'ई-वाणिज्य मंच के सहारे विदेशों तक पहुंच सकते हैं लघु और मझोले उपक्रम'

0

वाणिज्य सचिव रीता तेवतिया ने आज कहा कि ई-वाणिज्य मंच तेजी से वैश्विक व्यापार के मंच बनते जा रहे हैं और इससे लधु एवं मध्यम उपक्रमों को वैश्विक बाजारों तक सीधी पहुंचने का मौका मिला है जिसका उन्हें फायदा उठाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि ई-वाणिज्य मंच ने बिचौलियों की भूमिका कम की है और यह लघु एवं मध्यम उपक्रमों को अपने उत्पादों का मूल्य हासिल करने का अवसर दिया है।

उन्होंने यहां कहा, ‘‘हमें वैश्विक व्यापार में नए रझानों का उपयोग करना चाहिए। ई-वाणिज्य मंच का उपयोग विदेशी बाजारों में का रास्ता देता है। आने वाले समय में ई-वाणिज्य लघु एवं मध्यम उपक्रमों के लिए वैश्विक बाजारों तक सीधी पहुंच बनाने और अपने उत्पादों का बेहतर मूल्य वसूलने की उल्लेखनीय संभावना का जरिया बन जाएगा।’’ वह भारतीय सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उपक्रम :फिस्मे: परिसंघ और लंदन के कॉमनवेल्थ सेक्रेटेरियेट द्वारा आयोजित कार्यक्रम में बोल रही थी।

रीता ने कहा कि लघु एवं मध्यम उपक्रमों की निर्यात, विनिर्माण और रोज़गार सृजन में महत्वपूर्ण भूमिका है और नियमन, बौद्धिक संपदा अधिकार तथा मानकों के साथ उनकी समस्याओं के समाधान की जरूरत है।उन्होंने कहा कि उन्हें वैश्विक मूल्य श्रृंखला के साथ प्रभावी तरीके से जोड़ने की जरूरत है। (पीटीआई)

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...