भारतीयों का बढ़ा दबदबा, IIT मुंबई से पढ़े पराग अग्रवाल बने ट्विटर के सीटीओ

2

 माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने आईआईटी मुंबई से पढ़े पराग अग्रवाल को अपना चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर नियुक्त किया है। वे एडम मेसिंजर की जगह लेंगे, जिन्होंने 2016 में कंपनी को अलविदा कह दिया था।

पराग अग्रवाल
पराग अग्रवाल
पराग अग्रवाल IIT मुंबई के साथ ही स्टैनफोर्ड से पढ़े हुए हैं। उन्होंने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से अपनी पीएचडी पूरी की थी। उन्होंने 2011 में ट्विटर में अपनी नई पारी की शुरुआत की थी। 

भारत की प्रतिभाएं दुनियाभर में अपनी काबिलियत के दम पर देश का नाम ऊंचा कर रही हैं। गूगल, माइक्रोसॉफ्ट जैसी बड़ी कंपनिओं के बाद अब इस फेहरिश्त में ट्विटर का नाम भी जुड़ गया जहां एक भारतीय को अहम जिम्मेदारी दी गई है। माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने आईआईटी मुंबई से पढ़े पराग अग्रवाल को अपना चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर नियुक्त किया है। वे एडम मेसिंजर की जगह लेंगे, जिन्होंने 2016 में कंपनी को अलविदा कह दिया था।

पराग अग्रवाल IIT मुंबई के साथ ही स्टैनफॉर्ड से पढ़े हुए हैं। उन्होंने स्टैनफॉर्ड यूनिवर्सिटी से अपनी पीएचडी पूरी की थी। उन्होंने 2011 में ट्विटर में अपनी नई पारी की शुरुआत की थी। उन्हें यहां ऐड इंजीनियर के पद पर रखा गया था। अभी तक वे सॉफ्टवेयर इंजीनियर के तौर पर काम कर रहे थे। ट्विटर में आने से पहले उन्होंने AT&T, माइक्रोसॉफ्ट और याहू जैसी कंपनियों के लिए काम किया था। वे यहां रिसर्च इंटर्नशिप कर रहे थे। वे ट्विटर में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से जुड़ी तकनीकों पर काम कर यूजर इंटरफेस को बेहतर बनाने में योगदान देते रहे हैं।

पढ़ें: भारत-तिब्बत सीमा पर देश की रक्षा करने वाली पहली महिला ऑफिसर होंगी बिहार की प्रकृति

ट्विटर के गलत इस्तेमाल को रोकने की दिशा में भी उन्होंने काफी काम किया है। सीएनबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक ट्विटर के प्रवक्ता ने बताया, 'सीटीओ के पद पर काम करते हुए पराग आर्टीफिशियल इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग की दिशा में काम करेंगे और हमारे ग्राहकों के अनुभव को और बेहतर बनाएंगे।' बयान में यह भी कहा गया है कि वे रेवेन्यू प्रॉडक्ट और इंफ्रास्ट्रक्चर्स टीम पर भी काम करेंगे। ट्विटर एक बार फिर से ब्लू टिक को खोलने की योजना बना रहा है। इसे पिछले कुछ दिनों से बंद कर दिया गया था।

ट्विटर ने बीते सप्ताह घोषणा की थी कि वह कलेक्टिव हेल्थ और जन संवाद को बेहतर बनाने के लिए सोशल साइंस निदेशक की नियुक्ति की जाएगी। काफी दिनों से सीटीओ का पद खाली था। हालांकि ऐसा पहली बार नहीं हुआ। ट्विटर के पहले सीटीओ ग्रेग पास ने 2008 में इस पद का कार्यभार संभाला था, लेकिन 2011 में उन्होंने अलविदा कह दिया। उसके बाद ओरेकल कंपनी में काम करने वाले मेसिंजर को ट्विटर में लाया गया था, लेकिन उन्होंने 2013 में सीटीओ पद की जिम्मेदारी संभाली थी। उसके बीच इस पद पर कोई नहीं था। यह नियुक्ति उस समय हुई है जब ट्विटर कई सारी योजनाओं को साकार करने की दिशा में काम कर रहा है।

यह भी पढ़ें: 20 साल पहले किसान के इस बेटे शुरू की थी हेल्थ केयर कंपनी, आज हैं अरबपति

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...

Related Stories

Stories by yourstory हिन्दी