बीजिंग में लगेगा सबसे बड़ा वायु शोधक

यह वायु शोधक लड़ेगा धुंए की धुंध से।

0

चीन धुंए की धुंध से घिरी अपनी राजधानी की हवा को साफ करने के लिए दुनिया का सबसे बड़ा बाहरी वायु शोधक लगाने वाला है। इस वायु शोधक को डच इंजीनियर ने डिजाइन किया है।

शहर पर मंडराने वाली इस प्रदूषित धुंध के कारण लोगों को घरों के भीतर रहने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है।

डच डिजाइनर डान रूसेगार्डे द्वारा डिजाइन किए गए सात मीटर उंचे इस टावर का बीजिंग के 751 डी पार्क आर्ट क्षेत्र में अंतिम चरण का परीक्षण किया जा रहा है।

बीजिंग की हवाओं में धुंध
बीजिंग की हवाओं में धुंध

सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने चीन के पर्यावरण संरक्षण मंत्रालय के तहत आने वाले एनजीओ चाइना फोरम ऑफ एनवायरमेंटल जर्नलिस्ट्स के हवाले से कहा कि स्मॉग फ्री टावर को जल्दी ही सार्वजनिक कर दिया जाएगा और इसे देशभर में ले जाया जाएगा।

यह टावर अपने आसपास मौजूद सूक्ष्म कणों पीएम 2.5 और पीएम 10 की लगभग 75 प्रतिशत मात्रा को अवशोषित करके शुद्ध हवा छोड़ सकता है। 

इससे इसके आसपास ताजा हवा फैल जाती है। यह टावर अपनी पेटेंट वाली ओजोन मुक्त आयन प्रौद्योगिकी की मदद से एक घंटे में 30 हजार घन मीटर हवा को साफ कर सकता है।

अक्तूबर की शुरूआत से ही बीजिंग धुंए वाली भारी धुंध से घिरा है। शहर के पर्यावरण अधिकारियों ने मंगलवार को वायु प्रदूषण को लेकर पीला अलर्ट जारी किया था।

भारत में भी प्रदूषण यदि इसी गति से बढ़ता रहा, तो बहुत जल्दी वायु शोधक की ज़रूरत यहां भी पड़ सकती है। 

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...