30 घंटे लंबी ट्रेन की यात्रा के बाद यात्रियों के लिए तैयार किया 'oMitra'

हैदराबाद से राजस्थान की लंबी यात्रा के दौरान विकास जगेतिया यात्रियों के सामने आने वाली परेशानियों से हुए रूबरूओमित्र के द्वारा यात्री सफर के दौरान एक-दूसरे के साथ संपर्क करके सफर को बना सकते हैं रोमांचक यात्रा से संबंधित समस्त जानकारियां टिकट बुक करवाते ही उपयोगकर्ता के सामने करती है प्रस्तुत4000 से अधिक लोग इस एप्प को सफलतापूर्वक कर रहे हैं प्रयोग और प्रतिमाह 10 प्रतिशत की दर से हो रही है वृद्धि

0

कनेक्टिविटी या सरल शब्दों में कहें तो जुड़ाव आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में एक नारे का रूप ले चुकी है। वर्तमान ने बाजार ऐसी एप्लीकेशनों से अटा पड़ा है जो लोगों को अपनस में एक-दूसरे के साथ जुड़ने मं सहायता कर रही हैं फिर चाहे वह एक ही इलाके में रहने वाले लोगों को एक साथ जुड़ने में मदद करने वाली एप्प हो या सामाजिक कनेक्टिविटी प्रदान करने वाली या फिर यात्रा के लिये साथी को जोड़ने वाली एप्लीकेशन। ऐसे में रेल का सफर करने वालों के सामने आने वाली सामान्य परेशानियों से निजात दिलवाने की दिशा में सकारात्मक प्रयास करने वाली एक कनेक्टिंग एप्लीकेशन oMitra (ओमित्र) एक अद्वितीय सोशल एप्प के रूप में अपना एक अलग स्थान बनाने में कामयाब हो रही है।

बेहद बुरे अनुभवों से भरी एक रेल यात्रा से गुजरने के बाद विकास जगेतिया के मस्तिष्क में रेल यात्रियों की सुविधा के लिये एक सोशल एप्प को तैयार करने का विचार आया। हैदराबाद से राजस्थान तक की 30 घंटे लंबी यात्रा के दौरान उन्हें इस बात का बखूबी अहसास हुआ कि एक सामान्य यात्री को लगभग हर यात्रा के दौरान विभिन्न प्रकार की परेशानियों और चुनौतियों से रूबरू होना पड़ता है। चाहे ये परेशानी एक ही परिवार के विभिन्न सदस्यों को ट्रेन के अलग-अलग डिब्बों में मिली सीटों से संबंधित हो या फिर सफर के दौरान उपलब्ध खाने-पीने की वस्तुओं को लेकर हो या फिर रास्ते में पड़ने वाले स्टेशनों की जानकारी की बात हो, एप्लीकेशन यात्रा और गंतव्य से संबंधित पर प्रकार की बुनियादी जानकारी अपने उपयोगकर्ताओं को प्रदान करवाती है।

टीम @ oMitra
टीम @ oMitra
विकास कहते हैं, ‘‘इस यात्रा के बाद मैंने एक ऐसी एप्लीकेशन को तैयार करने का विचार किया जिसमें उपयोगकर्ता यात्रा के दौरान दूसरे सह-यात्रियों के साथ जुड़कर यात्रा का आनंद ले सकें।’’ वे आगे बताते हैं कि आईआरसीटीसी से यात्रा की टिकट बुक करवाने और एसएमएस आने के तुरंत बाद ही यह एप्प स्वयं एसएमएस को ट्रैक कर लेती है और यात्री के लिये सारी व्यवस्थाएं कर देती है। यह ट्रेन के बारे मं सारी जानकारी उपलब्ध करवाती है, सह-यात्रियों के बारे में जानकारी जमा करती है, यात्रा ये कुछ समय पूर्व उपयोगकर्ता को यात्रा के बारे में याद दिलवाती है और साथ ही उपयोगकर्ता को यह भी बताती है कि आपका टिकट वेटिंग लिस्ट में ही है या कंफर्म हो गया है। इसके अलावा यह ट्रेन और उसके ठहरने के स्थानों के बारे में रियल टाइम ट्रैंकिंग भी रखती है।

