राष्ट्रपति पद के लिए पार्टी का उम्मीदवार नामांकित किये जाने पर हिलेरी ने कहा, ‘यह पल हर उस छोटी लड़की के लिए है, जो बड़े सपने देखती है'

अमेरिका के राष्ट्रपति पद के चुनाव में पहली महिला उम्मीदवार बनीं हिलेरी, कहा टूटी है रवायत

0

अमेरिका के राष्ट्रपति पद के चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवारी जीतकर हिलेरी क्लिंटन ने इतिहास रच दिया है। वे अमेरिका की किसी प्रमुख पार्टी की राष्ट्रपति पद के लिए पहली महिला उम्मीदवार बन गई हैं। अब रिपब्लिक पार्टी के उम्मीदवार और प्रतिद्वंदी डोनाल्ड ट्रंप के साथ उनकी चुनावी टक्कर तय है।

विदेश मंत्री, प्रथम महिला एवं न्यूयॉर्क से सीनेटर रह चुकीं हिलेरी ने यहां डेमोक्रेटिक नेशनल कन्वेंशन में पार्टी के कुल 4,764 डेलीगेट्स का बहुमत हासिल कर उम्मीदवारी जीती। यदि हिलेरी को आठ नवंबर को होने वाले चुनाव में चुन लिया जाता है तो वह अमेरिका की पहली महिला राष्ट्रपति एवं पहली महिला कमांडर इन चीफ बनेंगी।

डेमोक्रेटिक कन्वेंशन की दूसरी रात का रोमांचक अंत करते हुए हिलेरी ने न्यूयॉर्क से वीडियो के ज़रिए कहा, ‘‘आपने मुझे अतुलनीय सम्मान दिया है और मुझे भरोसा नहीं हो रहा कि हमने रवायतों को तोड़कर इतनी बड़ी सफलता हासिल की है।’’ एक इनडोर स्टेडियम में हिलेरी ने अपने हजारों समर्थकों से कहा, ‘‘इसे संभव बनाने के लिए आपने इतनी मेहनत की है। आपका धन्यवाद।’’

उनके कई समर्थक भावुक हो गए थे। हेलरी ने कहा, ‘‘यह वास्तव में आपकी जीत है। यह वास्तव में आपकी रात है और यदि यह होता देखने के लिए छोटी लड़कियाँ अभी तक जगी हुई हैं, तो उनसे मैं यह कहना चाहती हूं कि मैं पहली महिला राष्ट्रपति बन सकती हूं, लेकिन अगली राष्ट्रपति आपमें से कोई होगी।’’

प्राइमरी चुनावों में हिलेरी के प्रतिद्वंद्वी बर्नी सैंडर्स ने अपने गृह राज्य वरमोंट की बारी आने पर हिलेरी के नामांकन का प्रस्ताव पेश किया और इस तरह उन्होंने गहरे मतभेदों से जूझ रही पार्टी के लिए एकता का अहम संदेश दिया।

सैंडर्स ने राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए पार्टी उम्मीदवार के तौर पर हिलेरी के सर्वसम्मत नामांकन का रास्ता साफ किया। हिलेरी के प्रतिद्वंद्वी बर्नी सैंडर्स ने कहा, ‘‘मैं प्रस्ताव रखता हूं कि हिलेरी क्लिंटन को अमेरिका के राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी का उम्मीदवार नामांकित किया जाए।’’ 

कुछ ही क्षणों बाद, डेमोक्रेटिक डेलीगेट्स ने हिलेरी को पार्टी उम्मीदवार के तौर पर नामित किया जो अब रिपब्लिकन उम्मीदवार 70 वर्षीय डोनाल्ड ट्रंप को टक्कर देंगी।

हिलेरी ने ट्वीट कर कहा, ‘‘यह पल हर उस छोटी लड़की के लिए है, जो बड़े सपने देखती है। हम एकजुट होकर और मजबूत होंगे।’’ राष्ट्रपति पद की हिलेरी की दावेदारी को और मजबूत करते हुए अमेरिका के करिश्माई व्यक्तित्व वाले पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ने ‘‘उस लड़की’’ के साथ अपनी व्यक्तिगत कहानी साझा की जिससे वे 1971 में मिले थे। उन्होंने कहा कि इस शीर्ष जिम्मेदारी के लिए वह ‘‘विलक्षण ढंग से सक्षम हैं’’ और अब तक की ‘‘सर्वश्रेष्ठ बदलाव वाहक’’ हैं।

कन्वेंशन में बिल ने अपने संबोधन में कहा, ‘‘हिलेरी हमें एकजुट कर मजबूत करेंगी। आप जानते हैं क्योंकि उन्होंने जीवनभर यही किया है।’’ 69 वर्षीय पूर्व राष्ट्रपति बिल ने कहा, ‘‘मेरे खयाल से जितने भी बदलाव वाहकों को मैं जानता हूं, उनमें वे सर्वश्रेष्ठ हैं। उन्होंने अपने देशवासियों से हिलेरी को अमेरिका का अगला राष्ट्रपति चुनने की अपील की।’’ बिल ने हिलेरी के गुणों का बखान करने के लिए अपनी निजी कहानी सुनाते हुए बताया कि अपनी पत्नी से उनकी मुलाकात किस तरह हुई थी।

