इस महिला पायलट ने विमान को क्रैश होने से बचाया, 261 यात्रियों को मिली जिंदगी

एयर इंडिया की पायलट अनुपमा कोहली की सूझ-बूझ से टल गया काफी बड़ा हादसा...

0

एयर ट्रैफिक कंट्रोलर के बयान के मुताबिक किसी गलतफहमी के चलते दोनों विमान एक दूसरे के काफी पास आ गए थे, लेकिन एयर इंडिया की पायलट अनुपमा कोहली की सूझ-बूझ से काफी बड़ा हादसा टल गया।

अनुपमा कोहली
अनुपमा कोहली
 एयरक्राफ्ट एक्सिडेंट इन्वेस्टिगेशन ब्यूरो (AAIB) की तरफ से मामले की जांच करने के लिए टीम गठित कर दी गई है। एयर इंडिया ने अनुपमा कोहली के काम को सराहा। AAIB ने उन्हें फिर से उड़ान भरने की मंजूरी दे दी है।

पिछले हफ्ते बुधवार को भारत में दो विमानों की टक्कर होते-होते बची। यह हादसा एयर इंडिया की फ्लाइट A-631 और विस्तारा की फ्लाइट UK 997 के बीच होने वाला था। एयर इंडिया की फ्लाइट मुंबई से भोपाल और विस्तारा दिल्ली से पुणे के लिए जा रही थी। इन दोनों में कुल 261 यात्री सवार थे। एयर ट्रैफिक कंट्रोलर के बयान के मुताबिक किसी गलतफहमी के चलते दोनों विमान एक दूसरे के काफी पास आ गए थे, लेकिन एयर इंडिया की पायलट अनुपमा कोहली की सूझ-बूझ से काफी बड़ा हादसा टल गया।

दोनों विमान इतने करीब आ गए थे कि उन दोनों में महज 100 फीट का फासला बचा था। आपस में टकराने में कुछ सेकेंड्स ही काफी थे। रिजॉल्यूशन एडवाइजरी रिपोर्ट में अनुपमा ने बताया कि दोनों विमानों के बीच की दूरी 100 फीट से ज्यादा नहीं थी। लेकिन यह हादसा टल गया क्योंकि ऑटोमेटिक वॉर्निंग की वजह से दोनों विमानों के पायलटों ने अपनी स्थिति बदल ली। दिलचस्प बात यह है कि दोनों विमानों की कमान महिलाओं के हाथों में ही थी। रिपोर्ट के मुताबिक दोनों विमानों को मैनेज करने वाले एयर ट्रैफिक कंट्रोलर को निलंबित करने के आदेश दे दिए हैं।

एक तरफ विस्तारा का विमान 29,000 फीट की ऊंचाई से उतरते हुए 27,100 पर आ रहा था वहीं उसी ऊंचाई पर विपरीत दिशा से एयर इंडिया का विमान आ रहा था। विस्तारा के प्रवक्ता के मुताबिक ऐसा लग रहा है कि दोनों महिला पायलटों को उस वक्त कंट्रोलर की तरफ से दिए गए निर्देश में कुछ कन्फ्यूजन की स्थिति रह गई हो। हमारे पायलटों ने मानक परिचालन प्रक्रिया अपनाई और विमान को सुरक्षित लैंड कराया। हालांकि अभी मामले की जांच चल रही है और अंतिम रिपोर्ट आने तक कुछ नहीं कहा जा सकता।

अपनी टीम के साथ अनुपमा कोहली (बाएं से दूसरी)
अपनी टीम के साथ अनुपमा कोहली (बाएं से दूसरी)

एयर इंडिया की पायलट अनुपमा कोहली के पास विमान उड़ाने का 20 साल से अधिक लंबा अनुभव है। कोहली ने देखा कि उनके विमान की दिशा में विस्तारा का विमान रहा है। कोहली ने अपने अनुभव का पूरा प्रयोग करते हुए स्थिति को संभाल लिया। विस्तारा विमान को अपनी तरफ बढ़ते देख उन्हें रेड सिग्नल मिला। विस्तारा की महिला पायलट ने एटीसी को संपर्क के दौरान कहा कि आपने मुझे इसी लेवल पर उड़ान भरने का निर्देश दिया है। कोहली ने जब विस्तारा के विमान को इस तरफ आते देखा तो उन्होंने दाहिनी तरफ मुड़कर विमान के उड़ान के लिए जगह बना दी और अपने विमान को थोड़ा नीचे कर लिया। इस तरह दोनों विमान के यात्री सुरक्षित बच गए।

पायलट कोहली के त्वरित निर्णय लेने की क्षमता और कुशलता से स्थिति संभालने के लिए एयर इंडिया ने काफी तारीफ की। विस्तारा एयरलाइंस का कहना है कि पायलट का टॉइलट ब्रेक नियमानुसार ही था और हमारा विमान निर्देश के अनुसार ही उड़ान भर रहा था। फाइनैंशियल एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार एयरक्राफ्ट एक्सिडेंट इन्वेस्टिगेशन ब्यूरो (AAIB) की तरफ से मामले की जांच करने के लिए टीम गठित कर दी गई है। एयर इंडिया ने अनुपमा कोहली के काम को सराहा। AAIB ने उन्हें फिर से उड़ान भरने की मंजूरी दे दी है।

यह भी पढ़ें: बिहार की लड़की ने बनाए बच्चों को पढ़ाने वाले रोबोट, स्कूलों में खुलेगी रोबोटिक्स लैब

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...

Related Stories

Stories by yourstory हिन्दी