मौद्रिक नीति रूपरेखा के तहत जल्द मुद्रास्फीति लक्ष्य अधिसूचित करेगी सरकार

0

सरकार मौद्रिक नीति रूपरेखा करार के तहत इस सप्ताह अगले पांच साल के लिए मुद्रास्फीति का लक्ष्य अधिसूचित कर सकती है। एक शीर्ष अधिकारी ने आज यह बात कही। उन्होंने कहा कि यह वृद्धि के लक्ष्य को पूरा करने के साथ मूल्य स्थिरता बनाये रखने के बारे में होगा।

अधिकारी ने कहा, ‘‘हम जल्द मुद्रास्फीति का लक्ष्य अधिसूचित करेंगे। इसे एक-दो दिन में अधिसूचित किया जा सकता है।’’

सरकार और रिज़र्व बैंक ने पिछले साल फरवरी में मौद्रिक नीति रूपरेखा करार किया था। इसके तहत रिज़र्व बैंक ब्याज दरें तय करेगा और जनवरी, 2016 तक मुद्रास्फीति को 6 प्रतिशत से नीचे लाने का लक्ष्य पूरा करेगा। वर्ष 2016-17 और बाद के वर्ष में केंद्रीय बैंक मुद्रास्फीति को 4 प्रतिशत (दो प्रतिशत उपर या नीचे) लाने का लक्ष्य लेकर चलेगा।

वित्त अधिनियम 2016 के ज़रिए सरकार ने मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) बनाने को रिज़र्व बैंक कानून में संशोधन किया है, जिसमें विशेष रूप से मुद्रास्फीति लक्ष्य रखने का प्रावधान किया गया। हालांकि, इसमें मुद्रास्फीति लक्ष्य को अधिसूचित नहीं किया गया है। संशोधन के तहत केंद्र सरकार रिज़र्व बैंक के साथ विचार विमर्श कर उपभोक्ता मूल्य सूचकांक के मामले में प्रत्येक पांच साल में एक बार मुद्रास्फीति का लक्ष्य तय करेगी। केंद्र सरकार मुद्रास्फीति के लक्ष्य को आधिकारिक गजट में अधिसूचित करेगी।

रिज़र्व बैंक कानून की धारा 45 जेडए के अनुसार सरकार प्रत्येक पांच साल में रिज़र्व बैंक के साथ विचार विमर्श कर उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित खुदरा मुद्रास्फीति का लक्ष्य अधिसूचित करेगी। (पीटीआई)