लिए ऐसा रुख अपनाएंगे।

ट्रांजिशन टीम के अनुसार रिक पैरी आधुनिक इतिहास के सबसे सफल गवर्नर हैं। 

रिक ने आर्थिक वृद्धि के सतत दौर में टेक्सस की अगुवाई की है। उर्जा संसाधनों तथा बुनियादी ढांचे के बल पर वह राज्य को समृद्ध करने में सफल रहे हैं। ट्रांजिशन टीम के बयान में कहा गया है, कि पैरी अपने अनुभव के बल पर ट्रंप की अमेरिका को उर्जा क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने की सोच को आगे बढ़ाएंगे। 

दिलचस्प यह है कि पैरी कभी ऊर्जा विभाग को बंद करना चाहते थे, जिसकी अब वह संभवत: अगुवाई करेंगे।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...