आरबीआई के नये-पुराने 500 के दोनों नोटों की छपाई लागत 3.09

0

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) को 500 रूपये के नये नोट को छापने पर 3.09 रूपये की लागत आ रही है। रिजर्व बैंक को पहले भी 500 रूपये का नोट इसी लागत पर मिल रहा था। साथ ही आरबीआई की पूर्ण स्वामित्व वाली भारतीय रिजर्व बैंक नोट मुद्रण प्राइवेट लिमिटेड (बीआरबीएनएमपीएल) केन्द्रीय बैंक को 2,000 रूपये मूल्य वर्ग का नया नोट 3.54 रूपये में उपलब्ध करा रही है।

मध्यप्रदेश के नीमच निवासी सामाजिक कार्यकर्ता चंद्रशेखर गौड़ ने बताया है, कि उन्हें सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत यह जानकारी मिली है। उन्होंने बताया कि उनकी आरटीआई अर्जी के जवाब में बीआरबीएनएमपीएल की ओर से सूचित किया गया कि मौजूदा वित्तीय वर्ष में 500 रूपये मूल्य वर्ग के 1,000 नये नोटों के लिये 3,090 रूपये मूल्य तय किया गया है। यही कीमत 500 रूपये मूल्य वर्ग के पुराने नोटों के लिये भी निर्धारित थी।

आरबीआई द्वारा वर्ष 1995 में स्थापित इस कम्पनी ने नोटबंदी के बाद भी 500 रूपये मूल्य वर्ग के नये नोटों के बिक्री मूल्य में फिलहाल कोई बदलाव नहीं किया है।

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आठ नवंबर को 500 और 1,000 रूपये के पुराने नोटों को अमान्य कर दिया था। 

गौड़ ने आरटीआई अर्जी के जवाब के हवाले से बताया कि बीआरबीएनएमपीएल 2,000 रूपये मूल्य वर्ग के 1,000 नये नोट आरबीआई को 3,540 रूपये में उपलब्ध करा रही है। यह जानना दिलचस्प है कि कम्पनी नोटबंदी से पहले केंद्रीय बैंक को इसी दाम पर 1,000 रूपये मूल्य वर्ग के पुराने नोटों की आपूर्ति कर रही थी।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...