गो डैडी की सेवाएंँ अब भारतीय भाषाओं में

1

अमेरिका की वेब होस्टिंग कंपनी गो डैडी तीन भारतीय भाषाओं हिंदी, मराठी और तमिल में अपनी सेवाएं उपलब्ध कराएगी ताकि 3.1 करोड़ छोटी कंपनियां :एसएमबी: अपनी ऑनलाइन उपस्थिति बढ़ा सके।

 न्यूयार्क स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध कंपनी फिलहाल देश में इंटरनेट डोमेन पंजीकरण तथा वेब होस्टिंग सेवाएं अंग्रेजी में देती है। गो डैडी इंडिया तथा आस्ट्रेलिया के उपाध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक राजीव सोढ़ी ने पीटीआई से कहा, ‘‘भारत में 22 आधिकारिक भाषाएं हैं और 1,500 से अधिक क्षेत्रीय भाषाएं हैं। इसीलिए स्थानीय भाषाएं निश्चित रूप से अहम भूमिका निभाती हैं।’’

राजीव सोढ़ी ने कहा कि इंटरनेट उपयोग के मामले में अगली वृद्धि छोटे एवं मझोले शहरों से आने की उम्मीद है और लाखों छोटी कंपनियां भी आनलाइन होंगी और व्यापार वृद्धि को आगे बढ़ाने के लिये प्रौद्योगिकी का उपयोग करेंगी। 

सोढ़ी ने कहा कि हम इन तीन भाषाओं में सेवा की पेशकश कर भारत में करीब 61 प्रतिशत एसएमबी तक पहुंच पाने में कामयाब होंगे। गो डैडी अंग्रेजी के अलावा 25 से अधिक भाषाओं में सेवाओं की पेशकश करती है। इसकी 53 देशों में उपस्थिति है और 1.4 करोड़ ग्राहक हैं।  -पीटीआई

उल्लेखनीय हैक कि GoDaddy  इंटरनेट डोमेन रजिस्ट्रार कंपनी है। इसके अंतर्गत अब तक 61 मिलियन कंपनियों के वेब प्रबंधन हैं।  इंटरनेट द्वारा व्यापार प्रचार के के क्षेत्र में कंपनी विश्वभर में अपना खास स्थान रखती है।


यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...