भारत में पहली बार बना कुत्तों का पार्क, नहाने और खेलने की भी व्यवस्था

0

भारत में पालतू जानवरों के लिए पार्क का होना एकदम अनोखी चीज हो सकती है, लेकिन विदेशों में ऐसे पार्कों का होना आम बात है। इसे इंटरनेशनल स्टैंडर्ड के मुताबिक बनाया गया है और कैनल क्लब ऑफ इंडिया ने इसे सर्टिफाइड किया है।

कुत्तों का पार्क
कुत्तों का पार्क
पार्क में कुत्तों को ट्रेनिंग देने के सामान, उनके खेलने के लिए खिलौने, फव्वारे, एंपीथिएटर, लॉन और पूल की भी व्यवस्था की गई है। कुत्तों की बीमारी या चोट का इलाज करने के लिए पार्क में एक छोटा सा क्लिनिक भी है।

आप रोज सुबह अपने आसपास स्थित पार्क में मॉर्निंग वॉक करने जाते होंगे, लेकिन क्या आपने कभी नहीं सोचा कि अगर पालतू जानवरों के लिए भी कोई पार्क होता तो कितना अच्छा होता। अत्याधुनिक बन जाने की दौड़ में इंसानों ने कभी सोचा ही नहीं कि कंक्रीट के जंगलों में पालतू जानवरों के रहने की भी कोई व्यवस्था होनी चाहिए। हालांकि इस चीज पर हैदराबाद के एक आईएएस ने ध्यान दिया और कुत्तों के लिए एक पार्क बनवा दिया। भारत में यह अपनी तरह का पहला पार्क है जहां पालतू कुत्तों से जुड़ी कई सारी चीजें होंगी। यह पार्क 1.3 एकड़ में बना है।

पार्क में कुत्तों को ट्रेनिंग देने के सामान, उनके खेलने के लिए खिलौने, फव्वारे, एंपीथिएटर, लॉन और पूल की भी व्यवस्था की गई है। कुत्तों की बीमारी या चोट का इलाज करने के लिए पार्क में एक छोटा सा क्लिनिक भी है। आपको जानकर हैरानी होगी कि पहले इस पार्क की जगह पर कचरे का ढेर हुआ करता था। इस जगह को ग्रेटर हैदराबाद म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन ने पार्क में तब्दील कर दिया। एक रिपोर्ट के मुताबिक इसमें 1.1 करोड़ रुपये का कुल खर्च आया।

भारत में पालतू जानवरों के लिए पार्क का होना एकदम अनोखी चीज हो सकती है, लेकिन विदेशों में ऐसे पार्कों का होना आम बात है। इसे इंटरनेशनल स्टैंडर्ड के मुताबिक बनाया गया है और कैनल क्लब ऑफ इंडिया ने इसे सर्टिफाइड किया है। इसे बनाने के पीछे हैदराबाद म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन में जोनल कमिश्नर आईएएस अधिकारी हरिश्चंदन का बड़ा हाथ रहा। द न्यूज मिनट से बात करते हुए GHMC के एक अधिकारी ने कहा, 'पार्क में एक डॉग ट्रेनिंग सेंटर है जहां सर्टिफाइड पेशेवर पालतू कुत्तों को ट्रेनिंग देंगे।'

अधिकारी ने बताया कि कुत्तों के नहाने के लिए पूल और उनके खेलने के लिए भी व्यवस्था की गई है। वहीं अगर उन्हें कुछ हो जाता है तो उसके लिए वेटरनरी डॉक्टर भी मौजूद रहेंगे। उन्होंने कहा कि आमतौर पर सामान्य पार्कों में पालतू कुत्तों को ले जाने की मनाही होती है, इसी को ध्यान में रखते हुए इस पार्क का निर्माण किया गया। पार्क में प्रवेश के लिए कुत्तों और दर्शकों दोनों पर शुल्क लगाया जाएगा।

यह भी पढ़ें: इंसानियत की मिसाल: गणेशोत्सव के आयोजन से पैसे निकालकर घायल व्यक्ति का कराया इलाज

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...

Related Stories

Stories by yourstory हिन्दी