बिल ने अपने डेमोक्रेटिक समर्थकों को बताया, ‘‘1971 के वसंत में मैं एक लड़की से मिला।’’ अगले 42 मिनट तक वे हिलेरी के साथ की अपनी अनसुनी कहानियां सुनाते रहे। और इस तरह वे अपनी पत्नी की यह तस्वीर गढ़ने की कोशिश करते रहे, जो बेहद योग्य है और अगले चार साल तक देश का नेतृत्व करने में सक्षम है।

सीनेट में चयनित हुई पहली डेमोक्रेटिक महिला एवं शक्तिशाली सीनेट कमेटी ऑन एप्रोप्रिएशंस की पहली महिला अध्यक्ष बारबरा ए मिकुलस्की ने हिलेरी के नामांकन का प्रस्ताव रखा। उन्होंने कहा, ‘‘मैं पहली महिला राष्ट्रपति बनने के लिए हिलेरी क्लिंटन को पार्टी उम्मीदवार नामित करने के लिए आज पूरे दिल से यहां मौजूद हूं।’’ बारबरा ने कहा, ‘‘आप में से कई ने अवरोधक तोड़े हैं। आप कॉलेज जाने वाले पहले थे। आप कारोबार शुरू करने वाले पहले थे। आप शायद नागरिक बनने वाले पहले थे लेकिन आप जानते हैं कि आपने जब कोई अवरोधक तोड़ा तो आपने यह अपने लिए नहीं किया। आपने यह इसलिए किया ताकि बाकी लोगों को उनका सामना दोबारा नहीं करना पड़े। हिलेरी यही करना चाहती हैं। वह अवसर तक पहुंचने में आने वाले सभी अवरोधक तोड़ना चाहती हैं।’’ नागरिक अधिकार नेता एवं कांग्रेस के सदस्य जॉन लेविस ने उम्मीदवारी के लिए हिलेरी के नाम का समर्थन किया।

लेविस ने कहा, ‘‘हमारी पार्टी ने आठ साल पहले ऐसे उम्मीदवार को नामित किया और चुना था जो व्हाइट हाउस में सेवाएं देने वाला पहला अश्वेत बना और उसने एक नहीं बल्कि दो कार्यकालों तक सेवाएं दीं। हम आज रात एक बार फिर अवरोधक तोड़ेंगे। हम आने वाले कल की पार्टी हैं और अमेरिका में सच्चे लोकतंत्र का निर्माण करेंगे।’’ उन्होंने हिलेरी की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्होंने लोकसेवा और अमेरिका को बेहतर बनाने के लिए अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया।

लेविस ने कहा, ‘‘मैं हिलेरी क्लिंटन को कई वर्षों से जानता हूं। वह राष्ट्रपति पद के चुनाव में अब तक खड़े होने वाले सर्वाधिक योग्य उम्मीदवारों में से एक हैं। वह नेतृत्व करने की क्षमता रखती हैं और हमें विभाजित करने वाले अवरोधक तोड़ने के लिए हवा के रख के खिलाफ चल रही हैं। वह समझदार हैं। वह अपने जीवन में कुछ भी कर सकती थीं लेकिन उन्होंने बहुत पहले ही यह निर्णय ले लिया था कि वह केवल ठीक-ठाक काम नहीं करना चाहतीं, बल्कि वह कुछ अच्छा करना चाहती हैं।’’ हिलेरी उम्मीदवारी स्वीकार करते हुए कल अपना भाषण देंगी। उन्होंने पिछले सप्ताह वर्जीनिया के सीनेटर टिम केन को उपराष्ट्रपति पद के लिए अपना उम्मीदवार चुना था।

हिलेरी ने प्रथम महिला के तौर पर स्वास्थ्य देखभाल एवं महिलाओं के अधिकारों के लिए कई अहम पहल की थीं।

स्वच्छ उर्जा का समर्थन करने वाली हिलेरी क्लिंटन को भारत-अमेरिकी संबंधों की एक मजबूत समर्थक के तौर पर जाना जाता है।

न्यूयार्क की सीनेटर के तौर पर सीनेट इंडिया कॉकस की शुरूआत करने में उन्होंने अहम भूमिका निभाई थी और वह इसकी संस्थापक सह अध्यक्ष थीं। यह किसी देश विशेष का एकमात्र सीनेट कॉकस है।

हिलेरी की चुनाव प्रचार मुहिम में भी अहम पदों पर कई भारतीय अमेरिकी हैं जिनमें हुमा आबदीन, नीरा टंडन, शेफाली राजदान दुग्गल और अदिति हार्दिकर शामिल हैं।- पीटीआई