अलीबाबा के फाउंडर जैक मा की जगह लेगा यह शख्स, संभालेगा कंपनी की बागडोर

0

 वर्तमान समय में अलीबाबा के सीईओ पद पर कार्यभार देखने वाले डेनियल झांक को जैक मा ने अपनी जिम्मेदारी सौंपने की घोषणा कर दी है और अगले साल ही वे इस पद पर कार्यभार संभाल लेंगे।

जैक मा
जैक मा
शेयर बाजार के हिसाब से जैक मा की कंपनी की हैसियत करीब 421 अरब डालर (लगभग 30,312 अरब रुपए) की है। कंपनी की हैसियत के साथ उनकी भी हैसियत बढती गयी और वह दुनिया के सबसे अमीर लोगों में गिने जाते हैं। 

चीन में स्टार्टअप के क्षेत्र में क्रांति लाने वाले दुनिया के सबसे धनवान लोगों में से एक अलीबाबा के संस्थापक जैक मा ने अपने उत्तराधिकारी की घोषणा कर दी है। वर्तमान समय में अलीबाबा के सीईओ पद पर कार्यभार देखने वाले डेनियल झांक को जैक मा ने अपनी जिम्मेदारी सौंपने की घोषणा कर दी है और अगले साल ही वे इस पद पर कार्यभार संभाल लेंगे। अलीबाबा ने एक स्टेटमेंट जारी कर कहा कि जैक मा अगले 12 महीनों तक कंपनी के एग्जिक्युटिव चैयरमैन बने रहेंगे। हांगझू स्थित कंपनी की 10 सितंबर 2019 को 20वीं वर्षगांठ है।

चीन के हांगझोऊ सिटी में एक गरीब परिवार में जन्मे जैक मा पहले अध्यापक थे। वे स्कूल में बच्चों को इंग्लिश पढ़ाते थे। 1990 के दशक में इंटरनेट क्रांति से परिचय होने पर उन्होंने नौकरी छोड़ दी थी और फिर अपना बिजनेस शुरू कर दिया। जैक मा ने अपने दोस्तों को राजी कर उनसे 60,000 डॉलर की राशि जुटाई और ऑनलाइन मार्केट प्लेस अलीबाबा की शुरुआत की। वह 2013 में कंपनी के सीईओ बनाए गए।

शेयर बाजार के हिसाब से जैक मा की कंपनी की हैसियत करीब 421 अरब डालर (लगभग 30,312 अरब रुपए) की है। कंपनी की हैसियत के साथ उनकी भी हैसियत बढती गयी और वह दुनिया के सबसे अमीर लोगों में गिने जाते हैं। अब उन्होंने युवाओं को मौका देने के लिए अपना पद छोड़ने का फैसला कर लिया है। अलीबाबा के प्रवक्ता ने कहा कि मा कंपनी के एग्जिक्युटिव चेयरमैन बने रहेंगे और आने वाले समय में बदलाव के लिए प्लान को जाहिर करेंगे। अखबार ने यह भी लिखा कि उत्तराधिकार रणनीति युवा अधिकारियों की पीढ़ी को आगे बढ़ाने के प्लान का हिस्सा है।

जैक मा ने कंपनी के शेयरधारकों और कर्मचारियों को लिखे पत्र में कहा, 'अगले 12 महीनों तक कंपनी का एग्जिक्युटिव चेयरमैन बने रहने के दौरान मैं डेनियल झांग के साथ मिलकर काम करूंगा ताकि वह सुचारू ढंग से बागड़ोर पूरी तरह से संभाल सकें।' अलीबाबा की सह स्थापना जैक मा ने 1999 में की थी। फिलहाल, अलीबाबा दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है। रिटायरमेंट के बाद जैक मा शिक्षण की ओर लौटना चाहते हैं। वह कहते हैं, 'मैं अब शिक्षण की ओर लौटना चाहता हूं, जो मुझे बेहद पसंद है। यह दुनिया बहुत बड़ी है और मैं अभी भी युवा हूं इसलिए मैं अब नई चीजें करना चाहता हूं।' बयान के मुताबिक, वित्त वर्ष 2017-18 में कंपनी की आमदनी 39.9 अरब डॉलर थी।

यह भी पढ़ें: बच्चों ने बंद किया स्कूल जाना तो टीचर ने बच्चों के घर पर शुरू की क्लास

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...

Related Stories

Stories by yourstory हिन्दी