हैदराबाद में उबर कर्मचारियों की संख्या 500 तक बढ़ेगी

0

 टैक्सी एप उबर ने अगले कुछ माह में भारत में अपने ग्राहक सपोर्ट परिचालन को बढ़ाने के लिए अपनी हैदराबाद सुविधा में 150 लोगों की नियुक्ति की योजना बनाई है। कंपनी का कहना है कि इससे उसके प्लेटफार्म पर ड्राइवरों तथा यात्रियों का अनुभव अच्छा हो सकेगा।

अमेरिका और चीन के बाद यात्रा के हिसाब से उबर भारत को तीसरा सबसे बड़ा बाजार मानती है। फिलहाल कंपनी की हैदराबाद सुविधा में 350 कर्मचारी कार्यरत हैं। फिलहाल देशभर में बिक्री और विपणन सहित विभिन्न परिचालनों में उबर के कर्मचारियों की संख्या 600 है। इससे पहले इसी सप्ताह उबर ने अपने चीन के कारोबार को स्थानीय कंपनी दीदी चक्जिंग को बेचने की घोषणा की थी। विश्लेषकों का कहना है कि इस कदम से उबर भारतीय बाजार पर अधिक आक्रामक तरीके से ध्यान दे सकेगी।

उबर इंडिया के कम्युनिटी परिचालन प्रमुख बंसी कोटेचा ने कहा कि कंपनी अपने हैदराबाद के विशिष्टता केंद्र (सीओई) के लिए आक्रामक तरीके से नियुक्ति कर रही है। उन्होंने बताया कि इस केंद्र में कार्यरत कर्मचारियों की संख्या 350 है जो इस साल के अंत तक बढ़कर 500 हो जाएगी। 

बंसी कोटेचा ने बताया कि हैदराबाद में एशिया का अपनी तरह का पहला सर्व सुविधाओं से युक्त केंद्र स्थापित किया है।  उबर ने इससे पूर्व इसी वर्ष 3.5 बिलियन डॉहर का फंड रेज़ किया है। इससे उबर को उम्मीद है कि वह अपने भागीदारों और ग्राहकों को बेहतर सेवाएँ उपलब्ध करा पाएगा। साथ ही उबर ने भारत में 1 बिलिय डालर (6652 करोड़ रुपये) का निवेश करने की घोषणा की थी। -  पीटीआई