1666.80 करोड़ रूपये की लागत से शुरू हुआ पतंजलि फूड एंड हर्बल पार्क

नोएडा में उत्तर भारत की सबसे बड़ी फूड प्रॉसेसिंग यूनिट स्थापित करेगा पतंजलि।

0

योग गुरु बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद ने नोएडा में फूड पार्क स्थापित करने का काम शुरू कर दिया है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बाबा रामदेव के पतंजलि फूड एंड हर्बल पार्क की नोएडा में आधारशिला रखी है। इस मौके पर बाबा रामदेव की प्रशंसा करते हुए अखिलेश ने कहा कि इस परियोजना से क्षेत्र के युवाओं और किसानों को मदद मिलेगी। साथ ही 8000 से अधिक लोगों को सीधा रोजगार और 80 हजार लोगों को परोक्ष रोजगार मिलेगा।

परियोजना की लागत 1666 . 80 करोड रूपये है और पार्क 455 एकड़ में फैला होगा। 

उत्तर प्रदेश को बडा बाजार बताते हुए उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है, कि यदि कोई सब्जी और दुग्ध उत्पादन में निवेश करना चाहता है तो प्रदेश में ही इतना बड़ा बाजार उपलब्ध है, जो देश भर में अन्यत्र नहीं मिलेगा। पार्क बनाने में सरकार की ओर से हर संभव मदद का आश्वासन देते हुए अखिलेश ने कहा कि पार्क निर्माण से अन्य उद्यमियों को राज्य में निवेश के लिए प्रोत्साहन मिलेगा।

बाबा रामदेव ने कहा कि राज्य सरकार उत्तर प्रदेश को आधुनिक और विकसित बनाने के लिए हरसंभव प्रयत्न कर रही है।

पार्क का निर्माण अगले साल के अंत तक पूरा होगा। यह देश का सबसे बडा फूड पार्क होगा, जहां हर साल 25 हजार करोड़ रूपये की वस्तुओं का उत्पादन होगा।

यह अनुमान लगाया जा रहा है, कि यह उत्तर भारत की सबसे बड़ी फूड प्रॉसेसिंग यूनिट होगी। उत्तर प्रदेश की समाजवादी पार्टी सरकार ने बाबा रामदेव की कंपनी को यमुना एक्सप्रेस वे इंडस्ट्रियल अथॉरिटी में 455 एकड़ जमीन आवंटित की है। पतंजलि आयुर्वेद इस जमीन पर फूड और हर्बल पार्क स्थापित करेगी। बाबा रामदेव के मुताबिक इस फूड प्रॉसेसिंग में हर दिन 400 टन फलों और सब्जियों की प्रॉसेसिंग होगी। इसके अलावा नोएडा की प्रॉसेसिंग यूनिट में 750 टन ऑर्गेनिक गेहूं का भी उत्पादन होगा। 

अधिलेश यादव के साथ फूड पार्क की आधारशिला रखे जाने के मौके पर रामदेव ने कहा, कि यूपी के मुख्यमंत्री संस्कारी राजनेता हैं। रामदेव ने कहा कि अखिलेश यादव ऐसे 'संस्कारी' नेता हैं, जो अपने राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ भी अभद्र भाषा का इस्तेमाल नहीं करते। रामदेव ने कहा, 'राजनीति में अकसर लोग गलत भाषा का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन अखिलेश यादव जानते हैं कि उन्हें कैसा व्यवहार करना है। इससे पता चलता है कि उनकी परवरिश कितने सांस्कृतिक मूल्यों के साथ हुई है।'

जल्दी ही पतंजलि डेयरी सेगमेंट में भी अपना दखल शुरू करेगी, जो बाजार में उच्च गुणवत्ता के डेयरी प्रॉडक्ट्स उपलब्ध कराने का काम करेंगे।

साथ ही हर्बल पार्क शिलान्यास के मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने यह भी कहा, कि धन कोई काला नहीं होता है, बल्कि उसका लेन-देन काला और सफेद होता है। उन्होंने कहा, कि वे देश को विकास के पथ पर अग्रसर करना चाहते हैं, लेकिन कुछ लोग हैं जो उनकी रफ्तार को उलझा रहे हैं। सभी को यह बात समझ लेनी चाहिए कि इस देश में दिल्ली का रास्ता उत्तर प्रदेश से होकर जाता है। इसलिए इस प्रदेश की उपेक्षा नहीं की जा सकती है। मैंने प्रदेश के विकास के लिए ‘एक्सप्रेस वे’ बनवाया है। ‘एक्सप्रेस वे’ के जरिये किसान अपने उत्पादों को मंडी तक आसानी से पहुंचा सकेंगे। जब किसान सामान एक स्थान से दूसरे स्थान पर आसानी से ले जा पायेंगे, तो उनका विकास अवश्यंभावी हो जायेगा। यही कारण है, कि मैं प्रदेश में परिवहन की आदर्श व्यवस्था उपलब्ध कराना चाहता हूं। बाबा रामदेव का फूड पार्क भी इस क्रम की कड़ी है। यह भी एक्सप्रेस वे के किनारे ही है।

अखिलेश ने बाबा रामदेव को धन्यवाद दिया, कि उन्होंने पूरे विश्व में योग को लोकप्रिय बनाया है। योग से जीवन में अनुशासन आता है और जीवन सुंदर बनता है और बाबा रामदेव ने अखिलेश यादव को अच्छे संस्कारों वाला मुख्यमंत्री बताया है। उन्होंने कहा कि वे बोलते कम है, लेकिन, काम ज्यादा करते हैं।