मंगलसूत्र गिरवी रखकर बरहखाना गांव की फूल कुमारी ने शुरू किया घर में शौचालय का निर्माण

‘बेटी बहन सम्मान समारोह’ के तहत पिता और बड़े भाई ने शपथ ली कि वे अपने घर में एक शौचालय का निर्माण करेंगे और वैसे व्यक्ति जिसके घर में शौचालय नहीं होगा उसके साथ अपनी लड़की की शादी नहीं करेंगे।

0

बिहार के रोहतास ज़िला में स्थित सासाराम में शौचालय निर्माण के लिए अपने मंगलसूत्र को गिरवी रखकर उदाहरण पेश करने वाली महिला के घर में शौचालय का निर्माण कार्य शुरू हो गया। रोहतास ज़िला के ज़िलाधिकारी अनिमेश कुमार पराशर ने बताया कि फूल कुमारी के घर में शौचालय का निर्माण कार्य आज शुरू हो गया।

उन्होंने बताया कि पूरे संझौली प्रखंड जहां के बरहखाना गांव की फूल कुमारी निवासी हैं। वहां ‘बेटी बहन सम्मान समारोह’ का आज आयोजन किया गया जिसके तहत पिता और बड़े भाई ने शपथ ली कि वे अपने घर में एक शौचालय का निर्माण करेंगे और वैसे व्यक्ति जिसके घर में शौचालय नहीं होगा उसके साथ अपनी लड़की की शादी नहीं करेंगे।

फूल कुमारी ने समाज के लिए एक मिसाल कायम करते हुए अपने पति के घर में शौचालय नहीं होने पर उसके निर्माण के लिए अपना मंगलसूत्र गिरवी रख दिया।

उदयपुर ग्राम पंचायत के बरहखाना गांव की निवासी फूल कुमारी के पति खेतिहर मज़दूर होने की वजह से उनकी आय अधिक नहीं होने के कारण वे अपने घर में शौचालय बनाने में अक्षम थे।

फूल कुमारी ने पूर्व में घर की आर्थिक तंगी दूर करने के लिए एक स्थानीय प्राथमिक विद्यालय में रसोईये का काम किया, पर उससे भी होने वाली आय से उनकी आर्थिक तंगी कम नहीं हुई जिसके बाद कोई और रास्ता नहीं दिखने पर उन्होंने घर में शौचालय निर्माण के लिए अपने घर के पुरुष सदस्यों के ऐसा नहीं करने का सुझाव दिए जाने के बावजूद मंगलसूत्र को गिरवी रखा।

फूल कुमारी की इस अनूठी पहल पर ज़िला प्रशासन ने अन्य लोगों को इसके लिए प्रेरित करने के वास्ते उन्हें संपूर्ण स्वच्छता कार्यक्रम का ब्रांड एंबेस्डर बनाया है।

यह पूछे जाने पर कि क्या जिला प्रशासन फूल कुमारी की कोई आर्थिक मदद करेगी ज़िलाधिकारी ने कहा कि जिले में शौचालय को लेकर लोगों के बीच जागरुकता पैदा करने के लिए एक प्रेरक के दायित्व का निर्वहन करने पर उनकी आर्थिक मदद की जाएगी। (पीटीआई)



यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...