आपकी वेटिंग टिकट कन्फर्म होगी या नहीं, बताएगा रेलवे का नया ऐप

1

रेलवे के नए ऐप के जरिए आपको मालूम चल सकेगा कि आपकी वेटिंग टिकट के कन्फर्म होने की उम्मीद है या नहीं। इससे रेल में सफर करने वालों को काफी सहूलियत हो जाएंगी। 

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर
रेलवे एक ऐसे ऐप पर काम कर रहा है जो यह पता लगाने में मदद करेगा कि वेटिंग टिकट के कंफर्म होने की कोई संभावना है या नहीं। यह पूर्वानुमान पिछले 13 सालों के यात्री ऑपरेशन और बुकिंग पैटर्न डेटा पर आधारित होगा।

 रेलवे के एक अधिकारी ने कहा कि प्रतीक्षा सूची में होने वाले टिकटों के कंफर्म होने की संभावना का अनुमान लगाने का विचार रेलवे मंत्री पीयूष गोयल का था।

एक वक्त ऐसा भी था कि वेटिंग टिकट भी आसानी से कन्फर्म हो जाती थी, लेकिन आज हकीकत और हालात दोनों बदल चुके हैं। ट्रेन में सफर करना हो तो कन्फर्म टिकट के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं होता। लेकिन कई बार वेटिंग टिकटें कन्फर्म भी हो जाती हैं। मुश्किल वाली बात ये होती है कि हमें ये नहीं मालूम होता कि कितने वेटिंग तक की टिकटें कन्फर्म हो सकती हैं और कितने तक की नहीं। इससे हमें मजबूरन तत्काल में टिकट बुक करने के लिए अतिरिक्त पैसे देने पड़ते हैं। इस समस्या को हल करने के लिए या कहें कि वेटिंग टिकट के बारे में जानकारी देने के लिए रेलवे एक ऐप लॉन्च करने वाला है।

इस ऐप के जरिए आपको मालूम चल सकेगा कि आपकी वेटिंग टिकट के कन्फर्म होने की उम्मीद है या नहीं। इससे रेल में सफर करने वालों को काफी सहूलियत हो जाएंगी। कुछ दिनों पहले ही रेलवे की तरफ से ये जानकारी आई थी कि रेलवे आईआरसीटीसी की वेबसाईट और ऐप्लिकेशन को अपडेट करने जा रहा है। इसके बाद यात्री आसानी से ऑनलाइन टिकट बुक करवा पाएंगे साथ ही यात्रियों को टिकट कन्फर्म होने की तारीख भी पता लग सकेगी जिससे वो अपनी यात्रा प्लान कर सकें।

हालांकि तब रेलवे ने आधिकारिक तौर पर यह जानकारी नहीं दी थी। लेकिन अब रेलवे के एक अधिकारी ने रविवार को इस बात की जानकारी दी। रेल मंत्रालय के प्रवक्ता अनिल सक्सेना ने बताया, 'रेलवे एक ऐसे ऐप पर काम कर रहा है जो यह पता लगाने में मदद करेगा कि वेटिंग टिकट के कंफर्म होने की कोई संभावना है या नहीं।' उन्होंने कहा कि यह पूवार्नुमान पिछले 13 सालों के यात्री ऑपरेशन और बुकिंग पैटर्न डेटा पर आधारित होगा।

सक्सेना ने आगे कहा कि सीआरआईएस (रेलवे सूचना प्रणाली केंद्र) रेलवे के लिए मिश्रित एप्लीकेशन विकसित कर रहा है जहां एक उपयोगकर्ता को रेलवे की वेबसाइट और ऐप पर टिकट बुक करते वक्त वेटिंग टिकट की पुष्टि होने की संभावना के बारे में सूचित किया जाएगा। रेलवे के मुताबिक, सभी श्रेणियों के आरक्षित 10.5 लाख बर्थ के लिए हर दिन लगभग 13 लाख टिकट बुक किए जाते हैं। रेलवे के एक अधिकारी ने कहा कि प्रतीक्षा सूची में होने वाले टिकटों के कंफर्म होने की संभावना का अनुमान लगाने का विचार रेलवे मंत्री पीयूष गोयल का था।

यह भी पढ़ें: ज्यादा टिकट बुक करनी हैं तो IRCTC खाते को करें आधार से वेरिफाई

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...