इसके अलावा इस एप्लीकेशन की सहायता से उपयोगकर्ता अपने साथी यात्रियों के साथ संपर्क करके उनके साथ खुद को जोड़ सकते हैं और यात्रा का आनंद दोगुना कर सकते हैं और साथ ही यह एप्प आजादी देता है कि आप देसरे यात्रियों की रजामंदी लेकर उनके साथ अपनी साटों की अदला-बदली भी कर सकते हैं। इसके अलावा इसमें एक विशेष एसओएस बटन भी उपलब्ध है जो मात्र पांच मिनट के समय में सुरक्षा संबंधी प्रतिक्रिया सुनिश्चित करवाती है।

विकास बताते हैं कि उनके सामने सबसे बड़ी चुनौती इस विचार और काम के प्रति दीवाने लोगों को तलाशने की रही है। वे आगे यह भी जोड़ते हैं कि हालांकि आज के समय में जब लोग सफर के दौरान इस बात को मानने का प्रयास करते हैं कि अजनबियों से बातचीत न करें उनकी टीम लगातार कुछ नया और सकारात्मक करने के प्रयास में लगी हुई है और इनका प्रयास है कि लोगों के मन में बसी इस धारणा को बदला जाए और लोगों को यात्रा के दौरान एक-दूसरे से बातचीत के लिये प्रेरित किया जा सके। विकास ओमित्र के एकमात्र संस्थापक हैं उनकी टीम में उनके अलावा तीन अन्य डवलपर्स और प्रशिक्षु मौजूद हैं।

इनकी टीम आने वाले समय में विज्ञापनों के द्वारा आय अर्जित करने की योजना तैयार कर रही है और इनका इरादा अपने उत्पादों की ऋंखला में खाद्य और यात्रा से संबंधित अन्य सेवाओं को भी शामिल करने की योजना बना रहे हैं। विकास कहते हैं, ‘‘फिलहाल तो हमारा पूरा ध्यान अपने उपयोगकर्ताओं के सफर को सुगम बनाने का है। हमारा प्रमुख प्रस्ताव एक प्रयोग में आसान ट्रेन यात्रा उत्पाद मुहैया करवाना है।’’ वर्तमान समय में यह एप्लीकेशन कुल मिलाकर 4 हजार से अधिक व्यू और डाउनलोड के आंकड़े को छू चुका है और यह संख्या प्रतिसप्ताह 10 प्रतिशत की दर से बढ़ रही है।

यह एप्लीकेशन धीरे-धीरे भारत में रेल यात्रा की दुनिया में अपना स्थान बना रही है। वर्ष 2013-14 के आंकड़ों के अनुसार भारतीय रेलवे को करीब 8420 मिलियन यात्रियों ने सफर के लिये इस्तेमाल किया। हालांकि भारतीय रेलवे के द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार उपभोक्ताओं की मांगों और अपेक्षाओं पर खरा उतरना उनके सामने आने वाली सबसे बड़ी चुनौतियों में शामिल है।

इसके अलावा यह टीम मात्र पांच मिनट के समय में एमएमटीएस रेल यात्रियों को सुरक्षा की गारंटी देने वाली एक अन्य एप्प RISSTA (आरआईएसएसटीए) को भी सफलतापूर्वक संचालित कर रहे हैं जो फिलहाल सिर्फ हैदराबाद के एमएमटीएस रेलवे यात्रियों के लिये उपलब्ध है। इस उत्पाद को पेटेंट करवाने के लिये यह टीम आरपीएफ के साथ लंबित एक समाधान पर काम कर रही है। उन्होंने अपनी इस एप्प के लिये दक्षिण मध्य रेलवे और आरपीएफ के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम किया है।

साथ ही आज के तकनीकी युग में जब अधिक से अधिक लोग डिजिटल दुनिया का रुख कर रहे हैं रेल की यात्रा करने वालों के लिये एक कुशल प्रणाली को तैयार करना समय की आवश्यकता है। यही वजह है कि बीते कुछ समय में रेल के यात्रियों को सफर के दौरान आवश्यक डाटा और जानकारी प्रदान करने वाली एप्लीकेशनों की संख्या में भारी इजाफा देखने को मिला है जिनमें RailYatri, Trainman और ConfirmTKT प्रमुख हैं।

वेबसाइट

एप्प

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...

Worked with Media barons like TEHELKA, TIMES NOW & NDTV. Presently working as freelance writer, translator, voice over artist. Writing is my passion.

Stories by Nishant Goel