सामान्य वित्तीय नियमों का नया सेट (जीएफआर) तैयार

 

0

सरकार व्यापार सुगमता के लिए एक बड़ा कदम उठाते हुए सामान्य वित्तीय नियम (जीएफआर) संशोधित करेगी।

जीएफआर वित्तीय मामलों से निपटने को लेकर एक दिशानिर्देशक मसौदा के रूप में काम करता है और उसका अनुपालन जरूरी है।

केंद्र सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘हमने जीएफआर के साथ नियमावली को संशोधित करने का फैसला किया है। दोनों के मसौदे को सार्वजनिक विचार-विमर्श के लिए अगस्त में जारी किया जाएगा।’’ उसने कहा कि केंद्र की वस्तुओं की खरीद के संदर्भ में भी नियमावली लाने की योजना है।

अधिकारी ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार ने व्यापार से संबंधित मौजूदा नियमों एवं नियमन में कई बदलाव लायें हैं, ऐसे में सामान्य वित्तीय नियमों का नया सेट तैयार करना जरूरी हो गया है।

जीएफआर कार्यकारी निर्देश के रूप में है। इससे सबसे पहले 1947 में जारी किया गया और बाद में 1963 में संशोधित किया गया। बदले आर्थिक मामलों में संशोधित जीएफआर अंतिम बार 2005 में जारी किया गया।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि नये जीएफआर का मसौदा सार्वजनिक विचार-विमर्श के लिये जारी किया जाएगा। साथ केंद्रीय सतर्कता आयोग तथा विशेषज्ञों के साथ इस पर व्यापक चर्चा होगी।-पीटीआई

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...