भारत में 20 लाख एंड्राइड डेवलपरों को प्रशिक्षित करेगा गूगल

0

तकनीकी क्षेत्र की दिग्गज गूगल अगले तीन सालों में भारत में अपने एंड्राइड मंच पर करीब 20 लाख डेवलपरों को प्रशिक्षित करने का लक्ष्य लेकर चल रही है ताकि देश में उच्च गुणवत्ता की प्रतिभाओं का फायदा उठाया जा सके।

भारत में अभी करीब 10 लाख लोग एंड्राइड मोबाइल मंच से जुड़े समाधान विकसित कराने में जुटे हुए हैं। वर्ष 2018 तक इन डेवलपरों की संख्या बढ़कर 40 लाख हो जाने की उम्मीद है जिसके चलते यह दुनिया का सबसे बड़ा डेवलपरों का केंद्र हो जाएगा।

गूगल के उपाध्यक्ष :उत्पाद प्रबंधन: सीजर सेनगुप्ता ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘अमेरिका को पीछे छोड़ते हुए 2018 तक भारत के दुनिया का सबसे बड़ा डेवलपर केंद्र बन जाने की उम्मीद है। यहां करीब 40 लाख डेवलपर होंगे, लेकिन इसमें से मात्र 25 प्रतिशत डेवलपर ही मोबाइल के लिए काम कर रहे हैं।’’ उन्होंने कहा कि उनका लक्ष्य भारत को दुनिया में एप्प विकास का वैश्विक नेतृत्वकर्ता बनने में सहायता करना है।

उन्होंने कहा, ‘‘हमने एंड्राइड फंडामेंटल्स पर एक विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू किया है। इसे सभी सरकारी एवं निजी विश्वविद्यालयों और राष्ट्रीय कौशल विकास निगम के प्रशिक्षण केंद्रों पर उपलब्ध कराया जाएगा।’’

गूगल में डेवलपर प्रशिक्षण के प्रमुख पीटर लुबर्स ने कहा कि कंपनी का लक्ष्य अगले तीन सालों में 20 लाख लोगों को प्रशिक्षित करना है। यह प्रशिक्षण छात्रों के साथ-साथ अपने करियर के मध्य वाले डेवलपरों के लिए भी उपलब्ध होगा। गूगल की वैश्विक प्रतिद्वंदी एपल भी भारत में अपने आईओएस मोबाइल मंच को गति देने के लिए भारी निवेश कर रही है। मई में उसने बेंगलुरू में एक सॉफ्टवेयर प्रयोगशाला की स्थापना की घोषणा की थी जो आईओएस मंच के लिए काम करने वाले डेवलपरों और स्टार्टअपों को सहायता उपलब्ध कराएगा।

लुबर्स ने कहा कि गूगल ने एमिटी विश्वविद्यालय, लवली प्रोफेशनल युनिवर्सिटी, जीडी गोयनका विश्वविद्यालय और रायत बहरा विश्वविद्यालय के साथ गठजोड़ किया है। इसके अलावा एजुरेका, कोएनिग, मनिपाल ग्लोबल, सिंपलीलर्न, यूडासिटी और अपग्राड के सज्ञथ भी उसने साझेदारी की है जो भारत में एंड्राइड प्रशिक्षण देने वाले अधिकृत प्रशिक्षक होंगे।

इसके अलावा गूगल ने एक रोज़गारपरक सहायक एंड्राइड डेवलपर प्रमाण-पत्र कार्यक्रम शुरू किया है जिसमें प्रदर्शन आधारित परीक्षा के बाद प्रतिभागियों को शुरूआती एंड्राइड डेवलपर की नौकरी मिलेगी। (पीटीआई)